रक्त कैंसर के घरेलू नुस्खे

रक्त कैंसर के घरेलू नुस्खे : घरेलू नुस्खों को अपनाकर रक्त कैंसर को समाप्त तो नहीं किया जा सकता है। लेकिन घरेलू नुस्खों से रक्त कैंसर होने की संभावना को कम किया जा सकता है। रक्त कैंसर का पता चलने पर किसी कुशल चिकित्सक से जांच करा

Nachiketa Sharma
कैंसरWritten by: Nachiketa SharmaPublished at: Apr 03, 2012
रक्त कैंसर के घरेलू नुस्खे

ब्लड कैंसर, कैंसर का ही प्रकार है जो कि कोशिकाओं में उत्परिवर्तन के कारण खून में शुरू होता है। रक्त कैंसर की कोशिकाएं धीरे-धीरे बढती हैं और मरीज के लिए खतरनाक हो सकती हैं।

rakta cancer ke gharelu nuskhe

 

रक्त कैंसर होने पर बुखार आना, चक्कर आना, बार-बार संक्रमण होना, उल्टी आना, बार-बार संक्रमण होना, रात को सोते समय पसीना आना, भूख न लगना और वजन कम होना इसके प्रमुख लक्षण हैं। घरेलू नुस्खों को अपनाकर रक्त कैंसर को समाप्त तो नहीं किया जा सकता है। लेकिन घरेलू नुस्खों से रक्त कैंसर होने की संभावना को कम किया जा सकता है। रक्त कैंसर का पता चलने पर किसी कुशल चिकित्सक से जांच कराना चाहिए। आइए हम आपको रक्त कैंसर से बचाव के कुछ घरेलू नुस्खे बताते हैं।

 

[इसे भी पढ़े : रक्त कैंसर की वैकल्पिक चिकित्सा]

रक्त  कैंसर के घरेलू नुस्खे


ग्रीन टी -

रक्त कैंसर से बचाव के लिए ग्रीन टी बहुत ही फायदेमंद होता है। ग्रीन टी में ज्यादा मात्रा में एंटी-ऑक्सीसडेंट पाया जाता है। ग्रीन टी पीने से स्वस्थ कोशिकाओं का निर्माण होता है जो कि कैंसररोधी कोशिकाओं को बढने से रोकता है। हर रोज 4-5 बार ग्रीन टी का सेवन कैंसर के मरीज को करना चाहिए।

लाल मिर्च -

ब्लड कैंसर के मरीज को लाल मिर्च का सेवन करना चाहिए। लाल मिर्च में मौजूद विटामिन-सी और एंटी-ऑक्सीकडेंट तत्व रक्त संचार को बढाता है। लाल मिर्च में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट कैंसररोधी कोशिकाओं को बढने से रोकता है। इसके अलावा लाल मिर्च दिल की बीमारियों को भी दूर करता है। लाल मिर्च को खाने के साथ और इसकी चटनी बनाकर प्रयोग की जा सकती है।

[इसे भी पढ़े : कैंसर में हल्दी के लाभ]


हल्दी -

वैज्ञानिकों ने हल्दी- को प्राकृतिक आश्चर्य का दर्जा दिया है जो कि बहुत गुणकारी है और हल्दी कई रोगों को समाप्त कर सकता है। रक्त‍ कैंसर के मरीज के लिए हल्दी बहुत ही फायदेमंद घरेलू नुस्खा है। हल्दी  में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। हल्दी का प्रयोग करने से स्वस्थ  कोशिकाएं ज्यादा विकसित होती हैं और कैंसररोधी सेल्स का प्रभाव कम होता है। हल्दी को खाने में और दूध में मिलाकर भी पिया जाता है।

एलोवेरा -

एलोवेरा रक्त केंसर के इलाज में बहुत ही फायदेमंद घरेलू नुस्खा है। एलोविरा पौधे के छोटे-छोटे टुकडे काटकर उसे आधा लीटर शहद और 3-4 चम्मच फ्रूट जूस के साथ मिलाकर अच्छे से घोल बना लें। इस घोल का हर रोज खाने से 15 मिनट पहले तीन या चार बार सेवन करें। इस घोल का 10‍ दिन सेवन करके ब्लड सेल्स की जांच कराएं।

[इसे भी पढ़े : एलोवेरा के जूस के फायदे]

फल और जूस -

रक्त कैंसर के मरीज हर रोज ज्यादा मात्रा में ताजे फलों का सेवन करें। ताजे फल जैसे अगूर, संतरा, अनार आदि खाएं जिससे कि शरीर में हीमोग्लोमबिन का स्तर बढे। इसके अलावा ब्रोकोली, पालक, गोभी और हरे रंग की सब्जियां खनिज, विटामिन और एंजाइम के उच्च स्रोत हैं।

गेहूं की घास का जूस -

हर रोज सुबह-सुबह खाली पेट एक गिलास गेहूं की घास का जूस बनाकर पीजिए। इससे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है और खून का संचार बढता है।



इन घरेलू नुस्खों के अलावा रक्त कैंसर के मरीज को ताजे फल, हरी सब्जियां, सलाद ज्यादा मात्रा में खाना चाहिए जिससे कि शरीर के विषाक्त पदार्थ (टॉक्सिन्स) बाहर निकलें और पाचन क्रिया अच्छी हो।

 

 

Read More Article on Blood-Cancer in hindi.

Disclaimer