बच्चों के टिफिन में पोषण दें बीमारी नहीं

By  ,  दैनिक जागरण
Jun 02, 2010

- सुविधा के चलते डिब्बाबंद व बाजार की चीजें देना है सेहत से खिलवाड़
- फल-सब्जियां, दुग्ध उत्पाद व पौष्टिक चीजें होनी चाहिए बच्चों के टिफिन में

सिडनी, आईएएनएस : बच्चों के टिफिन में फल-सब्जियां, दुग्ध उत्पाद और दूसरी पौष्टिक चीजें देनी चाहिए। यह बात सबको पता है, लेकिन ज्यादातर माता-पिता इस पर अमल नहीं कर पाते हैं। नतीजा यह होता है कि वे अंजाने में ही बच्चों के टिफिन में बीमारी दे रहे होते हैं। यह अध्ययन से यह बात सामने आई है।
कुर्टिन विश्र्वविद्यालय के अनुसंधकर्ताओं ने अध्ययन में पाया कि अभिभावक कई कारणों से बच्चों के टिफिन मंं फल-सब्जियां और अन्य लाभकारी खाद्य पदार्थ शामिल नहीं कर पाते। इसके पीछे सामाजिक-आर्थिक पहलू भी हैं। विश्र्वविद्यालय में आहार-पोषण विषय की प्रोफेसर और बच्चों के 'आहार-पोषण' पर शोध कर रही कैथरीन बाथगेट का कहना है- मैंने लगभग 50 बच्चों के अभिभावकों से पोषक आहार के बारे में बात की। सभी के पास लगभग एक जैसी मुश्किल थी कि बच्चों को टिफिन में क्या दें जो वे स्वस्थ रह सकें।
बाथगेट ने बताया कि अब अभिभावक बहुत समझदार हो गए हैं। उन्हें पता है कि बच्चों के लिए कौन-सा खाद्य पदार्थ अच्छा है और कौन-सा नहीं, लेकिन परेशानी से बचने के लिए वे डिब्बाबंद या बाजार की चीजें खरीद कर बच्चों को टिफिन में दे देते हैं। इस तरह वे अंजाने में ही बच्चों की सेहत बिगाड़ रहे होते हैं।

Loading...
Is it Helpful Article?YES9 Votes 12628 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK