टेस्टिकुलर कैंसर का पूर्वानुमान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 10, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

टेस्टिकुलर कैंसर का जल्‍दी से इलाज किया जाए तो यह ठीक हो सकता है। हालांकि, ये कैंसर प्रकार चुपचाप और जल्दी से फैलता है। इसका मतलब यह है कि जब तक इसका निदान होता है यह पूरे शरीर में फैल चुका होता है और चौथे चरण में होता है। जिसका उपचार आसानी से नही हो सकता।

testicular cancer ka purvanumanशुरूआत में यह केवल टेस्टिस तक ही सीमित रहता है। उसके बाद यह रेट्रोपेरिटोनिल लिम्फ नोड्स तक पंहुच जाता है। रेट्रोपेरिटोनल लिम्फ नोड्स वह छोटी ग्रंथियां होती हैं जो बैक्टीरिया को फिल्टर करती हैं। लेकिन ये कैंसर सेल्स लिम्फेटिक फ्लुइड में डायफ्राम और किडनी के बीच बनते हैं।

फाइनल स्टेज में यह सेल्स पूरे शरीर में फैल जाती हैं जिससे फेफड़े, दिमाग, लीवर और हड्डियां भी बुरी तरह से प्रभावित होती हैं। अगर कैंसर का समय रहते इलाज ना किया गया तो इससे मृत्यु भी हो सकती है। 95 प्रतिशत स्थितियों में कैंसर घातक होता है और इलाज के अभाव में यह फैलता ही जाता है।

 

[इसे भी पढ़ें : टेस्टिकुलर कैंसर के लक्षण]

 

टेस्टिकुलर कैंसर का पूर्वानुमान -
हालांकि टेस्टिकुलर कैंसर के लिए उत्‍तरदायी प्रमुख कारणों का पता अभी तक नही चल पाया है लेकिन इसका पूर्वानुमान इन लक्षणों को देखकर लगाया जा सकता है -

अंडकोष में परिवर्तन -
टेस्टिकुलर कैंसर की शुरूआत अंडकोष से ही होती है। लेकिन यदि आपके टेस्टिकल्‍स में किसी तरह का बदलाव जैसे - कोई गांठ, सूजन आदि हो तो इसके बारे में पूर्वानुमान लगाया जा सकता है।


शारीरिक परिवर्तन -
टेस्टिकुलर कैंसर का असर पूरे शरीर पर पड़ता है। यह फेफड़े, दिमाग, लीवर और किड्नी को नुकसान पहुंचाता है। यदि आपके शरीर में कैंसर के लक्षण दिखे तो इसका अनुमान लगाया जा सकता है।


पारिवारिक इतिहास -
यह आनुवांशिक भी हो सकता है। यदि घर में बड़े भाई, पिता या परिवार के अन्‍य सदस्‍यों को पहले भी टेस्टिकुलर कैंसर हो चुका है तो इसका पूर्वानुमान लगाया जा सकता है।

 

[इसे भी पढ़ें : टेस्टिकुलर कैंसर क्‍या है]

 

कैंसर जैसी बीमारी किसी को भी हो सकती है, लेकिन अगर परिवार में यह पहले भी किसी को हो चुकी है तो घर के अन्‍य सदस्‍यों को भी यह बीमारी हो सकती है। अगर आपको कैंसर का लक्षण दिखे तो तुरंत चिकित्‍सक से संपर्क कीजिए।

 

 

Read More Articles on Testicular Cancer in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES11538 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर