रक्त कैंसर की वैकल्पिक चिकित्सा

रक्त कैंसर की वैकल्पिक चिकित्सा: वैकल्पिक उपचार के जरिए शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। रक्त कैंसर की वैकल्पिक चिकित्सा के बारे में जानें।

Nachiketa Sharma
कैंसरWritten by: Nachiketa SharmaPublished at: Feb 26, 2013
रक्त कैंसर की वैकल्पिक चिकित्सा

rakta cancer ki vaikalpic chikitsa

रक्त कैंसर से ग्रस्त मरीज की इलाज न कराने से मौत हो सकती है। रक्त कैंसर के मरीज के पास इलाज के लिए कई विकल्प होते हैं। कीमोथेरेपी, रेडिएशन थेरेपी, बॉयोलॉजिकल थेरेपी और स्टेम सेल ट्रांसप्लांट इसमें से प्रमुख हैं।

लेकिन इनके आलावा भी रक्त कैंसर से जूझ रहे मरीज के लिए वै‍कल्पिक चिकित्सा का भी विकल्प होता है जिसके माध्यम से रक्त कैंसर का इलाज हो सकता है। वैकल्पिक चिकित्सा का प्रयोग सर्जरी और दवाईयों के स्थान पर किया जाता है। वैकल्पिक उपचार के जरिए शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। होम्योपैथिक, आयुर्वेदिक, योगा और घरेलू नुस्खे अपनाकर रक्त कैंसर का इलाज किया जा सकता है।

 

[इसे भी पढ़ें : रक्‍त कैंसर के घरेलू नुस्‍खे]

 

रक्त कैंसर की वैकल्पिक चिकित्सा -


आयुर्वेदिक चिकित्सा  -

रक्त कैंसर के इलाज के लिए कई प्रकार के आयुर्वेदिक औषधियां हैं जिनका हर रोज प्रयोग करने से खून में कैंसररोधी सेल्स के प्रभाव को कम किया जा सकता है। आयुर्वेदिक औषधियां चिकित्सक से पूछकर ही प्रयोग करना चाहिए। आयुर्वेद में कई पौधे जिसके कैंसर की कोशिकाएं समाप्त  होती हैं। गेवियोला, हॉक्से, रेडियम वीड, रेड क्लोवर, सा-पॉल्मेटो जैसे कई पौधे हैं जिनसे बनी दवाईयां कैंसर के मरीज के लिए बहुत ही उपयोगी होती हैं।

होम्योपैथिक -

रक्त कैंसर के मरीज को रेडिएशन थेरेपी और कीमोथेरेपी से बचने के लिए होम्योपैथ द्वारा कैंसर का इलाज बहुत अच्छा विकल्प हो सकता है। होम्योपैथ की दवाएं खून से कैंसर के सेल्स को समाप्त करती हैं। बाजार में कई होम्योपैथ की कई दवाएं हैं जिनके इस्तेंमाल करने से कैंसर की कोशिकाएं समाप्त होती हैं। होम्योपैथ दवाओं को चिकित्सक के परामर्श के अनुसार ही प्रयोग करें।


टीके -

कैंसर से बचाव के लिए कई प्रकार के वैक्सीन्स होते हैं। कूलेज टॉक्सिन्स (Coley’s Toxins) और वीजी-1000 (VG-1000) वैक्सीन्स  प्रमुख वैक्सीन्स हैं। इन टीकों को लगवाने से शरीर में कैंसररोधी प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत होती है। कैंसररोधी कोई भी टीका लगवाने से पहले चिकित्सक से सलाह करना चाहिए।

 

[इसे भी पढ़ें : क्‍या है ब्‍लड कैंसर]

 

घरेलू नुस्खे‍ -

रक्त कैंसर के मरीज के लिए घरेलू नुस्खे बहुत कारगर होते हैं। घरेलू नुस्ख कैंसर से लडने के लिए बेहतर वैकल्पिक चिकित्सा हो सकती है। ग्रीन टी, लाल मिर्च, हल्दी, एलोविरा का प्रयोग करना चाहिए। ग्रीन टी और हल्दी में पाया जाने वाला एंटी-ऑक्सीडेंट स्वस्थ कोशिकाओं का निर्माण करता है। लाल मिर्च रक्त संचार को बढाता है। इसके अलावा फल और जूस का सेवन करना चाहिए जिससे कि शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर बढे। एलोविरा का शहद के साथ घोल बनाकर खाना चाहिए।

योगा -

रक्त कैंसर के मरीज को योगा अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए। हर रोज योगा करने से शरीर स्वस्थ रहता है और शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। योगा से शरीर को अतिरिक्त ऊर्जा मिलती है जिसकी वजह से आदमी के अंदर जोश और उत्साह बना रहता है। रक्त कैंसर के मरीज को खून का संचार बढाने वाले योगा करने चाहिए। पॉवर योगा, सूर्यनमस्कार और अन्य आसन बहुत ही फायदेमंद हो सकते हैं।



खान-पान-

शाकाहारी और कच्चे खाद्य-पदार्थ कैंसर के उपचार के लिए अच्छी। वैकल्पिक चिकित्सा है। रक्त कैंसर के मरीज को अपने डाइट-प्लाप पर ध्यान देना चाहिए। चिकेन और जंक फूड खाने की बजाय शाकाहारी और फलों का सेवन कैंसर के प्रभाव को कम करने का बहुत ही अच्छा  विकल्प है।

रक्त कैंसर के मरीज के लिए सबसे अच्छी चिकित्सा है सकारात्मक सोच। इसलिए कैंसर के मरीज को पॉजिटिव विचारों के साथ कैंसर का इलाज करना चाहिए। इससे मरीज को बहुत जल्दी फायदा होता है।

 


Read More Articles on Cancer in Hindi.

Disclaimer