6 घंटे से कम सो रहे हैं? तो इस जानलेवा बीमारी के लिए रहें तैयार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 28, 2017
Quick Bites

  • किडनी फेल होने के कारण।
  • नींद भी है किडनी अटैक का कारण।
  • लक्षणों को जानकर रहें सावधान।

बिगड़ते लाइफस्टाइल, तनाव भरा जीवन, दूषित और खराब खानपान का सीधा असर लोगों की जिंदगी पर पड़ रहा है। इन सब चीजों से ना सिर्फ लोगों की प्रोफेशनल लाइफ खराब हो रही है बल्कि इन सब चीजों का सीधा असर पर्सनल लाइफ पर भी पड़ रहा है। बढ़ती टेंशन और काम के प्रेशर के चलते लोगों में नींद की समस्या (sleeping disorder) आम हो गई है। कई लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें रात रातभर नींद नहीं आती है। अगर आप भी उन्हीं में से एक हैं तो संभल जाए। क्योंकि ये समस्या कडनी अटैक का कारण बन सकती है। हाल ही में हुई एक रिसर्च में ये साफ हुआ है कि 6 घंटे या इससे भी कम सोने वाले लोगों को किडनी अटैक का खतरा रहता है। ऐसे मरीजों को फिर डायलिसिस या किडनी ट्रांसप्‍लांटेशन गुजरना पड़ सकता है। इसके लक्षण शुरू में ही दिखने लगते हैं। लेकिन जानकारी के अभाव के चलते व्यक्ति इन्हें इग्नोर कर देते हैं।

शरीर में किडनी का महत्व

हर इंसान के शरीर में दो किडनी होती है। यानि कि किडनी का महत्व मानव शरीर में सबसे ज्यादा होता है। किडनी का स्वस्थ और दुरुस्त रहना जीने के लिए बहुत जरूरी है। क्योंकि ये रक्त में मौजूद पानी और विषैले पदार्थों को अलग करने का काम करती है। इसके अलावा किडनी हमारे शरीर में रक्तचाप नियंत्रण, सोडियम व पोटेशियम की मात्रा में नियंत्रण एवं रक्त की अम्लीयता में नियंत्रण का महत्वपूर्ण कार्य करती है। साइंस का मानना है कि अगर किसी इंसान की एक किडनी खराब यानि कि फेल हो जाती है तो वो एक किडनी के सहारे भी जिंदा रह सकता है। फर्क सिर्फ इतना है कि उसका लाइफस्टाइल एक सामान्य इंसान की तुलना में थोड़ा कठिन और जटिल हो जाता है।

इसे भी पढ़ें : इन 6 बुरी आदतों से आपकी किडनी खराब हो सकती है

किडनी फेल होने के लक्षण

  • किडनी में सूजन आना।
  • पैरों में सूजन रहना।
  • बिना ज्यादा पानी पीने पर भी बार-बार पेशाब का आना।
  • पेशाब का रंग बदलना और दर्द महसूस होना।
  • त्वचा के खुजली और रैशेज का होना।
  • चिड़चिड़ाहट और हर बात पर मन बदलना।
  • भूख का कम हो जाना या ना के बराबर हो जाना।
  • शरीर में कमजोरी और थकान महसूस होना।

अक्सर लोग शरीर में होने वाले इस लक्षणों को नजरअंदाज कर देते हैं। जबकि ये बहुत ही गंभीर लक्षण हैं। शरीर में इनमें से 2 या 3 लक्षण भी महसूस होने पर व्यक्ति को सीधा डॉक्टर के पास जाकर जांच करानी चाहिए। या डॉक्टर की सलाह पर यूरीन टेस्ट करवाना चाहिए। तभी आपको स्पष्ट हो पाएगा कि ये लक्षण किडनी फेल होने के हैं या कोई और बात है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Kidney Failure In Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES3504 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK