सीनियर सिटीजन के लिए सही डाइट

By Pallavi Kumari
06 October 2020

बुढ़ापे में शरीर धीमे-धीमे अपनी इम्यूनिटी खो देता है। वहीं उम्र बढ़ने के साथ शरीर में विटामिन और मिनरल्स की कमी भी होनी लगती है, जिसके कारण शारीरिक और मानसिक बीमारियों का खतरा बढ़ता है।

उम्र के बढ़ने के साथ-साथ डायबिटीज, दिल की बीमारी, अल्जाइमर आदि कई क्रॉनिक बीमारियां लग जाती हैं। बुजुर्गों में ब्लड प्रेशर की दिक्कत और रक्त प्रवाह में असंतुलन आदि भी हो जाता है। ऐसे में जरूरी है कि वो एक सही डाइट लें।

डाइट में शामिल करें इम्यूनिटी बूस्टर हर्ब्स

अगर आपके घरों में बुजुर्ग माता-पिता हैं, तो आपको उनकी डाइट में कुछ इम्यूनिटी बूस्टर हर्ब्स को जरूर सम्मिलित करना चाहिए। जैसे कि

  • हल्दी
  • जीरा
  • तुलसी
  • दालचीनी
  • लहसुन
  • अदरक

हड्डियों का रखें खास ख्याल

बुढ़ापे में हड्डियां कमजोर होने लगती हैं। ऐसे में जरूरी है कि बुजुर्गों को पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम से भरपूर चीजों का सेवन करवाया जाए। इसके लिए उन्हें लो फैट डेरी प्रोडक्ट्स, हरी पत्तेदार सब्जियां और सोया प्रोडक्ट्स दें।

हड्डियों को स्वास्थ रखने के लिए विटामिन-डी भी बेहद जरूरी होता है। इसके लिए अपने घर के बुजुर्गों को रोज सुबह 10 से 15 मिनट तक धूप में बैठने को कहें। इससे उनकी हड्डियां भी मजबूत रहेंगी और इम्यूनिटी भी बूस्ट होगी।

बुढ़ापे में शरीर हर तरह के फैट को पचा नहीं पाता है, ऐसे में जरूरी है कि हम अपने बुजुर्गों की डाइट में हेल्दी फैट्स को शामिल करें। इसके लिए उनकी डाइट में बादाम, अखरोट, सूरजमुखी के बीज, कद्दू के बीज को शामिल करें।

अपने घर के बुजुर्गों का खाना बनाते समय ध्यान रखें कि उनका खाना बहुत ही सिंपल हो जिसे खाने में उन्हें मुश्किल न हो और आसानी से पच भी जाए। जैसे कि सब्जियों वाली खिचड़ी, रोटी, दाल-चावल और दलिया आदि।

डाइट में आप कुछ नया करने के लिए आप अपने बड़े-बूढ़ों को कुछ सूप बना कर दे सकते हैं। जैसे सब्जियों से बना सूप, कद्द का सूप और अन्य प्रकार के मिक्सड सूप आदि। वहीं अगर आप उन्हें स्नैक्स के रूप में ड्राई फ्रूट्स से बनें सॉफ्ट चीजें खिला सकते हैं।

फल खाना सबके लिए ही जरूरी है। ये फाइबर और विटामिन से भरपूर होते हैं। बुजुर्गों के लिए ये इसलिए भी जरूरी है क्योंकि अक्सर उन्हें कब्ज की परेशानी रहती है, जिसमें फाइबर उनकी मदद कर सकता है। तो उन्हें रोज कुछ फल काट कर खाने को दें या खाने में परेशानी हो तो स्मूदी या जूस बना कर दें।

घर के बुजुर्गों को ध्यान और हल्के योग करने को प्रेरित करें। इससे उनका शारीरिक स्वास्थ्य ही नहीं, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। तो अपने घर के बड़े-बूढ़ों को ऐसे ही ख्याल रखें और स्वास्थ्य से जुड़ी अन्य जानकारियों के लिए पढ़ते रहें onlymyhealth.com