याददाश्त तेज रखने का राज

By  ,  दैनिक जागरण
May 17, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

संतुलित दिनचर्यानई दिल्ली, भाषा : हर व्यक्ति अपनी याददाश्त तेज बनाए रखना चाहता है। इसके चलते वह नाना प्रकार के उपाय करता है। कभी याददाश्त बढ़ाने के लिए टानिक पीता है तो कभी बादाम खाता है। लेकिन, याददाश्त तेज रखने का राज हमारी आम दिनचर्या में ही छिपा है। डाक्टरों के मुताबिक भरपूर नींद ,पौष्टिक आहार, नियमित व्यायाम और तनाव मुक्त दिनचर्या ही मस्तिष्क की सक्रियता का राज है।

 

डाक्टरों के अनुसार नियमित व्यायाम से न केवल मांसपेशियां मजबूत होती हैं बल्कि शरीर और मस्तिष्क में रक्त की आपूर्ति अच्छी तरह होती है। रक्त की आपूर्ति अपने साथ कई पोषक तत्वों को मस्तिष्क एवं तंत्रिकाओं में ले जाती है। इससे याददाश्त में 20 से 30 फीसदी सुधार होता है। मानसिक ऊर्जा बनाए रखने में अच्छी नींद भी अहम भूमिका निभाती है। भरपूर नींद लेने से हमारी कोशिकाओं और ऊतकों को आराम मिलता है जिससे हमारा शरीर तरोताजा रहता है। पोषक आहार भी मस्तिष्क की सक्रियता बनाए रखने में मददगार साबित होते हैं।

 

एम्स की आहार विशेषज्ञ अनुजा अग्रवाल कहती हैं फलों और हरी सब्जियों में पाए जाने वाले शक्तिशाली एंटीआक्सीडेंट मस्तिष्क की रक्त नलिकाओं को स्वस्थ व लचीला बनाए रखते हैं। इनके सेवन से मस्तिष्क को फोलिक एसिड और विटामिन मिलते हैं जो तीव्र याददाश्त और तंत्रिका तंत्र की सक्रियता के लिए जरूरी हैं। न्यूरोलाजिस्ट डा आसिफ खान मस्तिष्क को सक्रिय रखने का बेहतर उपाय तनाव रहित दिनचर्या बताते हैं। उनका कहना है कि तनाव कई बीमारियों की जड़ है इसलिए इसे कभी पास नहीं फटकने देना चाहिए। आसिफ के अनुसार इसके लिए योग व ध्यान की मदद भी ली जा सकती है।

 

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES15 Votes 17294 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर