पैराथायराइड कैंसर का पूर्वानुमान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 10, 2013

पैराथायराइड ग्रंथि शरीर में कैल्शियम के स्तर का संचालित करती हैं। यह ग्रंथि थायराइड ग्लैंड्स के पास गर्दन के सामने होती हैं।

 

parathyroid cancer ka purvanumanपैराथायराइड कैंसर, कैंसर का एक अत्यंत दुर्लभ प्रकार है जो पुरुषों और महिलाओं को समान रूप से प्रभावित करता हैं। पर यह आम तौर 30 से अधिक उम्र के लोगों में होता है।

 

[इसे भी पढ़ें : पैराथायराइड कैंसर क्‍या है]

 

पैराथायराइड कैंसर के अधिकतर मरीज़ों में निदान के समय स्थानीय बीमारी होती है और इसकी चिकित्सा सर्जरी द्वारा की जाती है। लेकिन स्थानीय ट्यूमर के पूरी तरह से निकाले जाने के बाद भी पैराथायराइड कैंसर के दोबारा होने की सम्भावना रहती है। सामान्यत: ऐसा बीमारी के शुरूआती 2 से 5 सालों में प्रारम्भिक चिकित्सा के बाद होता है लेकिन कभी–कभी यह प्रारम्भिक चिकित्सा 2 के 10 साल बाद होता है।

 

[इसे भी पढ़ें : पैराथायराइड कैंसर के लक्षण]

 

यहां तक कि वो कैंसर जो दूसरे क्षेत्र में भी फैला होता है और जिसे मेटास्टेटिक पैराथाईराइड कैंसर भी कहते हैं। वह भी धीरे–धीरे बढ़ता है। पूरी तरह से लगभग 60 प्रतिशत मरीज़ पैराथायराइड कैंसर की पुष्टि के बाद कम से कम 5 सालों तक आसानी से जीवन यापन कर पाते हैं और आधे या उससे अधिक मरीज़ कम से कम 10 साल तक जीवन यापन कर पाते हैं। पैराथायराइड कैंसर की पुष्टि के बाद मरीज़ में औसत जीवन की सम्भावना 6 से 7 सालों तक होती है।

 

[इसे भी पढ़ें : पैराथायराइड कैंसर की चिकित्‍सा]

 

पैराथायराइड कैंसर में डाक्‍टर को कब संपर्क करें


अगर आपमें पैराथाईराइड कैंसर के लक्षण दिखते हैं, विशेष रूप से तब जब आपकी हड्डियों में दर्द हो रहा हो या गर्दन में किसी प्रकार की गांठ दिखती हो तो तुरन्‍त डाक्‍टर को सम्‍पर्क करें।

 

 

Read More Article on Parathyroid Cancer in hindi.

Loading...
Is it Helpful Article?YES1 Vote 12359 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK