ऑस्टियोपोरोसिस क्यों होता है? डॉक्टर से जानें कैसे शरीर में होती है इसकी शुरुआत

Osteoporosis in Hindi: ऑस्टियोपोरोसिस की बीमारी क्यों होती है? आसान भाषा में जानें ऑस्टियोपोरोसिस के कारण, लक्षण और इलाज।

Written by: Prins Bahadur Singh Updated at: 2023-03-28 20:09

Osteoporosis in Hindi: शरीर को हेल्दी रखने के लिए हड्डियों को हेल्दी रखना बहुत जरूरी होता है। उम्र बढ़ने के कारण हड्डियों में कमजोरी बहुत आम है, लेकिन इसे अच्छी डाइट और हेल्दी लाइफस्टाइल से ठीक रखा जा सकता है। लेकिन कम उम्र में ही हड्डियों में कमजोरी और बोन डेंसिटी कम होने की समस्या बहुत गंभीर होती है। कई बार लोगों की हड्डियां इतनी कमजोर हो जाती हैं कि हल्की सी चोट के कारण आसानी से इनमें फ्रैक्चर आ जाता है। इस स्थिति को मेडिकल की भाषा में ऑस्टियोपोरोसिस कहते हैं। ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis) हड्डियों से जुड़ी एक गंभीर परेशानी है। लोगों में बीमारियों की समझ बढ़ाने और बीमारियों के प्रति जागरूक करने के लिए ओनलीमायहेल्थ एक स्पेशल सीरीज लेकर आया है जिसका नाम है 'बीमारी को समझें'। आज इस सीरीज में हम आपको बता रहे हैं, ऑस्टियोपोरोसिस क्यों होता है और शरीर में इस गंभीर बीमारी की शुरूआत कैसे होती है?

ऑस्टियोपोरोसिस क्या है?- What is Osteoporosis?

ऑस्टियोपोरोसिस हड्डियों की कमजोरी से जुड़ी एक गंभीर बीमारी है। इस बीमारी में मरीज की हड्डियां इतनी कमजोर हो जाती हैं कि हल्की चोट या दबाव के कारण इनमें फ्रैक्चर हो जाता है। हड्डियों की कमजोरी ज्यादातर मामलों में खानपान में पोषक तत्वों की कमी और खराब जीवनशैली के कारण होती है। बाबू ईश्वर शरण हॉस्पिटल के हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. आर के यादव कहते हैं कि हड्डियों से जुड़ी समस्याएं अब कम उम्र में बहुत ज्यादा देखी जा रही हैं। ऑस्टियोपोरोसिस भी इनमें से एक है। इस समस्या में मरीज के शरीर में बोन डेंसिटी कम हो जाती है। हमारे शरीर में हड्डियां कैल्शियम फॉस्फेट और कोलाजेन नाम के प्रोटीन से मिलकर बनी होती हैं। हड्डियों में इन तत्वों की कमी के कारण बोन डेंसिटी कम होती है और ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ जाता है।

इसे भी पढ़ें: मह‍िलाओं को क्‍यों होता है ऑस्टियोपोरोसिस का ज्यादा खतरा? जानें कारण और बचाव के उपाय

ऑस्टियोपोरोसिस क्यों होता है?- What Causes Osteoporosis in Hindi

खानपान में गड़बड़ी, निष्क्रिय जीवनशैली, शारीरिक स्थिति और बढ़ती उम्र ऑस्टियोपोरोसिस का प्रमुख कारण माना जाता है। ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या कई लोगों में बहुत ज्यादा धूम्रपान करने और शराब आदि का सेवन करने के कारण भी हो सकती है। डॉ आर के यादव कहते हैं कि ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या के लिए जिम्मेदार मुख्य कारण इस तरह से हैं-

  • शारीरिक रूप से इनएक्टिव होना
  • शरीर में कैल्शियम और विटामिन डी की कमी
  • बहुत ज्यादा स्मोकिंग और शराब का सेवन
  • डाइट और लाइफस्टाइल से जुड़े कारण
  • बहुत ज्यादा नमक का सेवन
  • रूमेटाइड अर्थराइटिस
  • वजन कम होना
  • शरीर में प्रोटीन की कमी
  • टीबी की बीमारी के कारण

ऑस्टियोपोरोसिस के लक्षण- Osteoporosis Symptoms in Hindi

ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या में शुरूआती दौर के लक्षण लगभग न के समान होते हैं। शरीर में जैसे यह समस्या बढ़ती है, इसके लक्षण भी गंभीर होने लगते हैं। ऑस्टियोपोरोसिस का सबसे आम लक्षण हड्डियों में मामूली चोट लगने पर फ्रैक्चर होना है। इसके अलावा ऑस्टियोपोरोसिस के कुछ प्रमुख लक्षण इस तरह से हैं-

  • हड्डियों में बार-बार फ्रैक्चर होना
  • कमर और पीठ में दर्द
  • बहुत जल्दी थक जाना
  • चलने-फिरने में परेशानी
  • पोश्चर खराब होना
  • हड्डियों और जोड़ों में दर्द
  • गठिया की समस्या

ऑस्टियोपोरोसिस का इलाज और बचाव- Osteoporosis Prevention and Treatment in Hindi

ऑस्टियोपोरोसिस के इलाज में डॉक्टर मरीज की स्थिति के आधार पर दवाओं के सेवन की सलाह देते हैं। इस समस्या का इलाज डाइट में सुधार और दवाओं के सेवन से भी किया जाता है। गंभीर मामलों में डॉक्टर हॉर्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी का सहारा ले सकते हैं। इसके अलावा गंभीर मामलों में डॉक्टर वर्टेब्रोप्लास्टी और काइफोप्लास्टी जैसी सर्जरी का सहारा लेते हैं।

इसे भी पढ़ें: हड्डी की बीमारी ऑस्टियोपोरोसिस में कभी न करें इन 7 चीजों का सेवन, बढ़ जाएगी समस्या

ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ती उम्र में सबसे ज्यादा रहता है। इस समस्या से बचने के लिए नियमित रूप से व्ययाम और डाइट में कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन डी की पर्याप्त मात्रा रखनी चाहिए। इसके अलावा शरीर का वजन कंट्रोल में रखें। ऑस्टियोपोरोसिस के लक्षण दिखते ही सबसे डॉक्टर से संपर्क करें।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Related News