दिल के मरीजों के लिए लाभदायक टीएएच

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 15, 2012

dil ke mareezo ke liye labhdayak hai tahसिन कार्डियाज टेंपरेरी आर्टिफिशियल हार्ट (टीएएच) दिल के मरीजों के लिए बेहद कारगर डिवाइस है। यह डिवाइस दोनों वेंट्रिकल को दबल देता है। इसका पोर्टबल ड्राइवर, मरीज को पंप से बिना बंधे इधर-उधर चलने फिरने की इजाजत देता है। इसके लिए दाएं और बाएं वेंट्रिकल (पंपिंग चैंबर) और सभी चार वॉल्व को हटाने और उनकी जगह मैकेनिकल चैंबर लगाने की जरूरत होती है। 


यह डिवाइस एक मिनट में 140 बार धड़कती है। यानी इसके इस्‍तेमाल से रक्‍तचाप सामान्‍य बना रहता है। साथ ही शरीर के दूसरे अंगों को भी खून की कमी से उबरने का मौका मिलता है। जब तक हृदय प्रत्‍यारोपण के लिए दूसरा दिल नहीं मिल जाए तब तक टीएएच लगाने वाला व्यक्ति सेहतमंद बना रहता है। यही नहीं, हार्ट सर्जरी में भी इसके जरिए आसानी होती है।

किसे चाहिए टीएएच -
टीएएच को तभी प्रयोग किया जाता है, जब दवा और दिल की पंपिंग पावर बढ़ाने वाली लेफ्ट वेंट्रिकुलर असिस्टिंग डिवाइस (एलवीएडी) प्रत्यारोपित किए जाने तक मरीज की जिंदगी बचाने योग्‍य नहीं रहती। इन हालात में दिल के बाएं और दाएं दोनों हिस्सों पर असर पड़ता है। नतीजतन दिल के पंप करने की ताकत व क्षमता पर असर पड़ता है। और मरीज की जान के लिए हमेशा खतरा बना रहता है। 

टीएएच का इस्तेमाल -
जबरदस्त दिल का दौरा पड़ने पर वेंट्रिकल वॉल पर असर पड़ता है, ऐसे में टीएएच बहुत काम आता है।  दाईं तरफ वाला दिल अगर बुरी तरह से फेल हो जाए तो भी इसका इस्‍तेमाल होता है। बाएं वेंट्रिकल के फेल होने पर एलवीएडी सपोर्ट से बच पाना मुश्किल होता है।

रिस्ट्रिक्टिव कार्डियोमायोपैथी, हाइपरट्रॉफिक कार्डियोमायोपैथी, कार्डिएक एमिलॉइडोसिस या अन्य किसी बीमारी में, जिससे दिल के दोनों चैंबर प्रभावित हो जाते हैं।
हृदयाघात के बाद होने वाले सेप्टल रप्चर की हालत में, जिससे दिल में खराबी आ जाती है। टीएएच का इस्तेमाल 2004 से ही ट्रांसप्लांट की जरूरत कम करने के लिए किया जा रहा है। मरीज को डोनर न मिलने तक इसकी सफलता दर 80 फीसदी रही है। 

जानकारों का मानना है कि टीएएच की मदद से कैंसर के शुरुआती चरण के बावजूद मरीज की जान बचाई जा सकती है। कई बार तो यह ऐसी स्थितियों में भी बहुत कारगर साबित होता है, जिनमें पहले कोई उम्मीद नहीं देखी गई थी।


Loading...
Is it Helpful Article?YES7 Votes 18658 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK