सनस्क्रीन लगाने के नुकसान

By Anuj Tiwari
2023-01-25,20:00 IST

सनस्क्रीन बनाने में जो केमिकल्स इस्तेमाल किये जाते हैं, वो सेंसटिव त्वचा के लिए बहुत हानिकारक होते हैं। आइए जानते हैं सनस्क्रीन लगाने से होने वाले नुकसान के बारे में -

स्किन एलर्जी हो सकती है

सनस्क्रीन को बनाने में जो केमिकल्स इस्तेमाल होते हैं, वो त्वचा पर लाल चकत्ते, सूजन और लालिमा आदि की समस्या हो सकती है।

ब्लैकहेड्स की समस्या

सर्दियों में ज्यादा सनस्क्रीन इस्तेमाल करने से स्किन के पोर्स क्लॉग हो सकते हैं, जिससे ब्लैकहेड्स की समस्या हो सकती है।

स्किन ग्लो को प्रभावित करता है

त्वचा पर मौजूद एमिनो एसिड्स और क्षार चेहरे की चमक और ग्लो को बनाए रखने में मदद करते हैं। चेहरे पर सनस्क्रीन का इस्तेमाल करने से इनका क्षय होने लगता है, जिसके कारण चेहरा बेजान लगता है।

चेहरे पर जलन होना

स्किन अगर सेंसटिव है तो चेहरे पर सनस्क्रीन के अधिक इस्तेमाल से जलन और रैशेज की समस्या भी हो सकती है, जो स्किन के लिए और भी हानिकारक हो सकता है।

स्किन के पोर्स बंद हो सकते हैं

चेहरे पर सनस्क्रीन का अधिक इस्तेमाल करने से स्किन की पोर्स बंद होने की संभावना बढ़ जाती है, जो चेहरे पर कील-मुंहासों का कारण बन सकते हैं।

घाव या चोट जल्दी नहीं भरते

सनस्क्रीन में मौजूद एंटी-बायोटिक और कुलिंग प्रभाव त्वचा पर धुप के कारण हो रही टैनिंग और बर्निंग से आराम दिलाने में मदद तो करता है, लेकिन ये ब्लड फ्लो को धीमा कर देता है, जिससे जली हुई त्वचा या घाव जल्दी नहीं भर पाते।

स्किन रैशेज से छुटकारा

सनस्क्रीन में एंटी-प्रुरिटिक और कुलिंग गुण होते हैं, जिनकी त्वचा पर अधिकता से भी खुजली और रैशेज की समस्या हो सकती है।

इसलिए सनस्क्रीन त्वचा के लिए नुकसानदेह हो सकती है। सेहत से जुड़ी और तमाम जानकारियों के लिए पढ़ते रहें onlymyhealth.com