घरेलू उपाय जो एलर्जी से बचायें

वैसे तो एलर्जी किसी भी मौसम में हो सकती है लेकिन मानसून के दिनों में ज्‍यादा परेशान करती है। हालांकि एलर्जी का उपचार अनके कारणों पर निर्भर करता है लेकिन कुछ घरेलू उपायों की मदद से इसे दूर किया जा सकता है।

Pooja Sinha
घरेलू नुस्‍खWritten by: Pooja SinhaPublished at: Jan 08, 2015
घरेलू उपाय जो एलर्जी से बचायें

एलर्जी कई प्रकार की होने के साथ इसके कई कारण भी होते हैं। अक्सर धूल मिट्टी या मौसम में आए बदलाव के कारण एलर्जी हो जाती है। एलर्जी किसी भी मौसम में हो सकती है, लेकिन मानसून के दिनों में ज्‍यादा परेशान करती है। दरअसल हमारा शरीर भी कुछ खास रसायन उद्दीपकों के प्रति अपनी असहज प्रतिक्रया को 'एलर्जी' के रूप में दर्शाता है। हालांकि एलर्जी का उपचार अनके कारणों पर निर्भर करता है लेकिन कुछ घरेलू उपायों की मदद से इसे दूर किया जा सकता है।

allergy-in-hindi

हर्बल चाय

एलर्जी की समस्या से बचने व इसे दूर करने के लिए घर में ही मौजूद अदरक, काली मिर्च, तुलसी के पत्ते, लौंग व मिश्री को मिलाकर बनायी गयी 'हर्बल चाय' पीनी चाहिए। इस चाय से न सिर्फ एलर्जी से निजात मिलती है बल्कि एनर्जी भी मिलती है।

कैस्टर ऑयल

फल या सब्जी के जूस में 5 बूंद कैस्टर ऑयल डालकर सुबह खाली पेट पिएं। चाहें, तो फल व सब्जी के जूस के अलावा पानी में भी इसे ले सकते हैं। इससे आप आंतों, स्किन और नाक की एलर्जी से छुटकारा पा सकते हैं।

नींबू पानी

आधे नींबू का रस और एक चम्मच शहद को एक गिलास गुनगुने पानी में मिला दें। इसे आप रोजाना सुबह कई महीनों तक पिएं। इससे एलर्जी से राहत मिलती है।

nimbu-pani-in-hindi

वेजिटेबल जूस

नियमित रूप से एक गिलास गाजर का जूस पीने से भी एलर्जी दूर होती हैं। आप चाहे तो मिक्‍स जूस भी ले सकते हैं। मिक्‍स जूस बनाने के लिए आपको खीरे का, चुकंदर और गाजर को मिक्‍स करना होगा। इन्हें मिक्स करके रोजाना एक बार लें।

नारियल तेल

त्वचा की एलर्जी के लिए नींबू के रस को आप नारियल तेल में मिला कर भी लगा सकते हैं। इसको लगा कर पूरी रात ऐसे ही लगा रहने दें। इसे नीम के पानी से धोएं, यह एंटी बैक्टीरियल होता है इसलिए यह किसी भी त्वचा संबंधित बीमारी को दूर कर सकता है।

खसखस के बीज

खसखस के बीज, शहद और नीबू के रस का मिश्रण बनाकर इसे प्रभावित जगह पर लगाने से एलर्जी का इलाज सम्भव होता है।

इन सब घरेलू उपायों के अलावा एलर्जी की समस्‍या वाले लोगों को धूल, धुआं एवं फूलों के परागकण आदि के संपर्क से बचना चाहिए। अत्यधिक ठंडी एवं गर्म चीजों और खटाई एवं अचार के नियमित सेवन से बचें। इसके अलावा कुछ आधुनिक दवाओं जैसे: एस्पिरीन आदि के सेवन के समय सावधानी बरतें।


Image Courtesy : Getty Images

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer