ऐसी ड्रेस से करें तौबा, हो सकता है स्किन कैंसर!

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 15, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ऐसे को ना पहनें।
  • टाइट कपड़ों को कहें नो।
  • बॉडी हगिंग ड्रेसेस से रहें सावधान।

बॉडी हगिंग ड्रेसेस या फिटिंग की ड्रेसेस यंगस्टर्स की भले ही पहली पसंद हो, लेकिन सेहत के लिहाज से ऐसी ड्रेसेस बिल्कुल भी सही नहीं हैं। हाल ही में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं जहां टाइट जींस या ड्रेस के कारण व्यक्ति की जान पर बन आई है। क्या है टाइट जींस सिंड्रोम और इससे कैसे बचा जा सकता है। कभी वाइड बॉटम, कभी बूट-कट, कभी स्ट्रेट, कभी कपरी स्टाइल, कभी हाई वेस्ट तो कभी लो वेस्ट जींस फैशन में छाई रहती है। इन दिनों लो वेस्ट में भी स्किनी या टाइट फिटेड जींस काफी ट्रेंड में हैं। लेकिन हम फैशनेबल दिखने की चाह मेें यह जानने की कोशिश नहीं करते कि यह हमारे स्वास्थ्य पर किस तरह से असर डाल रही हैं। स्किनी जींस की शौकीन लड़कियों को पीठ से लेकर एड़ी तक में अलग-अलग तरह की परेशानियां हो सकती हैं।

क्यों है खतरे की घंटी

एक्सपर्ट कहते हैं कि टाइट जींस पहनने से ना सिर्फ थाइज में ब्लड सर्कुलेशन रुकता है बल्कि पैरों के पीछे का हिस्सा भी फूलता है। जिसके चलते इंसान सबसे पहले बेहोश होता है। कई मामले ऐसे भी सामने आ चुके हैं जिसमें पीड़ित की जींस काटकर जान बचानी पड़ी है।

इसे भी पढ़ें : नाई से गर्दन चटकवाना पड़ सकता है भारी, जानें क्‍यों

टाइट जींस सिंड्रोम

लो वेस्ट या टाइट जींस पहनने से पेट के निचले हिस्से के पास से गुजरने वाली एक संवेदनशील नस प्रभावित होती है। इससे घुटनों और थाइज तक जलन हो सकती है और यह उतने एरिया को सुन्न भी कर देती है। इस सिंड्रोम से पैरों में दर्द और पाचन संबंधी शिकायत होने का भी डर रहता है। 

बरतें सावधानी

स्किन टाइट जींस पहनने से थाइज की मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है, जिससे पैर में खून का दौरा रुक जाता है और पैर सुन्न पड़ जाते हैं। अगर आप भी स्किन टाइट जींस पहनती हैं और दिन भर खड़े रहने या बैठे रहने का काम करती हैं तो फिर यह आपके लिए खतरे की घंटी है। इससे पैरों में कमजोरी आ सकती है। ऐसा लगेगा कि आपके पैर कट गए हैं। ऐसा भी नहीं है कि यह परेशानी सिर्फ युवतियों को ही होती हैं। पुरुषों के लिए भी टाइट जींस पहनना सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। इससे अंडकोष तक होने वाला रक्त-संचार रुकने के साथ ही अंडकोष में विकृति भी हो सकती है। जींस पहनने से रक्त-संचार की स्वाभाविक प्रक्रिया बाधित हो जाती है।

अनदेखी न करें

जींस पहनने में कोई बुराई नहीं, लेकिन उन युवतियों को चिंता करने की जरूरत है, जिनकी जींस पीछे की तरफसे ज्यादा टाइट फिटेड होती है। इसके अलावा टाइट बेल्ट पहनने से सेहत खराब होने का खतरा भी बना रहता है। अगर आप टाइट जींस सिंड्रोम की अनदेखी कर लगातार जींस पहन रही हैं तो आपकी थाइज की बाहरी नसें स्थायी रूप से नष्टï हो सकती है। कभी-कभार इसे पहनने से कोई परेशानी नहीं है, लेकिन इसे रोजाना पहनने से यह खतरा कम भी हो सकता है। ध्यान रखें, फैशन वही अच्छा होता है, जो कंफर्ट के साथ सेहत को हानि न पहुंचाए।

ब्लड सर्कुलेशन

बॉडी हॅगिंग कपड़े पहनने से जोड़ों के मूवमेंट में दिक्कत होती है और मसल्स भी सख़्त हो जाती हैं। इनसे ब्लड का नैचरल सर्कुलेशन बाधित होता है। इसके बाद दर्द और सूजन जैसी परेशानियां होती हैं।

बैक पेन

स्किन टाइट कपड़ों से हमारी बैक मसल्स पर भी जोर पड़ता है और ये हमारे हिप जॉइंट्स का फ्री मूवमेंट नहीं होने देते हैं। इससे पीठ और रीढ़ की हड्डी पर भी असर पड़ता है। इससे बैक पेन होना शुरू हो जाता है।

डीप वेन थ्रॉम्बोसिस

लंबे समय तक टाइट जींस पहनने वालों को डीवीटी की समस्या हो सकती है। इससे पैरों की नसों में ब्लड क्लॉट्स बन सकते हैं, साथ ही खून का दौरा भी धीमा हो जाता है। 

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Living In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES2171 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर