रुमेटाइड अर्थराइटिस से लड़ने में मदद करेंगे ये 4 खाद्य-पदार्थ, जानें किन चीजों का सेवन पहुंचा सकता है नुकसान

यदि आपको रुमेटाइड आर्थराइटिस की शिकायत है, तो आप यहां आपके लिए अच्‍छे और नुकसानदेह खाद्य पदार्थों के बारे में बताया गया है। 

Written by: Sheetal Bisht Updated at: 2020-03-12 13:53

रुमेटाइड अर्थराइटिस एक ऐसी बीमारी है, जिससे व्‍यक्ति के जोड़ों में काफी गंभीर दर्द होता है। रुमेटाइड अर्थराइटिस के प्रति यदि लापरवाही बरती जाए, तो यह धीरे-धीरे जोड़ों में विकृति का कारण बन सकता है। अधिकतर लोग रुमेटाइड अर्थराइटिस और ऑस्टियोअर्थराइटिस  के बीच भ्रमित होते हैं, लेकिन यह दो अलग बीमारियां हैं, जो एक दूसरे से काफी अलग हैं। ऑस्टियोअर्थराइटिस अस्थि विकृति के कारण होता है, रुमेटाइड अर्थराइटिस एक ऑटोइम्यून विकार है, जो जोड़ों की सूजन और दर्द के कारण होता है, जिसमें उंगलियों जैसे छोटे जोड़ भी शामिल हैं।

रुमेटाइड अर्थराइटिस के लिए कोई विशिष्ट इलाज नहीं है, लेकिन इसे दवा और सावधानियों व परहेज के साथ इलाज किया जा सकता है। इसमें आपको अपने खानपान पर भी खास ध्‍यान देने की जरूरत होती है। आइए यहां हम आपको बताते हैं कि रुमेटाइड अर्थराइटिस के लिए सबसे अच्‍छे खाद्य-पदार्थ क्‍या हैं। 

बेरीज 

रुमेटाइड अर्थराइटिस आप कई तरह की बेरीज का सेवन कर सकते हैं, जैसे- स्‍टॉबेरी या फिर चेरी। इनमें एंथोसायनिन होता है, जो एक एंटीऑक्सिडेंट यौगिक है और यह विशेष रूप से सूजन को कम करने में मदद करता है। बेरीज आपके पीएच लेवल को बनाए रखने और आपको स्‍वस्‍थ रखने में मदद कर सकती हैं। इसलिए रुमेटाइड अर्थराइटिस के रोगियों को लाल, बैंगनी, नीले या काले रंग की बेरीज और प्लम को अपनी डाइट में शामिल करने की सलाह दी जाती है। 

ओमेगा 3 रिच फैटी फिश

अनहेल्‍दी फैट इंफ्लमेशन को और अधिक बदतर बना सकती है, जबकि ओमेगा 3 फैटी एसिड हेल्‍दी फैट है। यह आपके शरीर के लिए कई मायनों में फायदेमंद माना जाता है, जिसकी वजह से यह रुमेटाइड अर्थराइटिस के लिए भी बेस्‍ट है। यह शरीर के भीतर खराब कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को कम करके इंफ्लमेशन से लड़ने में मददगार है।  

इसे भी पढें: बच्‍चों के हाथ-पैर में लगातार दर्द हो सकता है जुवेनाइल अर्थराइटिस का संकेत, जानें इस रोग से बचाव के तरीके

हल्दी

सौ बीमारियों का इलाज है हल्‍दी, ऐसा कहा जाता है, जो कि लगभग सही भी है। हल्‍दी में ऐसे औषधीय गुण हैं, जो छोटी सी चोट से लेकर कई बड़ी बीमारियों के इलाज में मददगार हैं। हल्‍दी में करक्यूमिन एक सबसे अच्छा एंटी इंफ्लामेटरी गुण है, जो कि कई फायदों से भरपूर है। हल्‍दी वाला पानी हो या फिर दूध यह कई समस्‍याओं का इलाज में मदद करता है। 

प्लांट बेस्‍ड प्रोटीन

मीट या मांस, खासकर कि रेड मीट रुमेटाइड अर्थराइटिस के लिए बिलकुल सही नहीं है। इसलिए प्रोटीन के लिए आप प्‍लांट बेस्‍ड प्रोटीन को चुनें। प्रोटीन आपकी मांसपेशियों की ताकत को बढ़ाने और निर्माण में मदद करता है। यही वजह है कि यह आपको जोड़ों को मजबूत और इंफ्लमेशन को कम करने में भी मदद करता है। आप प्‍लांट बेस्‍ड प्रोटीन में दालें, अनाज, फलियां, मेवे, बीज, टोफू और गहरे हरे रंग की सब्जियां, जैसे- पालक, ब्रोकोली और केल को शामिल कर सकते हैं।  

इसे भी पढें:  सफेद नहीं खाएं लाल चावल, दिल को दुरूस्‍त रखने से लेकर डायबिटीज रोगियों के लिए है फायदेमंद

भूलकर भी न करें इन चीजों का सेवन 

वैसे तो आप अपने डॉक्‍टर से भी सलाह ले सकते हैं कि आपको किन चीजों का सेवन करना चाहिए और किन का नहीं। क्‍योंकि वह आपकी स्थिति को देखकर बेहतर ढ़ग से बता सकते हैं कि आपके लिए क्‍या अच्‍छा है। लेकिन यहां हम कुछ चीजें बता रहें हैं, जिनसे कि रुमेटाइड अर्थराइटिस स रोगियों को बचना चाहिए: 

  • अल्कोहल
  • बहुत अधिक चाय या कॉफी
  • रेड मीट
  • रिफाइंड या प्रोसेस्ड फूड्स
  • शुगरी फूड्स 
  • ज्‍यादा नमक
  • तला भुना हुआ खाना 
  • ट्रांस फैट 

Read More Article On Healthy Diet In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Related News