दिल की बीमारी को दूर रखे लौकी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 23, 2013

dil ki bhimari ko dur rakhe lauki

पौष्टिकता से भरपूर लौकी हमारी सब्जियों में प्रमुखता से शामिल है। इसमें लगभग 96% पानी होता है, रेशे से भरपूर लौकी में विटामिन सी और जिंक भी पाया जाता है। इससे एक से बढ़कर एक लजीज भोजन तो बनते ही हैं, डॉंक्टर इसे कुछ बीमारियों में बेहद फायदेमंद मानते हैं। इनमें एक है दिल की बीमारी।

 

अगर आप दिल से संबंधित किसी रोग से पीड़ित हैं या हमेशा दिल की बीमारियों से बचे रहना चाहते हैं तो लौकी का रस आपकी बहुत मदद कर सकता है। रोजाना एक गिलास लौकी का जूस पीने से धमनियों में आई रुकावट दूर हो जाती है। दिल को शक्ति मिलती है और उसके काम करने की स्पीड बढ़ती है।

 

हृदय रोग में, विशेषकर भोजन के पश्चात एक कप लौकी के रस में थोडी सी काली मिर्च और पुदीना डालकर पीने से हृदय रोग कुछ ही दिनों में ठीक हो जाता है।

 

डॉंक्टरों के अनुसार दिल की बीमारी वाले मरीजों के लिए लौकी खासी फायदेमंद है। लौकी को उबालकर कम मिर्च-मसाले के साथ खाएं। लौकी का जूस आपको ब्लड प्रेशर और यूरिन फॉरमेशन जैसी बीमारियों से राहत दिलाता है। इसके अलावा लौकी का लच्छा निकाल कर उसकी खीर खाने से सूखा रोग ठीक हो जाता है। तो क्यों न इस लौकी को अपने भोजन में प्रमुखता से शामिल किया जाए।

 

लौकी श्‍लेषमा रहित आहार है। इसमें खनिज लवण अच्‍छी मात्रा में मिलती है। लौकी के बीज का तेल कोलेस्‍ट्रॉल को कम करता है तथा हृदय को शक्‍ति देता है। यह रक्‍त की नाडि़यों को भी स्‍वस्‍थ बनाता है। लौकी का उपयोग आंतों की कमजोरी, कब्‍ज, पीलिया, उच्‍च रक्‍तचाप, हृदय रोग, मधुमेह, शरीर में जलन या मानसिक उत्‍तेजना आदि में बहुत उपयोगी है।



 

Read More Articles on Health News in hindi.

Loading...
Is it Helpful Article?YES7 Votes 3640 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK