बोन कैंसर के दर्द का निवारण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 08, 2012

Bone cancer ke dard ka nivaran

हड्डियों का कैंसर होने से शरीर में बहुत तेज दर्द होता है जो कि असहनीय होता है। अक्सर आदमी इस दर्द को बर्दाश्त नहीं कर पाता है। बच्चे बोन कैंसर होने पर इसका दर्द बिलकुल ही बर्दाश्त नहीं कर पाते हैं। रात में सोते समय दर्द बढ जाता है। बोन कैंसर की शुरूआत में हल्का दर्द होता है लेकिन जब कैंसररोधी सेल्स‍ विकास करते हैं तब दर्द बढ जाता है। बोन कैंसर हड्डी के निश्चित भाग पर होता है जिसकी वजह से कैंसररोधी सेल्स हड्डी की नसों पर दबाव डालते हैं तब दर्द उस स्थान पर होता है। कैंसर के सेल्स हड्डी को मुलायम बना देते हैं जिसकी वजह से नसें कमजोर होकर ऊपर की तरफ उठा जाती हैं और दर्द ज्यादा होता है। इस दर्द से निवारण के लिए आप कुछ ऐसे तरीके अपना सकते हैं।

 

 

बोन कैंसर के दर्द के निवारण का तरीका -
हडि्डयों का कैंसर हड्डी को बहुत पतला या मोटा बनाता है, जिसकी वजह से नसों में रक्त संचार अच्छे से नहीं हो पाता है जिसकी वजह से दर्द होता है। इस दर्द से निवारण के लिए रेडियोथेरेपी, योगा या फिर घरेलू उपचार और खान-पान के जरिए दर्द में आराम मिल सकता है। आइए हम आपको बोन कैंसर के दर्द से छुटकारा पाने के‍ लिए कुछ उपाय बताते हैं।

 

 

रेडियोथेरेपी और कीमोथेरेपी -

बोन कैंसर का इलाज रेडियोथेरेपी या कीमोथेरेपी के जरिए किया जाता है। कैंसर के सेल्स जब बढने लगते हैं तब वे स्वस्थ सेल्स को समाप्त करने लगते हैं। रेडियोथेरेपी द्वारा इन कैंसररोधी सेल्स को समाप्त  किया जाता है। रेडियोथेरेपी कराने से मरीज को दर्द से छुटकारा मिल जाता है।

 

 

दवाईयां या पेनकिलर -

बोन कैंसर में दर्द से निजात पाने के लिए डॉक्टर से सलाह लेकर पेनकिलर का प्रयोग किया जा सकता है जिससे कि दर्द से राहत मिल सकती है। बोन कैंसर होने पर खुद से सामान्य पेनकिलर या अन्य मेडिसिन लेने की बजाय डॉक्टर से सलाह लेकर ही दवाईयों का प्रयोग करें जिससे कि इसका आपके शरीर पर कोई साइड-इफेक्ट न हो।

 

योगा और व्यायाम -

बोन कैंसर के दर्द को कम करने लिए प्रतिदिन व्यायाम और योगा का अभ्यास करना चाहिए। किसी योगा विशेषज्ञ की देखरेख में योगा का अभ्यास कम से कम 30 मिनट तक करना चाहिए जिससे कि शरीर में ऊर्जा बनी रहे और कैंसर के सेल्स का प्रभाव कम हो।

 

घरेलू उपचार –
हड्डी के कैंसर से दर्द से निजात के लिए घरेलू उपचार भी बहुत फायदेमंद होता है। ग्रीन टी हर रोज पीना चाहिए इसमें एंटीऑक्सीडेंट होता है जिसमें एंटी कैंसर के तत्व मौजूद होते हैं। एलोविरा का प्रयोग भी बोन कैंसर में राहत देता है।

 

खान-पान में बदलाव -

बोन कैंसर के मरीज को खाना-पान में बदलाव लाना चाहिए। डॉक्टर से सलाह लेकर अपना डाइट प्लान बनाना चाहिए। दूध और उसे बने खाद्य पदार्थों का ज्यादा मात्रा में सेवन करना चाहिए। तले-भुने और जंक फूड खाने से बचना चाहिए। विटामिन और मिनरल से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए जिससे कि कैंसर के लिए उत्तरदायी सेल्स समाप्त हो सकें।

 

बोन कैंसर में दर्द बहुत तेजी से होता है जिसको सहन करना बहुत मुश्किल होता है। इसलिए बोन कैंसर के मरीज को समय पर कैंसर का इलाज करा लेना चाहिए।

Loading...
Is it Helpful Article?YES4 Votes 15385 Views 4 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK