अगर आपके बाल ज्यादा झड़ रहे हैं तो जल्द लें डॉक्टर और दवाओं की मदद

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 15, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • पौष्टिक खान-पान कर बाल झड़ने की समस्या से बचा जा सकता है।
  • डॉक्टरी सलाह पर ले सकते हैं फिनास्टेरॉयड या प्रोपेसिया। 
  • अथेरोसेलेरोसिस की अवस्था बनती है बाल झड़ने का कारण।
  • मिनॉक्सिडिल या रोजीन लोशन भी है मददगार।

आम तौर पर तो बालों का झड़ना साफ-सफाई, अच्छे खान-पान व बालों की ठीक प्रकार देखभाल से ही कम हो जाता है, लेकिन यदि यह समस्या इन उपायों के बाद भी न रुके तो आपको डॉक्टरी मदद व दवाएं लेनी चाहिए।

 

Pills for hair care मिनॉक्सिडिल- मिनॉक्सिडिल या रोजीन ऐसा लोशन है, जिसे आप अपने सिर की त्वचा पर रोज़ लगा सकते हैं या स्प्रे कर सकते हैं और यह बिना प्रेस्क्रिपशन के उपलब्ध है।

 

कुछ अध्ययनों से पता चला है कि मिनॉक्सिडिल बालों के गिरने की प्रक्रिया को धीमा करके बालों के गिरने में कमी करता है, जबकि बालों का फिर से उग आना केवल कुछ ही लोगों में देखा गया। इस दवा को निरंतर सिर पर लगाना ज़रूरी हो जाता है क्योंकि इसे रोक देने पर फिर से बाल गिरने की समस्या शुरू हो सकती है।

 

फिनास्टेरॉयड- फिनास्टेरॉयड या प्रोपेसिया प्रेस्क्रिप्शन पर उपलब्ध है। यह टेस्टोस्टेरोन को डीएचटी बालों के रोमकूपों के सिकुड़ने का कारण बनने वाले हार्मोन में परिवर्तित होने से रोकती है। गर्भवती महिलाएं या ऐसी महिलाएं जो गर्भवती हो सकती हों, को यह दवा नहीं लेनी चाहिए या चूर्ण की हुई फिनास्टेरॉयड टेबलेट्स के सम्पर्क में नहीं आना चाहिए क्योंकि यह दवा त्‍वचा के द्वारा अवशोषित की जा सकती है, जिससे बच्चे पर बुरा असर पड़ सकता है।

 


बालों को झड़ने से रोकने में विटामिन डी की भूमिका—


अन्यं आवश्यकताओं की तरह बालों को विडामिन डी की भी आवश्यकता होती है । ये भी एक तरह का निशुल्क नुस्खा है और बालों को गिरने से रोकता है। असल में विटामिन डी बालों को बढ़ने में काफी मददगार साबित होता है और बालों को बढ़ने के लिए यह बहुत ज़रूरी भी है। यह अपने आप में आयरन और कैल्शियम को सोख लेता है। आयरन की कमी भी बालों के गिरने की वजह होती है। लेकिन जब आप अपने शरीर पर कम से कम 15 मिनिट के लिए भी सूर्य की किरणें पड़ने देते हैं, तो आपको उस दिन के लिए ज़रूरी मात्रा में विटामिन डी की खुराक मिल जाती है। लेकिन एक बात याद रहे, जब बहुत ही ज्यादा गर्मी हो तो आप अपने सिर और त्वचा को सूर्य की किरणों से बचाकर रखिये। बहुत ज्यादा गर्मी या तपती धूप आपके लिए नुकसानदेह साबित हो सकती है। तो बेहतर यही होगा की आप सूर्य की किरणों का फायदा या तो सुबह उठाइए या शाम को।

दवाओं के साथ यह भी रखें ध्यान-

 

बालों के गिरने की एक अहम वजह तनाव भी है। तनाव से कई और बीमारियाँ भी पैदा होती हैं, इसीलिए इन बीमारियों से बचने के लिए, और बालों को गिरने से बचाने के लिए तनाव से दूर रहिये। हालांकि ऐसा कहना बहुत आसान होता है, लेकिन अगर आप पूरी तरह स तनाव से छुटकारा नहीं पा सकते तो इसे कम तो कर सकते हैं। और तनाव कम करने के लिए आपको अपनी सोच को बदलना होगा, और योग, मेडीटेशन, वगैरह जैसे उपायों से इसे कम कर सकते हैं। इसके अलावा धूम्रपान और शराब से बचें। धूम्रपान से अथेरोसेलेरोसिस का विकास होता है। अथेरोसेलेरोसिस की अवस्था में आपकी नसों और रगों पर मैल जमा हो जाती है जिससे आपके पूरे शरीर के रक्तसंचार में अवरोध पैदा होता है। फलस्वरूप, अगर आप पौष्टिक आहार का सेवन भी कर रहे हैं तो भी पौष्टिक तत्व आपके बालों की जड़ों तक नहीं पहुँच पाते क्योंकि आपके सिर तक पर्याप्त मात्रा में रक्त नहीं पहुँचता। इस दशा में आपके बाल कमज़ोर होने लगते हैं और गिरने लगते हैं। धूम्रपान की वजह से, सेक्स समस्याएं , दौरे पड़ना, उच्च रक्त चाप, हार्ट एटेक वगैरह जैसे रोग भी पैदा होते हैं। तो, अगर आपको अपनी ज़िन्दगी से प्यार है (न सिर्फ अपने बालों से) तो आज ही धूम्रपान करना छोड़ दीजिये।

 

 

Read More Articles On Hair Care in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES47 Votes 24278 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर