फाइब्रोमायलगिया

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 24, 2009
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

फाइब्रोम्यल्गिया से ग्रस्त लोगों को विस्तृत पीड़ा, असामान्य थकान के साथ पूरे शरीर की मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होता है। फाइब्रोम्यल्गिया को कोई कारण ज्ञात नहीं है। इसके साथ, डॉक्टर लक्षणों का कोई भी भौतिक कारण नहीं जान सके हैं। फाइब्रोम्यल्गिया से गस्त लोगों के रक्त जांच, एक्स-रे और अन्य परीक्षण प्रायः सामान्य होते हैं। फाइब्रोम्यल्गिया एक विवादास्पद बीमारी है। कुछ चिकित्सक नहीं मानते कि ये एक शारीरिक रोग है, उनके अनुसार ये मनोवैज्ञानिक संकट या तनाव का एक प्रतिबिंब हो सकता है। हालांकि, किसी मनोवैज्ञानिक कारण का कोई प्रमाण नहीं है।  जब तक हमें इस विकार की अच्छी समझ नहीं हो जाती, इसके विवादास्पद होने की सम्भावना बनी रहेगी।

 

फाइब्रोम्यल्गिया के एक से अधिक कारण होने की वजह से भी ऐसा हो सकता है। कुछ शोधकर्ताओं का सुझाव है कि यह नींद चक्र के एक स्वप्नविहीन (नॉन-ड्रीम) भाग में असामान्यताओं और सेरोटोनिन, जो कि , एक मस्तिष्क रसायन है, और नींद और दर्द की अवधारणा को नियंत्रित करता है, के निम्न स्तर से संबंधित है। अन्य सिद्धांतों ने फाइब्रोम्यल्गिया को सोमेटोमेडिन सी (एक रसायन जो मांसपेशियों की ताकत और मांसपेशी की मरम्मत से सम्बंधित है) के निम्न स्तर से या “पी पदार्थ” (एक रसायन जो एक व्यक्ति की दर्द के एहसास की सीमा को प्रभावित करता है) के उच्च स्तरों से जोड़ा है। फिर भी अन्य ने ट्रोमा, मांसपेशियों में रक्त प्रवाह असामान्यताएं, वायरल संक्रमण या अन्य संक्रमणों को फाइब्रोम्यल्गिया के संभावित कारणों के रूप में उद्धृत किया है।

 

संयुक्त राज्य अमेरिका में फाइब्रोम्यल्गिया अनुमानित 3.4% औरतों और 0.5% पुरुषों, या 3 मिलियन से 6 मिलियन अमरीकिओं को प्रभावित करता है। ये अधिक सामान्यतः प्रसव आयु या उससे अधिक आयु की औरतों को प्रभावित करता है। वास्तव में, कुछ अनुमानों के अनुसार 7% महिलाएँ को उनके 70s  में फाइब्रोम्यल्गिया अधिक होता है। फाइब्रोम्यल्गिया से पीड़ित काफी लोगो को मनोवैज्ञानिक समस्याएं जैसे तनाव, चिंता या खाने सम्बन्धी विकार होते हैं हालांकि उनके बीच सम्बन्ध अभी भी अस्पष्ट है।

 

एक डॉक्टर को कब बुलायें


अगर कोई दीर्घकालिक पीड़ा या अत्यधिक थकान आपकी कार्य करने की क्षमता, नींद, सामान्य घरेलू कार्यों या मनोरंजन की क्रियाओं को बाधित करती है तो अपने डॉक्टर को बुला लीजिए।

 

लक्षण

 

फाइब्रोम्यल्गिया शरीर के लगभग हर भाग की मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द और जकडन उत्पन्न करता है, जिसमें कमर, गर्दन, कंधे, पीठ और हिप्स शामिल हैं। लोगों को अक्सर कंधे के ब्लेड और गर्दन के निचले हिस्से के बीच दर्द हो सकता है। दर्द या तो एक सामान्य दर्द या एक चुभने वाला कष्टदायक दर्द हो सकता है और सुबह के समय अक्सर जकडन ज्यादा होती है। विशिष्टतया  लोग असामान्य रूप से थकान महसूस करने की शिकायत भी करते हैं, विशेष रूप से, अच्छी तरह से सोने के बाद भी उठते समय थकान महसूस करना इसमें शामिल है। फाइब्रोम्यल्गिया से ग्रस्त लोगों में कोमल बिन्दु (टेंडर पोयन्ट्स) भी होते हैं, ये शरीर पर विशिष्ट स्थान होते हैं, जो छूने पर पीड़ादायक होते हैं। कुछ लोग परेशान करने वाले आँत सिंड्रोम, अवसाद, तनाव और सिरदर्द का भी उल्लेख करते हैं। शोध अध्ययन के लिए, अमेरिकन कॉलेज ऑफ रह्यूमेटोलोजी ने फाइब्रोम्यल्गिया के लिए मापदंड स्थापित किये हैं। इन मानदंडों को पूरा करने के लिए, एक व्यक्ति को कम से कम 3 महीने के लिए, पूरे शरीर में अस्पष्टीकृत दर्द और कम से कम 18 से 11 विशिष्ट स्थानों में  कोमल बिंदु (टेंडर पोयन्ट्स) होने चाहियें।

 

निदान

 

आपसे आपके लक्षणों के बारे में पूछने के बाद, आपके डॉक्टर सूजन, लालिमा और दर्द से प्रभावित भागों में गतिशीलता सम्बन्धी विकार के लिए आपकी जांच करेंगे। आपके डॉक्टर एसीआर द्वारा निर्धारित कोमल बिंदुओं में संवेदनशीलता और दर्द की जांच करेंगे। आपके डॉक्टर आपके चिकित्सीय इतिहास के बारे में विस्तृत प्रश्न पूछेंगे और किसी ऐसी अन्य अवस्था या रोग की सम्भावना जो कि लक्षणों के उत्तरदायी हो सकती है, को नकारने के लिए आपका परीक्षण करेंगे।
चूँकि एसीआर मापदंड शोध अध्ययन के लिए विकसित किये गए थे, इसलये इस शोध में भाग नहीं लेने वाले चिकित्सक प्रायः इन कठोर मापदंडों को नजरअंदाज करते हुए ही इस रोग का निदान करते हैं, परन्तु दर्द और थकान के वैकल्पिक कारणों को खोजने में असमर्थ रहने के बाद ही वे ऐसा करते हैं।

 

संभावित अवधि

 

काफी लोग फाइब्रोम्यल्गिया के नि...

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES3 Votes 12160 Views 0 Comment