घर का खाना

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 01, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

किसी भी फल और सब्जियों के उपर का छिलका छिला हुआ होना जरूरी है। क्योंकि छिलको से युक्त फल या सब्जियों में पोश्टिक तत्व और विटामिन अधिक मात्रा में होते है आपका षिषु उसे पचाने में असमर्थ होगा। आप छोटे से छोटे से छिलके के कण को भी उस पर से हटा दे जिससे आपका षिषु उसे आसानी से पचा सके।

 

सभी फलो और सब्जियो को मसलने या उसका गाढ़ा गूदा बनाने से पहले उनके सभी बीज और न खाए जाने वाले भाग को निकाल कर अलग कर दे।

 

फलो और सब्जियो को उबालकर या भांप में पका कर उन्हे नरम कर दे इससे वह आसानी से पच जाएगें। फलो को दम करके पकाने से उसकी पोश्टिकता बनी रहती है।

 

मसले हुए फलों को पतला करके थोड़े उबले पानी के साथ मलाई के जैसा गाढ़ा बनाएं। मसले हुए फल थोड़े पानी के साथ मिलकर एक गाढ़े गूदे की तरह होना चाहिए यह मिश्रण पानी जैसा पतला या पूरी तरह से तरल नही होना चाहिए क्योकि हमारा उद्देष्य बच्चे को अद्र्ध ठोस आहार देना है और बच्चे को खाने में निपुण करना है।

 

षिषु आहार घर पर तैयार करने के लिए दिषा निर्देष

  • जब षिषु के लिए आहार तैयार कर रहे हो तो स्वच्छता का खासतौर पर ख्याल रखे क्योकि किसी प्रकार के संक्रमण से लड़ने के लिएबच्चे का पाचन तंत्र पूरी तरह से विकसित नही होता है। आपके हाथ, फलो या सब्जियों और प्रयोग में लाने वाले बर्तनो का उचित प्रकार से स्वच्छ होना चाहिए।
  • नमकदार, मिश्ठान और मसालेदार खाने को षिषुओ को न दें। मसालेदार खाना षिषु को अवष्य ही देने से बचेंं।
  • ज्यादातर कमरे के तापमान की अपेक्षा बच्चे के आहार का तापमान हल्का होना चाहिए। आहार न तो ज्यादा गर्म हो न ज्यादा ठण्डा ही हो। 
  • हमेषा बच्चे के लिए ताजा खाना ही तैयार करे। फ्रिज मेें पहले ही से बच्चे के लिए रखा खाना न दे क्योंकि वहां हमेषा खाने के दूशित होने की संभावना होती है।

 

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES4 Votes 12183 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर