बोन कैंसर में आहार

बोन कैंसर में आहार कैसा हो: यदि आपको असमय जोड़ों में दर्द होने लगे तो आपको बोन कैंसर की शिकायत हो सकती है। बोन कैंसर बहुत ही कम उम्र यानी 3-4 साल से 25 साल तक के बच्चों में शुरू हो जाता है।

अनुराधा गोयल
कैंसरWritten by: अनुराधा गोयलPublished at: Feb 28, 2013
बोन कैंसर में आहार

bone cancer me ahaarजोड़ों में बार-बार दिक्कत आना, जोड़ों में असमय दर्द या किसी तरह की तकलीफ आपके लिए खतरनाक हो सकती है। यदि आपको असमय जोड़ों में दर्द होने लगे तो आपको बोन कैंसर की शिकायत हो सकती है।

 

बोन कैंसर बहुत ही कम उम्र यानी 3-4 साल से 25 साल तक के बच्चों में शुरू हो जाता है। बोन कैंसर के कारण आपको हड्डियों से जुड़ी कई और समस्याएं भी हो सकती हैं। ऐसे में आपको अपने खान-पान पर खास ध्यान देना चाहिए। हालांकि बोन कैंसर के इलाज का सबसे बढि़या उपचार सर्जरी करना है लेकिन आप प्राकृतिक आहार लेकर भी बोन कैंसर की समस्‍या को कम सकते हैं और इसको होने से भी रोक सकते हैं। बोन कैंसर के कई कारण है, ऐसे में आपको अच्छी डाइट लेनी चाहिए जिससे बोन कैंसर से जल्द से जल्द निजात पाई जा सकें। आइए जानें बोन कैंसर में आहार कैसा लेना चाहिए।

 

[इसे भी पढ़े- बोन कैंसर की वैकल्पिक चिकित्सा]


  • उम्र, स्वास्थ्य संबंधी अन्य बीमारियां और असंतुलित आहार जैसे बहुत से कारण हैं जिससे बोन कैंसर हो सकता है। लेकिन आप पौष्‍िटक आहार लेकर ना सिर्फ अपनी जीवनशैली में बदलाव कर सकते हैं बल्कि एक हद तक आप बोन कैंसर को भी मात दे सकते हैं।
  • बोन कैंसर के दौरान कुछ खास पोषक तत्वों का सेवन करना बेहद जरूरी है जैसे-कैल्शियम-हड्डियों की मजबूती के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी है। ऐसे में आपको ये सुनिश्चित करना चाहिए कि कैल्शियम की भरपूर मात्रा लेते हैं। बोन कैंसर आमतौर पर कैल्शियम की कमी के कारण होता है। यदि आप कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें तो निश्‍िचत रूप से आप बोन कैसर से होने वाली समस्याओं को रोकने में सक्षम होंगे। हालांकि कैल्शियम को हड्डियां बहुत जल्दी से अवशोषित नहीं कर पाती। ऐसे में आप बाजार में उपलब्ध सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं। यदि आप सप्लीमेंट्स नहीं लेना चाहते तो आपको डेयरी उत्पाद जैसे दूध, दही, पनीर इत्यादि का खूब सेवन करना चाहिए।

 

[इसे भी पढ़े- हड्डियों के कैंसर से कैसे बचें]

  • फास्फोरस- कैल्शियम के साथ-साथ आपको अपनी डायट संतुलित करने के लिए फास्फोरस युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना भी बहुत जरूरी है। इसके साथ ही विटामिन, प्रोटीन से भरपूर मात्रा मे युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
  • यदि आपको बोन कैंसर है तो आपको आहार में मछली, मांस, फलियां, टोड से बनी दही, फल और सब्जियों और साबूत अनाज खाना चाहिए।
  • ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट बोन कैंसर से लड़ने में काफी लाभदायक होते हैं। इतना ही नहीं ये एंटीऑक्सिडेंट कैंसर के टिश्‍यू से लड़ने में विटामिन और विटामिन सी से भी अधिक शक्तिशाली होते हैं। इसीलिए दूध की चाय के बजाय ग्रीन टी पीनी चाहिए।
  • लहसुन कैंसर टिश्‍यूज को कम करने में बहुत लाभकारी है। इसीलिए सब्जी-भाजी बनाते समय लहसुन का उपयोग जरूर करना चाहिए।
  • टमाटर में एंटीऑक्सिडेंट लाइकोपीन होते हैं। टमाटर को बोन कैंसर के दौरान किसी न किसी रूप में खूब खाना चाहिए।
  • ताजे फलों और सब्जियों का जूस इस कैंसर में बहुत लाभकारी है। गाजर के जूस में अजवायन, खीरा-ककड़ी, पालक, गोभी, लहसुन, प्याज, हरी मिर्च, टमाटर, इत्यादि चीजों को मिलाकर लेना बहुत फायदेमंद होता है।
  • यदि आप पौष्‍िटक तत्वों से भरपूर खाना खाएंगे तो बोन कैंसर के टिश्‍यूज को कम करने में आपको बहुत मदद मिलेगी।

 

Read More Articles On- Cancer in hindi

Disclaimer