पुरुषों की जेब भारी, तो शरीर भी भारी

पुरुषों की जेब जितनी मोटी होती है, वे भी उतने ही मोटे होते जाते हैं। मतलब आय बढ़ने का सीधा प्रभाव पुरुषों के मोटापे पर पड़ता है।

 अन्‍य
पुरुष स्वास्थ्यWritten by: अन्‍य Published at: Oct 05, 2010Updated at: Oct 05, 2010
पुरुषों की जेब भारी, तो शरीर भी भारी

पुरुषों की जेब जितनी मोटी होती है, वे भी उतने ही मोटे होते जाते हैं। मतलब आय बढ़ने का सीधा प्रभाव पुरुषों के मोटापे पर पड़ता है। जबकि महिलाओं में ऐसा नहीं है। यह बात एक नए अध्ययन में सामने आई है।


अध्ययन में पता चला है कि पुरुषों के पास जितना अधिक पैसा होता है, वे बाहरी खान-पान उतना पसंद करते हैं। उनमें मोटापा बढ़ने की यही वजह है। मांट्रियल विश्वविद्यालय में यह अध्ययन शोधकर्ता नथाली डूमास के नेतृत्व में किया गया।


अध्ययन के लिए डूमास ने कनाडा के सामुदायिक स्वास्थ्य सर्वेक्षण (सीसीएचएस) के आंकड़ों का इस्तेमाल किया था। इन आंकड़ों के जरिए 25 से 65 वर्ष आयु के 7,000 लोगों के विषय में सूचना हासिल की गई थी।


डूमास के अनुसार, 'महिलाओं में इस तरह से मोटापा नहीं फैलता है लेकिन उनके संदर्भ में अध्ययन के परिणाम अस्पष्ट हैं।' उन्होंने कहा, 'यद्यपि धनवान परिवारों की महिलाएं औसत या कम आय वाले परिवारों की महिलाओं की अपेक्षा कम मोटी होती हैं।'


डूमास ने कहा, 'कई अध्ययनों से स्पष्ट हुआ है कि परिवार की आय बढ़ने के साथ महिलाओं के मोटापे में कमी होती है। लेकिन पुरुषों में यह संबंध उल्टा है। वे जितने धनवान होते हैं, उनका मोटापा उतना ही ज्यादा होता है।'

 

Disclaimer

Tags