एसिडिटी और सीने में जलन से बचाव
के उपाय

By Anurag Anubhav
20 November 2020

एसिडिटी एक आम समस्या है, जो कई बार ज्यादा खाने, अधिक मिर्च-मसालों वाला भोजन करने या बहुत अधिक खट्टी चीजें खाने से हो सकती है। एसिडिटी के कारण सीने में जलन यानी हार्ट बर्न और गले में कड़वाहट जैसी परेशानी होती है।

पेट में बनने वाला एसिड कई बार आपके फूड पाइप तक पहुंच जाता है। इसी एसिड के कारण आपको सीने के हिस्से में और गले में जलन और बेचैनी महसूस होती है। एसिडिटी की समस्या को रोकने के लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए।

एक बार में ज्यादा खाना न खाएं

एसिडिटी अक्सर उन लोगों को होती है, जो एक बार में ही बहुत ज्यादा खाना खा लेना चाहते हैं। आपको हमेशा खाना धीरे-धीरे और अच्छी तरह चबाकर खाना चाहिए, ताकि आपका पेट भरने पर आप खाना बंद कर दें। एक बार में ज्यादा खाने के बजाय कई बार में थोड़ा-थोड़ा खाएं।

चाय-कॉफी ज्यादा न पिएं

कई बार ज्यादा चाय-कॉफी पीने के कारण भी आपको एसिडिटी की समस्या होती है। चाय और कॉफी में कैफीन होता है, जो अगर अधिक मात्रा में लिया जाए, तो आपके पेट में एसिड बढ़ा देता है, जिससे एसिडिटी की समस्या हो सकती है।

खाने के तुरंत बाद न सोएं

कई बार लोग खाना खाने के तुरंत बाद सो जाते हैं। इस कारण से भी सीने में जलन यानी एसिडिटी हो सकती है। ऐसे इसलिए होता है क्योंकि खाना खाकर तुरंत सोने से खाना नींद के दौरान पचना शुरू होता है और शरीर सीधा होने के कारण एसिड फूड पाइप तक पहुंच सकता है।

मोटापा कम करें

मोटे लोगों को एसिडिटी की समस्या ज्यादा होती है। मोटापे का कारण पेट में बनने वाले एसिड को रोकने वाली एसोफेगस मसल्स कमजोर हो जाती हैं। इसलिए अगर आप मोटे हैं, तो अपना वजन घटाएं, ताकि आपको बार-बार एसिडिटी की समस्या न हो।

शुगर फ्री च्युइंग गम चबाएं

एसिडिटी की समस्या खाना खाने के बाद 15-20 मिनट शुगर-फ्री च्युइंग गम चबाने से भी कम हो सकती है। च्युइंग गम चबाने से मुंह में सलाइवा ज्यादा बनता है, जो आपके फूड पाइप में मौजूद एसिड सलाइवा के साथ वापस पेट में चला जाता है, और जलन कम हो जाती है।

इस तरह कुछ बातों का ध्यान रखकर और अपने खानपान की आदतों को सही रखकर आप एसिडिटी की समस्या से बच सकते हैं। सेहत और स्वास्थ्य से जुड़ी ऐसी ही अन्य टिप्स के लिए पढ़ते रहें onlymyhealth.com