मैनीक्‍योर के आठ सर्वश्रेष्‍ठ तरीके

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 01, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • हाथों की देखभाल के लिए घर पर भी कर सकते हैं मेनीक्योर
  • कब, कौंन सा और कैसे करें मेनीक्योर जानना है जरूरी
  • आपकी जरूरत के हिसाब से अलग-अलग होते हैं मेनीक्योर
  • मैनीक्‍योर के कई प्रकार होते हैं अपनी जरूरत के हिसाब से चुन सकते हैं

किसी खास मौके पर मेनीक्योर करवा अपने नाखूनों को आकर्षक और खूबसूरत बनाने की बात ही कुछ और है। लेकिन मेनीक्योर कैसे, कब और कौंन सा किया जाए इस बात की जानकारी भी होनी चाहिए। हम आपको बता रहे हैं कि मेनीक्योर कितने प्रकार का होता है।


मुस्कराकर हाथ दिखाती लड़कीक्‍या आप जानते हैं कि हमारे हाथों में तेल ग्रंथियां काफी कम होती हैं। इसी कारण हमारी उंगलियां जल्‍द ही सूख जाती हैं। रोज़ धूल और मिट्टी के संपर्क में आने वालें हमारे हाथों को जरुरत होती है एक अच्‍छे मैनीक्‍योर की, जिससे नाखूनों की सही देखभाल हो सके और वह चमकदार बन सकें।

 

मेनीक्योर में सबसे पहले हाथों और नाखूनों पर अच्छी तरह स्क्रब से मसाज की जाती है, फिर नाखूनों को फाइलर से ओवल शेप दी जाती है। मेनीक्योर कर नाखूनों के आस-पास की रूखी त्वचा के भी हटाया जाता है। मैनिक्योर करवाने से हाथों की उचित देखभाल होती है व त्वचा में कसाव आता है। और वे सुंदर दिखते हैं।

 

मेनीक्योर करवाने के लिए आप पार्लर ही जाएं, ऐसा जरूरी नहीं। आप चाहें तो हाथों और नाखूनों को खूबसूरत बनाने के लिए घर पर ही मैनिक्योर कर सकती हैं। मेनीक्योर के कई प्रकार होता है। मेनीक्योर के कुछ प्रकार नीचे दिये गए हैं।

 

रेगुलर मेनीक्योर

रेगुलर मेनीक्योर करने के लिए पहले अपने हाथों को गुनगुने पानी में डुबाना और फिर हाथों में मौजूद क्युटिकल्स निकालने के बाद नाखूनों की ट्रिमिंग और फाइलिंग की जाती है। इसके बाद हाथों और नाखूनों पर लोशन मसाज किया जाता है और नेल पेन्ट प्रयोग किया जाता है। रेगुलर मेनीक्योर, मेनीक्योर का एक आम प्रकार है।

 

फ्रेंच मेनीक्योर

फ्रेंच मैनीक्योर करने के लिए सबसे पहले हाथों और नाखूनों पर अच्छी तरह स्क्रब से मसाज करें और हाथों को अच्छे से साफ करें। फिर नाखूनों को फाइलर से ओवल शेप दें और उनकी लंबाइ मध्यम रखें। नाखूनों के आस-पास की रूखी त्वचा को हटाएं। फ्रेंच मैनीक्योर करते समय एक बात का हमेशा खयाल रखा जाता है कि नाखूनों के ऊपरी भाग पर सफेद रंग की पॉलिश जरूर हो। अब बेस को न छेड़ते हुए नाखून के ऊपरी भाग पर ही सफेद शेड से नेलपेंट लगाएं। नाखूनों की फिनिशिंग के लिए अंत में पूरे नाखून पर ट्रांस्पेरेंट नेलपॉलिश का सिर्फ एक कोट लगाएं। इससे आपके नाखून ग्लॉसी दिखते हैं।

फ्रेंच मेनीक्योर इस आधार पर रेगुलर मेनीक्योर से अलग है कि इसमें नेल पेन्ट लगाने का अलग तरीका अपनाया जाता है। नेल बेस पर क्लीयर या शीअर पिंक नेल पॉलिश लगाई जाती है, जिसके बाद नाखूनों के सिरों पर सफेद नेल पेन्ट लगाया जाता है।


स्पा मेनीक्योर

रेगुलर मेनीक्योर के बाद हाइड्रेटिंग मास्क या आपके हाथों पर एरोमैटिक साल्ट रब का प्रयोग किया जाता है जो हाथों के लिए बहुत आरामदायक होता है। स्पा मेनीक्योर से हाथों की नसों का रक्त प्रवाह भी ठीक होता है। और हाथ खूबसूरत बनते हैं।


पैराफिन मेनीक्योर

मेनीक्योर के इस प्रकार में पैराफिन मोम का प्रयोग किया जाता है। ऐसा मेनीक्योर डिहाइड्रेटेड हाथों या ऐसे लोगों के लिये ज़्यादा कारगर होता है जिनके हाथ अधिक कामकाज करने से मैले हो जाते हैं। पैराफिन मेनीक्योर गुनगुने पैराफिन मोम की मसाज आपके नाखूनों पर किया जाता है या आपके हाथों को गुनगुने मोम में डुबोया जाता है। इससे हाथ मुलायम और तरोताजा हो जाते हैं।


हॉट स्टोन मेनीक्योर

हॉट स्टोन मेनीक्योर में एक खास किस्म के स्टोन जिसमें हीट इंसुलेट होती है, से आपके हाथों पर मसाज की जाती है जिसके बाद रेगुलर मेनीक्योर किया जाता है।


लग्जरी मेनीक्योर

लग्जरी मेनीक्योर में रेगुलर मेनीक्योर मिटेन्स (जालीदार दास्तानों) द्वारा गर्म मोम से हाथों की अतिरिक्त मसाज की जाती है,  जो हाथों को मुलायम और हाइड्रेटेड बनाता है।

 

नींबू मेनीक्योर

आप चाहें तो अपने घर में भी मैनीक्‍योर कर सकती हैं जो न केवल सस्‍ते में होगा बल्कि काफी प्रभावपूर्ण भी होगा। नींबू दा्रा किया गया मैनीक्‍योर काफी लाभकरी होता है। अगर आप ज्‍यादा कुछ नहीं कर सकतीं तो केवल नींबू को स्‍लाइस में काट लीजिए और उसी से अपना मेनीक्‍योर करिए। अपने नाखूनों को 2-4 मिनट के लिए गरम पानी में डाल कर उसे नींबू से रगडि़ए। इससे उगंलियों का कालापन चला जाएगा।यह करने के बाद अपनी उंगलियों को गरम पानी से धो लें ओर क्रीम लगा लें। नींबू को रगडते समय अपने नाखूनों पर नमक छिड़क लें और उगलियों के आसपास मृत त्‍वचा को साफ कर लें।

 

जेल मैनीक्योर

जेल मैनीक्योर में कृत्रिम नाखूनों को प्राकृतिक नाखून से बांधा जाता है। जेल नाखून मजबूत होते है और कम चिपकते है, मैनीक्योर के अन्य विकल्प जैसे ऐक्रेलिक नाखून इसके विपरीत होते है। जेल का प्रयोग प्राकृतिक नाखून पर करने से,नाखून स्वस्थ और लंबे होते हैं जेल मैनीक्योर को अक्सर ऐक्रेलिक से अधिक प्राथमिकता दी जाती है क्यूंकि जेल लगाने के बाद नाख़ूनों से बू नहीं आती। जेल मैनीक्योर के दौरान, जेल को नाखून पर लगाया जाता है और पराबैंगनी प्रकाश में ठीक किया जाता है। ये जेल बहुत टिकाऊ होता है। जेल नाखूनो को हटाने के लिए, फाईलिंग करना पड़ता है। जब इन नाखूनों को निकाला जाता है तो, ये असली नाखूनों को क्षतिग्रस्त नहीं करती जब कि ऐक्रेलिक नाखून को निकालने के बाद असली नाखून खराब हों जाते है।

 

आप इनमें से अपने लिए किसी भी प्रकार का मैनीक्‍योर चुन सकती हैं। इन्‍हें अपनाने के बाद आप पा सकती हैं सुंदर और स्‍वस्‍थ हाथ। याद रखिए अगर आपके हाथ स्‍वस्‍थ होंगे तो आप भी स्‍वस्‍थ रहेंगे।

Read More Article on Hand Care in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES20 Votes 18963 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर