पीठ के बल सोने से मिलते हैं ये फायदे

By Shilpi Arya

साइकोथेरेपिस्ट डॉ. चांदनी से जानते हैं, पीठ के बल सोने से क्या फायदे मिलते हैं? विस्तार से जानने के लिए पढ़ें यह लेख।

सांस लेने में आसानी

पीठ के बल सोने से आपको धीमी, गहरी और लंबी सांस लेने में आसानी होती है। इसकी वजह से अच्छी नींद को बढ़ावा देने वाले मेलाटोनिन हार्मोन का उत्पादन होता है।

कमर दर्द से आराम

कमर दर्द या गर्दन के दर्द से आराम पाने के लिए पीठ के बल सोएं। इससे आपकी रीढ़ की हड्डी पर दबाव कम पड़ता है।

झुर्रियां कम करे

करवट लेकर सोने से त्वचा पर खिंचाव पड़ता है और चेहरे पर झुर्रियां भी आ सकती हैं। इससे बचने के लिए पीठ के बल सोने की सलाह दी जाती है।

सूजन घटाए

करवट लेकर सोने से चेहरे के दबाव वाले हिस्से में द्रव जमता है जो आंखों के आसपास और चेहरे पर सूजन की वजह बनता है। अगर आप पीठ के बल सोते हैं तो इससे बच सकते हैं।

तनाव से राहत

पीठ के बल सोने से आपकी नींद बीच में नहीं टूटती। जिससे आपको फ्रेश महसूस होता है और इस तरह आप तनाव से भी बचे रहते हैं।

साइनस में सुधार

साइनस से ग्रस्त लोगों के लिए भी पीठ के बल सोना आरामदायक होता है। इससे सांस वाला मार्ग भी साफ होता है और नींद भी अच्छी आती है।

सिर दर्द से आराम

पीठ के बल सोने से सिर पर कम दबाव पड़ता है। इस वजह से सिर की परेशानी से भी आराम मिलता है।

चेहरे के लिए

पीठ के बल सोने से चेहरे पर होने वाले ब्लैक हेड्स, व्हाइट हेड्स आदि दिक्कतों से छुटकारा मिलता है।

सावधानी

अगर आपकी पीठ में अधिक दर्द रहता है तो आप पीठ के बल लेटने से परहेज कर सकते हैं।

पीठ के बल सोने से शरीर को कई लाभ मिलते हैं। सेहत से जुड़ी जानकारियों के लिए पढ़ते रहें Onlymyhealth.com