स्वास्‍थ्‍य बीमा योजना का नवीकरण

लगभग सभी स्वास्‍थ्य बीमा योजनाओं का प्रीमियम भुगतान वार्षिक तौर पर किया जाता है। लेकिन आपके बीमा के लिए नवीकरण का निश्चित समय भी आपको ज्ञात होना चाहिए।

सम्‍पादकीय विभाग
विविधWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: May 02, 2011
स्वास्‍थ्‍य बीमा योजना का नवीकरण

वार्षिक नवीकरण

 

लगभग सभी स्वास्‍थ्य बीमा योजनाओं का प्रीमियम भुगतान वार्षिक तौर पर किया जाता है। लेकिन आपके बीमा के लिए नवीकरण का निश्चित समय भी आपको ज्ञात होना चाहिए। बहुत सी दूसरी वस्तुओं की ही तरह स्वास्थ्य  बीमा योजना को भी सिर्फ एक बार नहीं लिया जाता बल्कि समय समय पर इसका नवीकरण कराना होता है। 

भारतीय परिदृश्य में बीमा धारक के आलेख सीमा पार हस्तांरणीय नहीं होते। लेकिन, सही समय पर बीमा लेना इसलिए भी ज़रूरी हो जाता है कि आप समय समय पर इसका नवीकरण करा सकें। ग्राहक जो मुफ्त-साल का दावा चाहते हैं उन्हें बोनस, छूट और दूसरे लाभ भी मिलते हैं। स्वास्थ्य बीमा के फायदों को समझने के लिए व्यक्ति को उसके लाभ को भी ठीक‍ प्रकार से समझ लेना चाहिए।

 

समय समय पर कवरेज की राशि पर पुनर्विचार करना

 

मनुष्य की ज़रूरतें हर साल बदलती जाती हैं। लेकिन व्यक्ति अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य , अपने खर्चे को ध्यान में रखकर हर साल पुनर्विचार कर सकता है। व्यक्ति को परिवार में हुई मृत्यु और जन्म का भी ख्याल रखना चाहिए।

 

आवश्यक बातें

 

•    दावा करने की प्रक्रिया को समझना :

व्यक्ति को दावा करने की प्रक्रिया को समझना चाहिए कि वह अपने दलाल या एजेंट से कैसे सम्पर्क करें। व्यक्ति को यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि अगर बीमा धारक सिर्फ अपने लिए बीमा योजना ले रहा है तो उसे बीमा संगठन किस प्रकार का सहयोग देगी।

 

•    मेडिकल रिकॉर्ड एक सुलभ जगह में रखा जाना चाहिए :

व्यक्ति को यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि बीमा के सभी कागज़ात एक सुनिश्चित जगह पर रखे हों और किसी आपातकालीन स्थिति में उनका आसानी से उपयोग किया जा सकें।

 

•    नेटवर्क अस्पताल की जानकारी रखना :

व्यक्ति को अस्पतालों की उस सूची से परिचित होना चाहिए जो कि उन्हें स्वास्थ्य  बीमा योजनाओं ने दी हैं। अस्पतालों के संपर्क विवरण की सूची को अपने मोबाइल में इकट्ठा कर लें जिससे कि किसी भी आपातकालीन स्थिति में आपको इससे सहायता मिल सके।

 

•    आपात स्थिति के लिए नकद राशि :

आपातकालीन स्थिति में अपने लिए नगद राशि हमेशा रखें। यह इसलिए भी क्योंकि ऐसा भी हो सकता है कि आपकी स्वास्थ्य बीमा योजना आपकी चिकित्सा का खर्च ना उठा सकें।

 

•    दावा करने के तरीके :

स्वास्थ्य बीमा योजना का दावा करने के लिए व्यक्ति को बीमा की आदर्श स्थितियों को समझना चाहिए अन्यथा दावे में देरी करने से दूसरी समस्याएं आ सकती हैं।


प्रलेखन सही ढंग से तैयार होना चाहिए :

 

व्यक्ति को मूल और प्रामाणिक प्रलेखन सही प्रकार से तैयार रखने चाहिए :

1-    अंतिम बिल :बिल को अलग अलग नहीं रखना चाहिए ।

2-    प्रामाणिक और अस्पताल में भर्ती होने से चिकित्सा पूरी होने तक के सभी दस्तावेजों को एक ही जगह पर रखना चाहिए।

3-    मूल जाँच के साथ चिकित्सक के पर्चे और अनुरोध के साथ संलग्न रिपोर्ट को संभाल कर रखना चाहिए।

4-    दावे के कागज़ात के साथ ही दवाओं का बिल भी लगाना चाहिए।


दावा एक निश्चित समय के अंदर करना चाहिए :

मरीज़ को मुआवज़ें के लिए अस्पताल छोड़ने के 30 दिन के अंदर सभी कागज़ात बीमा कंपनी के सामने प्रस्तु़त कर देने चाहिए ।

 

बिना नकदी निपटान के लिए प्रक्रिया 


जब व्यक्ति बिना नकदी निपटान/ कैशलेस हैल्थ प्लान लेता है तो उसे अपनी आई डी कार्ड दिखाना चाहिए जिससे जो तीसरी पार्टी के व्यवस्थापक हों या थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेटर हों वह दावा तैयार करने में आपकी मदद कर सके। टी पी ए दावा तैयार करने और गंभीर बीमारी की स्थिति में सही बिल भुगतान में आपकी मदद करता है।

 

मुख्यत: अस्प ताल में भर्ती होने की दो स्थितियां हो सकती हैं ।


अस्पताल की योजना बनाना :

अगर आप योजना बनाकर अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं तो आपको तीसरी पार्टी के व्यवस्थापक / थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेटर को जानकारी दे देनी चाहिए। ऐसा ज़रूरी है कि आप बीमा के कवरेज की शर्तो के बारे में जान लें और यह सुनिश्चित कर लें कि आ...

Disclaimer

Tags