डायबिटीज़ 1 की प्राकृतिक चिकित्सा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 28, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

महानगरों में लगातार बढ़ती बीमारियां परेशानी का सबब बनती जा रही हैं। इन बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए जरूरी है सही खान-पान और रहन-सहन। इसके साथ ही सबसे महत्वपूर्ण चीज है उस बीमारी का सही तरह से सही समय पर इलाज। आज हर दूसरे व्यक्ति में डायबिटीज के लक्षण दिखाई देते हैं, लेकिन इसका इलाज अंग्रेजी दवाओं से बेहतर जड़ी बूटियों, प्राकृतिक चिकित्सा और प्राकृतिक हर्बल उपचार में उपलब्ध है। डायबिटीज 1 की प्राकृतिक चिकित्सा सफल और सुरक्षित है इसीलिए लोगों को अंग्रेजी दवाओं के मुकाबले प्राकृतिक चिकित्सा से इलाज कराना चाहिए। आइए जानें डायबिटीज 1 की प्राकृतिक चिकित्सा के बारे में।

  • प्राकृतिक चिकित्सा में ये माना गया है कि दवाएं लेने के बजाय अपने शरीर तंत्र को मजबूत बनाना व्यक्ति के न सिर्फ भविष्य के लिए अच्छा होगा बल्कि बीमारी को दूर करने में भी ये फॉर्मूला लाभकारी होगा।
  • डायबिटीज रोगी को दूसरे पर निर्भर रहने के बजाय अपनी देखभाल स्वयं करनी चाहिए। 
  • डायबिटीज रोगी को प्रतिदिन हल्के गुनगुने पानी से स्नान करना चाहिए और त्वचा को सूखा न पड़ने देना चाहिए, नहीं तो इससे खुजली होने की संभावना रहती है और कीटाणुओं के पनपने से घाव होने का खतरा रहता है।
  • अधिक से अधिक शुगर फ्री पेय पदार्थ पीएं जिससे शरीर में पानी की कमी न हो।
  • जिनके घर में पहले से ही कोई डायबिटीज का मरीज रह चुका हो उन्हें डायबिटीज होने की संभावना बनी रहती है। इसलिए अपने आनुवांशिक इतिहास को देखते हुए चिकित्सा कराते रहें। 
  • प्रतिदिन व्याहयाम करें,तेज-कदमों से चलें और अगर संभव हो तो साईकल भी चलायें 
  • यदि आपके घर में या बाहर जहां भी सीढियां हो, तो एक्सीलेटर या लिफ्ट के बजाय सीढि़यों से जाएं।
  • कुछ हल्के व्यायाम से भी डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है।
  • प्रतिदिन योग, दौड़, एरोबिक्स जैसे व्यायाम करने से डायबिटीज के नियंत्रण में मदद मिलती है।
  • पौष्टिक आहार को प्राथमिकता दे और सॉ‍फ्ट पेय पदार्थों के बजाय जूस और फल खाएं।
  • हर समय खाते न रहें। जितनी भूख हो उतना ही खाएं और रात के समय सोने से 1 घंटा पूर्व भोजन करें। धीरे-धीरे खाएं जिससे खाना पूरी तरह से पच जाएं।
  • जब भी खाना खाएं उचित समय पर खाएं। किसी भी समय खाना लेकर न बैठ जाएं। यदि कभी बीच में भूख लगती है तो हल्के-फुल्के स्नैक्स खाए जा सकते हैं।
  • डायबिटीज 1 की प्राकृतिक चिकित्सा के दौरान जीवनशैली में बदलाव बहुत जरूरी है। साथ ही खान-पान पर ध्यान देना भी अत्यंत आवश्यक है।

कुछ आसान उपाय अपनाकर डायबिटीज़ 1 की प्राकृतिक चिकित्सा पर संभव है, लेकिन साथ ही डॉक्टर से परामर्श लेते रहना चाहिए। समय-समय पर डायबिटीज की जांच कराना ना भूलें।

Read more articles on Diabetes Treatment in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES19 Votes 13609 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर