प्रकाश से चिकित्सा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 24, 2009

प्रकाश चिकित्सा या फोटोथेरेपी  प्रकाश,  मतलब है प्रकाश के जरिये इलाज। यह सूर्य की रोशनी का भी प्रकाश हो सकता है अथवा फ्लोरोसेंट लैंप, लेजर किरणें,  प्रकाश एमीटिंग दिओदेस या पूर्ण स्पेक्ट्रम प्रकाश फेकने वाले कोई भी उपकरण हो सकते हैं जिनसे पराबैंगनी किरणे निकलती हों। लाइट थेरेपी  आँखों एवं त्वचा को दिया जा सकता है।

  • लाइट  थेरपी त्वचा के विकारों के उपचार के लिए दिया जाता है जैसे कील-मुँहासे, सोरियासिस, एक्जिमा, नवजात पीलिया इत्यादि।
  • लाइट  थेरेपी   आंखों की रेटिना के उपचार के लिए भी दिया जाता है जिसमें सिरकेडियम  ऋदम  डीसऑरडर्स जैसी समस्यें होती हैं जिसमें व्यक्ति को नींद की समस्याएं होती हैं। ब्राईट  लाइट  थेरपी उन आँखों को इलाज के तौर पर दिया जाता है जो मौसमी विकारों से ग्रस्त रहते हैं अथवा गैर मौसमी मनोरोग विकारों से परेशान रहते हैं।
  • प्रकाश चिकित्सा पार्किंसंस रोग का भी इलाज किया जाता है।  उज्ज्वल प्रकाश चिकित्सा पार्किंसंस रोग में रोगी के झटकों को कम करने में कारगर सिद्ध होता है।

प्रकाश चिकित्सा के बारे में कहीं कहीं कुछ मतभेद पाया जाता है क्योंकि कुछ लोगों का मानना है कि ज्यादा तेज प्रकाश आँखों के लिए हानिकारक हो सकता है। कुछ लोगों का ऐसा मानना है कि जिनकी त्वचा संवेदनशील होती हैं अथवा जो त्वचा विकार के लिए अन्य दवाइयां ले रहे होते हैं या सेंट जॉन जड़ी बूटी ले रहे होते हैं उन्हें प्रकाश चिकित्सा से बचना चाहिए। अगर आप   मेथोट्रेक्से या   क्लोरोक्यूनीन जैसी दवाइयां ले रहे हैं तो आपको प्रकाश चिकित्सा लेने में सावधानी बरतनी होगी। प्रकाश चिकित्सा किसी योग्य चिकित्सक की निगरानी में हीं लें।

 

Loading...
Is it Helpful Article?YES10777 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK