क्‍या वजन घटाने से घट सकता है जोड़ों का दर्द? जानें जोड़ों के दर्द से राहत पाने के 3 आसान एक्‍सरसाइज

Weight Loss and Joint Pain: क्‍या वजन घटाने से आपको जोड़ों के दर्द में राहत मिल सकती है? आइए यहां जानिए... 

Written by: Sheetal Bisht Updated at: 2020-04-14 13:18

कहते हैं मोटापा अपने साथ कई बीमारियों को साथ लाता है, जिसमें डायबिटीज, दिल की बीमारियां और जोड़ों में दर्द जैसी कई समस्‍याएं शामिल हैं। यही वजह है कि आपको अपना स्‍वस्‍थ वजन बनाए रखना चाहिए। वजन घटाना एक स्वस्थ शरीर और शांतिपूर्ण दिमाग का वादा करता है। एक स्‍वस्‍थ जीवन जीने के लिए आपका आदर्श वजन बनाए रखना जरूरी है। हालांकि आजकल सभी लोग अपने वजन को लेकर काफी चिंतित रहते हैं और लगातार वजन घटाने के प्रयास में रहते हैं। लेकिन वजन कम करना उन लोगों के लिए बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है, जो कई स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से पीड़ित हैं। इन्‍हीं समस्‍याओं में से एक है जोड़ों की समस्‍या या ज्‍वाइंट डिसऑर्डर। क्‍या वजन घटाने से जोड़ों के दर्द में राहत मिल सकती है? आइए यहां जानिए...  

क्‍या वजन घटाने से घटता है जोड़ों का दर्द? 

ऐसा माना जाता है कि वजन घटाने से आपको जोड़ों के दर्द में राहत मिल सकती है क्‍योंकि आपका मोटापा और जोड़ों का दर्द एक-दूसरे से जुड़े हैं। मोटापा बढ़ने से जोड़ों का दर्द बढ़ सकता है और मोटापा कम होने से दर्द भी कम हो सकता है। मेडिकल जर्नल आर्थराइटिस केयर एंड रिसर्च में प्रकाशित एक अध्‍ययन में भी पाया गया है कि अधिक वजन वाले लोगों और मोटे लोग, जो जोड़ों के दर्द और घुटने के पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस से पीड़ित थे। उन्होंने अपने मोटापे या वजन को लगभग 10 प्रतिशत कम करके जोड़ों के दर्द में भी कमी पाई। 

मोटे लोगों के लिए जोड़ों के दर्द को कम करने के उपाय 

मोटे लोग, जो जोड़ों के दर्द से पीडि़त हैं, उन्‍हें अपने दर्द को कम करने और राहत पाने के लिए कुछ एक्‍सरसाइज करनी चाहिए। आइए यहां हम आपको 3 आसान एक्‍सरसाइज बता रहे हैं, जो आपको जोड़ों के दर्द में राहत दिलाएंगी। 

इसे भी पढ़ें: लॉकडाउन में भी रहना है स्लिम और फिट, तो घर परें ये 4 कोर एक्‍सरसाइज

1- हैमस्ट्रिंग स्ट्रेच

हैमस्ट्रिंग स्ट्रेच करने के लिए आप सीधे खड़े हो जाएं, इसके बाद आप अपना एक पैर आगे बढ़ाएं और पैर की उंगलियों को जमीन से उठाएं और एड़ी के बल पर पैर को टिकाएं। अब अपने दोनों हाथों को अपनी जांघ पर रखें और अपने शरीर के ऊपरी भाग को आगे की ओर हल्‍का सा झुकाएं। फिर ऐसा ही आप दूसरे पैर के साथ भी दोहराएं, प्रत्येक पैर के लिए इसे 3 बार दोहराएं।

2- काफ रेज एक्‍सरसाइज 

काफ रेज एक्‍सरसाइज करने के लिए आप अपनी कुर्सी के पीछे की ओर खड़े रहें और धीरे-धीरे अपनी एड़ी को ऊपर उठाएं, जितना हो सके उतना करें। अब पहले वाली स्थिति पर वापस आ जाएं। 10 से 15 बार 3 सेट में इस एक्‍सरसाइज को करें। 

इसे भी पढ़ें: स्‍वस्‍थ बालों और ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार के लिये फायदेमंद है शीर्षासन, रुजुता दिवेकर ने बताया तरीका

3- अप और डाउन

अप और डाउन एक्‍सरसाइज के लिए आप सबसे पहले जमीन पर बैठें यानि आपको स्‍क्‍वाट वाले पोजिशन में बैठना है। अब आप अपने पैरों के पास जमीन पर हाथ रखें। इसके बाद आप हाथों पर जोर डालते हुए, उछाल मारते हुए पैरों को पीछे ले जाएं और फिर वापस पहले वाली स्थिति में आ जाएं। इसके बाद आप खड़े हो जाएं। आप फिर ऐसा करें लगभग 10 से 15 बार करें और हर एक बार उछाल के बाद खड़े हों और फिर दूसरी उछाल के लिए बैठें। 

आप इस एक्‍सरसाइज को एक बिना हाथ की कुर्सी के साथ भी कर सकते हैं। जिसमें आप धीरे-धीरे खड़े हो जाएं और कुछ सेकंड के बाद, धीरे-धीरे फिर से बैठ जाएं। इस व्यायाम को कम से कम एक मिनट तक करें।

Read More Article On Exercise and Fitness In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Related News