बेहतर यौन जीवन के लिए अरोमाथेरपी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 27, 2011

अरोमाथेरपी(गंधचिकित्सा), वैकल्पिक चिकित्सा का एक प्रकार है, जिसमें एक व्यक्ति के दिमाग, मनोवृत्ती, संज्ञानात्मक कार्य और स्वास्थ्य में परिवर्तन लाने के लिए वाष्पशील वनस्पति संयंत्र सामग्री जिसे मूलभूत तेलों के नाम से जाना जाता हैं, का उपयोग करते हैं, और अन्य सुगंधित मिश्रणों का उपयोग भी किया जाता है। अरोमा चिकित्सक का कहना है कि वे प्रभावी ढंग से पुरुषों और महिलाओं दोनों के यौन जीवन में सुधार कर सकते हैं।

अधिकांश आम आवश्यक तेल, जैसे लैवेंडर, पुदीना, युकलिप्टुस को आसवन द्वारा तैयार किया जाता हैं। वनस्पतियों की कच्ची सामग्री जिसमें फूल पत्तियां, लकड़ी, छाल, छीलन और बीज शामिल हैं, को पानी के ऊपर आसवन उपकरण में रखा जाता हैं। पानी को गरम करने पर, तैयार हुई भाप वनस्पति सामग्री के के माध्यम से गुजरती है। यह वनस्पति सामग्री में मौजूद बाष्पशील घटक का बाष्पीकरण करती हैं, जो एक संघनित कुण्डल के माध्यम से उन्हें एक तरल अवस्था में परिवर्तित करके गुजरती हैं। यह संघनन बाष्प एक बर्तन में एकत्र किया जाता है। इस संघनन बाष्प को, हायड्रोसोल, हर्बल आसव, वनस्पति के पानी का सार जैसे विविध रुप से संदर्भित किया जाता है और अधिकतर कॉस्मेटिक और सुगंध उपचार बनाने में प्रयोग किया जाता है।

अरोमा थेरपिस्ट ज्योति शेट्टी कहती हैं, "आपकी त्वचा नियमित तेलों की तुलना में महत्वपूर्ण तेलों को अधिक आसानी से सोखती हैं। जब इन तेलों को सुगंधित मोमबत्तियां और स्नान लवण के साथ संयुक्त किया जाता हैं, तब इन तेलों से आपके यौन जीवन को बढ़ावा मिल सकता हैं।" तो अगली बार जब आपके यौन जीवन के साथ समस्या हो, तो वह कुछ ऐसे आवश्यक तेलों के उपयोग की सिफारिश करेगी, जिससे आपके यौन जीवन में फिरसे बहार आयेगी।

इन आवश्यक तेलों का एक लंबे समय से, क्लियोपेट्रा के समय से हमारे समय तक इस्तेमाल किया गया है। यह आवश्यक तेल, गुलाब की पंखुड़ीयां, नाजुक चमेली और अन्य फूलों से आते हैं, और इसके अलावा मसालों जैसे असामान्य सामग्री से आते हैं,जिससे हमें सचमुच गर्म महसूस होता है।

हमारी कामेच्छा बढ़ाने के लिए, हमे पहले हमारे शरीर का तापमान बढ़ाना पड़ता है। कामोत्तेजक आवश्यक तेल, जैसे कि जो मसाले और विशिष्ठ फूलों से आते हैं, ज्यादातर समृद्ध गंध के साथ गरमाहट वाले होते हैं, इनका वर्णन निचे किया गया हैं:

  • देवदार लकड़ी – इसमें एक लकडी की खुशबू होती है, जो मामूली शारीरिक रोगों को कम कर देती है और श्वसन प्रणाली में सुधार लाती है। इस तेल का उपयोग निषेधात्मक भावनाओं और कामुकता से संबंधीत भय और चिंताओं को दूर करके उच्चस्तरीय यौन अनुभव देने के लिए किया जा सकता है।
  • वैनिला - यह वेनिला सेम संयंत्र से निकाला अर्क हैं। वेनिला एक कामुक कामोत्तेजक है और इसका मस्तिष्क पर एक उल्लासमय प्रभाव पड़ता है और खासकर अगर संभोग से पहले वेनिला मोमबत्ती जला दी जाती है, तो आपके साथी को उत्तेजीत करने के लिए एक सही खुशबू के रूप में काम कर सकती हैं।
  • चमेली – शांत, आराम, और उच्च रोमांटिक भावना निर्माण करने के इसमे कामोत्तेजक गुण हैं। यह आत्मविश्वास को बनाए रखने में मदद करती है और आपको ऊर्जावान रखती है। जब अन्य आवश्यक तेलों के साथ इसको मिश्रित किया जाता हैं, यह एक बेहतर यौन अनुभव देने का नेतृत्व कर सकती हैं।
  • बेरगामोट - यह नींबू और फूलों की सुगंध का एक संयोजन है और इसको अन्य अरोमा उपचार उत्पादों के साथ मिश्रित किया जाता है। यौन क्रिया के लिए यह एक ताज़ा, उत्थान देनेवाला और मोहक सुगंध है। यह चिंता और अवसाद को दूर करता है, जिससे यौन क्रिया को बढ़ावा मिलने में मदद होती है।
  • लैवेंडर और कद्दू मसाला – इसका जब संयोजन में उपयोग किया जाता है, तब शिश्न का रक्त प्रवाह 40 फीसदी बढ़ता हुआ पाया गया हैं, जिससे यौन क्रिया के लिए पुरुष उत्तेजित होता है।
  • पेपरमिंट - पेपरमिंट महिलाओं के लिए एक कामोद्दीपक है। केवल इसके ताजे गंध कि वजह से नही, बल्कि उत्तेजना बढ़ाने के लिए भी कई महिलाओं को इस आवश्यक तेल के साथ मालिश कराना अच्छा लगता हैं। यह उन्हें कई कामोन्माद का आनंद लेने के लिए सक्षम बनाता है।
Loading...
Is it Helpful Article?YES40 Votes 51654 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
I have read the Privacy Policy and the Terms and Conditions. I provide my consent for my data to be processed for the purposes as described and receive communications for service related information.
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK