Fat to Fit : बैंक की नौकरी छोड़कर फिटनेस की दुनिया में लोगों के लिए इंस्पेरेशन बन रही हैं मिसेज निशा खजुरिया

बच्चों और परिवार को देखते हुए मिसेज निशा खजुरिया ने फिटनेस की दुनिया में कदम रखा और बाकी लोगों के लिए एक इंस्पेरेशन बन रही हैं। 

Naina Chauhan
Written by: Naina ChauhanPublished at: Oct 19, 2020Updated at: Nov 27, 2020
Fat to Fit : बैंक की नौकरी छोड़कर फिटनेस की दुनिया में लोगों के लिए इंस्पेरेशन बन रही हैं मिसेज निशा खजुरिया

एक महिला के लिए शादी के बाद कहीं न कहीं उसकी अपनी जिंदगी खत्म हो जाती है। उसका अपना करियर सैकण्डरी ऑप्शन बन जाता है। शादी, बच्चे और परिवार इसी में रह जाती है एक महिला, लेकिन आज एक ऐसी महिला के बारे में जानते हैं जो बैंक की नौकरी छोडकर,मां होने के साथ-साथ फिटनेस की दुनिया में सभी के लिए इंस्पेरेशन है। मिसेज निशा खजुरिया ने अपने बच्चों और परिवार के लिए अपनी नौकरी छोड़ी और उनकी देखरेख में लग गई। लेकिन इन सब के बीच में उन्हें थायराइड और तनाव जैसी बीमारियों ने खेर लिया। वह हर समय परेशान रहने लगी और उनका वजन प्रतिदिन बढ़ने लगा। क्योंकि उनके पास अपने लिए समय ही नही था कि वह अपने लिए कुछ सोच सकें। आज के समय में  मिसेज निशा खजुरिया एक फिटनेस एक्सपर्ट हैं और लोगों के लिए प्रेरणादायक साबित होती हैं। आइए जानते हैं फिटनेस एक्सपर्ट मिसेज निशा खजुरिया की जर्नी के बार में।

insidefitnessexpert

इसे भी पढ़ें : ढीले स्तनों को शेप में लाने के लिए जरूर करें ये 3 एक्सरसाइज, जल्द मिलेंगे टाइट ब्रेस्ट

साल 2015 में शुरू की फिटनेस जर्नी

अपनी बीमारी और तनाव को देखते हुए साल 2015 में उन्होंने अपने लिए सोचा और एरोबिक क्लास जाना शूरू किया। क्योंकि वह अपने आप को इस बीमारी से निकालना चाहती थी और एक फिट लाइफ जिनी थी। लगातार 6 महीनों तक वह एरोबिक क्लास जाती रही और उन्होने अपना 10 किला ग्राम वजन कम किया। जिसके बाद  उन्हे फिटनेस में लगाव होने लगा और लोग उन्हे देखकर उनके बारे में पूछने लगे। जिससे वह फिटनेस की ओर और ज्यादा इंस्पायर होने लगी। फिटनेस की ओर जाने के लिए उनके पति अमित खजुरिया ने उन्हें पूरा सपोर्ट किया।

गोल्ड जिम यूनिवर्सिटी से फिटनेस सर्टिफिकेशन कोर्स किया

पति और परिवार के सपोर्ट के बाद उन्होंने अपने आपको फिटनेस की दुनिया से जोड़ा, जिससे वह बाकी लोगों की भी मदद कर सकें। फिटनेस की सही और गलत जानकारी पाने के लिए उन्होंने गोल्ड जिम यूनिवर्सिटी से फिटनेस सर्टिफिकेशन कोर्स किया और अपने आपको फिटनेस से जोड़ लिया। हर किसी की जिंदगी में एक ऐसा समय आता है जब घर परिवार की देखरेख में अपने आपको बीमारियों से खेर लेतें हैं और उन्ही बीमारियों के सहारे जिते रहतें है। लेकिन मिसेज निशा खजुरिया ने सही समय पर एक सही डिसीजन लिया और समय रहते अपने आपको थायराइड जैसी बीमारी से निकाल लिया। 

चैलेंज लेना शुरू किया

अगर आप अपनी लाइफ में कुछ करने की ठान लेते हैं तो कोई भी आपको रोक नहीं सकता। ऐसे ही मिसेज निशा खजुरिया ने अपनी सामने आने वाले हर चैलेंज को एक्सेपट करना शुरू किया। और साल 2018 में उन्होंने मिस इंडिया 2018 कंपटीशन में भाग लिया और उस कंपटीशन में वह सिल्वर मेडल के साथ दूसरे नंबर पर रही। इसके बाद उन्होंने अपने आपको और आगे लेकिर जाने के लिए इंस्पायर किया।

इसे भी पढ़ें : फिट रहने के लिए वर्कआउट करना है पसंद तो जिम जाने से पहले बैग में रखें कुछ जरूरी चीज़ें

हमेशा डिसीपलेन में रहें

जब आप बॉडी बिल्डींग की दुनिया में जानते हैं तो सबसे पहली चीज होती है कि अपने आपको डिसीपलेन में रखें। अपने खाने का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। तभी आप अपने आफको आगे लेकर जा सकते हैं और दूसरों के लिए एक इंस्पेरेशन बन सकते हैं। आज के समय में एक यंग जनरेशन नशे की और ज्यादा बढ़ रही है जिसको देखते हुए उनकी फिटनेस कहीं न कही खराब होती जा रही है। एक मां होने के नाते निशा जी का कहना है कि बच्चों की हेल्थ का ध्यान देना जरूरी है अगर आप  शुरू से ही उन्हे किसी स्पोर्टस में डाल देते हैं तो वह अपने खेल पर ध्यान देते हैं न कि नशा  करने पर या किसी भी अनहेल्थी चीज पर। 

 Read More Article Fitness In Hindi
Disclaimer