गले में लिम्‍फ नोड्स कैंसर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 24, 2013

दुनिया की सबसे डरावनी बीमारी का नाम है कैंसर। जब डॉक्‍टर किसी व्‍यक्ति को कैंसर होने की पुष्टि करता है तो मरीज के साथ ही उसके परिवार वाले भी चिंतिंत रहने लगते हैं। किसी को कैंसर होने के कई कारण होते हैं। अब कैंसर से बचाव के लिए बाजार में कई दवाएं आ रही हैं। यह एक ऐसी बीमारी है जिसके कारण अभी तक दुनिया में सबसे ज्‍यादा मृत्‍यु दर हैं। अभी भी इसका कोई सटीक उपचार नहीं आ सका है।

गले में लिम्‍फ कैंसरकैंसर के उपचार का सबसे बेहतर तरीका यही है कि इसका पता लगने के तुरंत बाद जल्‍दी से जल्‍दी बचाव के लिए उपचार शुरू कर देना चाहिए। शुरूआती चरण में ही कैंसर का उपचार इसका प्रभावी बचाव है। यदि यह बीमारी ज्‍यादा बढ़ जाती है तो इसका उपचार संभव नहीं होता। कैंसर के विभिन्‍न प्रकार में से लिम्‍फ कैंसर इसका एक प्रकार है। दुनिया में हजारों लोग इससे पीडि़त हैं।

क्‍या है लिम्‍फोमा
मानव शरीर के इम्‍यून सिस्‍टम की कोशिकाओं को लिम्‍फोकेट्स और जो कोशिकाएं कैंसर से ग्रसित होती हैं उन्‍हें लिम्‍फोमा या लिम्‍फ कैंसर कहते हैं। शरीर में 35 अलग-अलग तरह के लिम्‍फोकेट्स होती हैं और इनमें से कई बार कुछ कोशिकाएं लिम्‍फोमा से ग्रसित हो जाती हैं। कैंसर इन कोशिकाओं को प्रभावित करता है और शरीर की अन्‍य बीमारियों के लिए प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। ब्‍लड कैंसर का सबसे ज्‍यादा होने वाला प्रकार लिम्‍फोमा है। यह पश्चिमी देशों में युवाओं के साथ ही बच्‍चों को भी अपनी गिरफ्त में ले रहा है।

गले में लिम्‍फ कैंसर
शरीर का इम्‍यून सिस्‍टम कई लिम्‍फ ग्रंथियों या नोड्स से मिलकर बना है। ये नोड्स कैंसर कोशिकाओं को जन्‍म देते हैं, इसके फलस्‍वरूप कैंसर गले के दूसरे भागों में भी फैलता है। नोड्स शरीर के अधकितर भाग में पाएं जाते हैं, लेकिन गले में लिम्‍फ कैंसर होने पर इन्‍हें गोलाकार आकृति के रूप में देखा और महसूस किया जा सकता हैं। जब किसी व्‍यक्ति के गले में कैंसर होने के कारण लिम्‍फ नोड्स बढ़ते हैं तो इनसे गले का आकार बढ़ जाता है। गले का बढ़ा हुआ अलग से ही दिखाई देता हैं। गले के इस बढ़े हुए आकार में शुरू में किसी प्रकार का दर्द नहीं होता। कई बार गले के बढ़े हुए आकार का आसानी से पता भी नहीं चलता। यदि गले का यह बढ़ा हुआ आकार 3-4 हफ्तों से ज्‍यादा बना रहे तो चिंता का विषय हो सकता है, ऐसे में आपको तुरंत डॉक्‍टरी सलाह लेनी चाहिए।

गले के लिम्‍फ नोड्स कैंसर के लक्षण
यदि किसी व्‍यक्ति के गले में लिम्‍फ नोड्स कैंसर की शुरूआत हो रही हैं तो यह भी हो सकता है कि यह ब्‍लड के जरिए शरीर के अन्‍य भागों में भी फैल रहा हो। शुरूआत में इसका असर गले पर दिखाई देता है। शरीर के अन्‍य भागों पर जब यह फैलता है तो सबसे पहले गले के आसपास के अंगों पर इसका असर होता हैं। आगे हम बात करते हैं गले के लिम्‍फ नोड्स कैंसर के लक्षणों के बारे में। यदि आपके शरीर में इनमें से कोई लक्षण दिखाई दें तो तुरंत चिकित्‍सक से परामार्श करें।

  • गले पर सूजन आना और एक साइड में उभरी हुई गोलाकार आकृति का बन जाना।
  • रोगी के जबड़े के ऊपरी हिस्‍से में दर्द रहना।
  • गले में लगातार खराश बने रहना या कान के एक साइड में दर्द होना।
  • अक्‍सर मुंह या होठों का सुन्‍न हो जाना।
  • नाक या नकसीर का ब्‍लॉक होना।
  • किसी आवाज को सुनने में परेशानी होना या कान में सनसनाहट होना।
  • किसी चीज को चबाने और निगलने में परेशानी होना।
  • फोड़े के होने पर कई हफ्तों तक ठीक न होना।


लिम्‍फ नोड्स कैंसर का उपचार
अभी कैंसर का तीन तरह से उपचार होता है। पहला सर्जरी के द्वारा, दूसरा रेडियोथेरेपी और तीसरा कीमोथेरेपी द्वारा। गले में लिम्‍फ नोड्स कैंसर के उपचार के लिए कुछ स्‍पेशलिस्‍ट हॉस्टिपल है जो इसका उपचार करते हैं। इस तरह की किसी परेशानी का पता लगने पर स्‍पेशलिस्‍ट हॉस्टिपल से ही उपचार कराएं। कैंसर के ट्रीटमेंट का मकसद रोग को जड़ से खत्‍म करना होता है, जिससे कि इस तरह की परेशानी भविष्‍य में फिर से न हो। लेकिन यह तभी संभव है जब इसका शुरूआत से ही उपचार शुरू कर दिया जाएं।

कैंसर का उपचार करने वाले अस्‍पतालों में डॉक्‍टरों की एक टीम होती है जो यह तय करती है कि रोगी को किस तरह के ट्रीटमेंट से फायदा मिलेगा। डॉक्‍टर्स रोगी की उम्र, मेडिकल हिस्‍ट्री, कैंसर के प्रकार और यह किस चरण में हैं इन सब बातों को ध्‍यान में रखकर निर्णय लेते हैं। कुछ मामलों में  रोग के उपचार के लिए दो या इससे अधिक उपचार के तरीकों को मिलाकर भी कैंसर को ठीक करने की कोशिश की जाती है।

 

Loading...
Is it Helpful Article?YES15 Votes 8776 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK