वज़न घटाना

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 01, 2013

“आपका शरीर वह सामान है, जिसे आपको अपनी पूरी जीवन यात्रा में उठाए रखना है। जितना अधिक सामान होगा, आपकी यात्रा भी उतनी ही छोटी होगी। “एर्नोल्ड एच. ग्लेस्गो

 

ऐसा कुछ भी नहीं है, जिसे हम शरीर के वज़न को एक आदर्श वज़न के तौर पर जाने, क्योंकि यह ज़रूरी नहीं है कि जो किसी और के लिए काम करता है, वह आपके लिए भी काम करे। फिर भी एक व्यक्ति एक स्वस्थ वज़न को हासिल करने के लिए कोशिश कर सकता है। इसका अर्थ यह है कि आप एक ऐसा वज़न बनाये जीससे आप को वज़न से संबंधित कोई भी स्वास्थ्य की समस्या ना हो। अधिकतर लोग यह जानने के लिए कि क्या वे वज़न के हिसाब से स्वस्थ हैं की नहीं, बी-एम-आई – (बॉडी मास इंडेक्स) और इंच स्केल का इस्तेमाल करते है । यद्यपि ये उपकरण अच्छे मार्गदर्शक हैं, लेकिन एक स्वस्थ वज़न केवल नंबरों का खेल नहीं होता , बल्कि यह अधिकतर एक स्वस्थ जीवनशैली के बारे में होता है - स्वस्थ आहार खाना और असरकारक व्यायाम करना इसके आधर है।

 

अक्सर अधिक खाने की वजह से मोटापा बढ जाता है, लेकिन कुछ मामलों में यह किसी दूसरी चिकित्सकीय समस्या का एक लक्षण भी हो सकता है। कुशिगस सिंड्रोम, निर्धारित दवा का उपयोग, आवश्यक चर्बी अम्ल के विकार, अंगो की बीमारी, ब्ल्ड शुगर का असंतुलन और तनाव अधिक वजन से उत्पन्न होते है।

 

यदि आप मोटे हैं तो इस अतिरिक्त भार को निकलने से आपके स्वास्थ्य और जीवन काल पर एक बहुत बडा उपकार होगा। मोटे लोगों में ह्र्दय रोग, स्ट्रोक, उच्च रक्तचाप, कोलेस्ट्रोल, एंजिना, टाइप 2 मधुमेह, स्लीप एप्नेआ, ऑस्टिओआर्थ्राइटस (गठिया का रोग) , कुछ प्रकार के कैंसर जैसी बीमारियां होने का अधिक खतरा रहता है। आपके वर्तमान वज़न का केवल 10% वज़न घटने से ही आपको फ़र्क महसूस होने लगेगा क्योंकि आपको ह्र्दय, रक्तचाप और कोलेस्ट्रोल के कार्य में सुधार दिखाई दे सकता है।

 

 

Loading...
Is it Helpful Article?YES2 Votes 42257 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK