चलते-चलते जाएगी दिल की बीमारी

एक नए शोध में सामने आया है कि तेज कदमों से टहलना आपको हृदय रोग से बचा सकता है। 

 ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
लेटेस्टWritten by: ओन्लीमाईहैल्थ लेखकPublished at: Oct 10, 2012
चलते-चलते जाएगी दिल की बीमारी

chalte chalte jayegi dil ki beemari

यह तो हम जानते ही हैं कि मधुमेह, हृदयरोग, पीठ और कमर दर्द, मोटापा जैसी अनेक बीमारियां हमें आधुनिक जीवनशैली की देन हैं। और इनसे बचने का रास्‍ता यही है कि हम थोड़ी शारीरिक कसरत की जाए या फिर पैदल चला जाए। कई वैज्ञानिक अनुसंधान इस बात की पुष्टि कर चुके हैं कि पैदल चलना सेहत के लिए बहुत अच्‍छा रहता है। व्यस्त जीवनशैली व अनुचित खानपान के इस दौर में व्यायाम करना बहुत जरूरी है। इससे ना सिर्फ आपका वजन कम होता है बल्कि आप गंभीर बीमारियों से भी बचे रहते हैं।

 

[इसे भी पढ़े: मोटापा कम करने वाले व्यायाम]

 

तनाव,अनिद्रा व जंक फूड के सेवन से हृदय संबंधी रोगों का खतरा बढ़ जाता है। अगर सही समय पर अपने सेहत पर ध्यान नहीं दिया गया तो बाद में इन रोगों पर काबू पाना मुश्किल हो सकता है। ऐसे में जरूरी है कि अपनी दिनचर्या में से थोड़ा समय व्यायाम को भी दें। सुबह शाम का तेज कदमों से टहलना आपके लिए आसान व अच्छा विकल्प है।

 


[इसे भी पढ़े: फास्ट फूड खाने से भी कम हो सकता है वजन]

 

लंदन में हाल ही में हुए शोध में सामने आया है कि तेज गति से टहलने से दिल के दौरे की आशंका 50 फीसदी कम हो जाती है। और यह ज्यादा मुश्किल भी नहीं है आपके लिए। घर से कहीं पास जाने के लिए आप रिक्शे या किसी वाहन का इस्तेमाल करना बंद कर दे और पैदल ही चलें। 10,000 लोगों पर दस साल तक चले अध्ययन के बाद शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष निकाला।

 

[इसे भी पढ़े: यूं रखें दिल की सेहत का ख़याल]

 

उन्होंने बताया कि तेज गति से टहलने या जॉगिंग करने से हृदय संबंधी बीमारियों व स्ट्रोक का खतरा काफी कम हो जाता है। साथ ही एक्सरसाइज करने से व्यक्ति में टाबोलिक सिंड्रोम कई तरह के हृदय संबंधी रोगों के लिए जिम्मेदार है। पैदल चलने के और भी कई गुण सामने आ चुके हैं, जैसे पैदल चलने से स्‍मरण शक्ति पर सकारात्‍मक असर पड़ता है। शोधों में साबित हुआ है कि सप्‍ताह में आठ किलोमीटर या उससे अधिक पैदल चलने से मस्तिष्क की कोशिकाओं का जीवनकाल लंबा होता है और याददाश्त भी लंबे समय तक बनी रहती है।

 

Read More Health News In Hindi.

Disclaimer