किशोरावस्‍था और शारीरिक विकास

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 01, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

किशोरावस्था के  दौरान इंसान  के  शरीर  में  कई  बदलाव  होने  लगते  हैं ; वे  खुद  को  हर  चीज  में  एकदम  अनोखा  पाते  हैं । कोई  भी  चीज  व्यक्त  करने  का  उनका  अंदाज  अब  एकदम अलग  होने  लगता  है । वे  अब  बच्चे  जैसा  व्यवहार करना  बंद  करके  एक  नए  अंदाज  में जीने  लगते  हैं ।

 

किशोरावस्था में  लड़के  और  लड़कियों में  यौन  परिपक्वता  आने  लगती  है  एवं  उनके  प्रजनन अंगों में  भी  परिपक्वता  आने  लगती  है । लड़कियों  में  यौन  परिपक्वता  आ  जाने  की  वजह से  उनके  माहवारी  की  शुरुआत  हो  जाती  है  जिसकी  वजह  से  वे  गर्भधारण  करने  में  सक्षम  हो  जाते  हैं  वहीँ  लडकों  के  प्रजनन  अंगों  से  वीर्य  का  उत्सर्जन होना  आरम्भ  हो  जाता  है ।

 

लड़के  और  लड़कियों  में  कई  भौतिक  बदलाव  भी  आते  हैं  जैसे  किशोरावस्था में  लड़कियों  के  स्तनों  का  विकास  होने  लगता  है , उनके  कूल्हों  पर  वसा  यानि  कि चर्बी  जमने  लगती  है , उनकी  त्वचा  के  रंग  में  निखार  आने  लगता  है , उनके चेहरे पर मुहांसे नजर आने लगते हैं, उनकी  कांख  एवं  गुप्तांगों  यानि  की  योनी  के  आस पास  बाल  उगने  लगते  हैं । लड़कों  की  मूंछें  उगनी  शुरू  हो  जाती  हैं; कांख  एवं  गुप्तांगों  के  पास  बाल  उगने  लगते  हैं । दोनों  की 
आवाज  एवं  त्वचा  में  भी परिवर्तन  आने  लगता  है ।

 

शारीरिक विकास में सेक्स का  अंतर

 

किशोरावस्था के दौरान लड़कों और लड़कियों के शारीरिक विकास  में काफी  अंतर  पाया  जाता  है  जो  निम्न  प्रकार  के  होते  हैं

  • लड़कों  की  तुलना  में  लड़कियों  में  विकास  तेजी  से  होता  है  लेकिन  उनके  विकास  की  दर  लड़कों  से  जल्दी  समाप्त  भी  हो  जाती  है  यानि  कि लड़कों  से  दो  साल  पहले  हीं  उनका  बढ़ना  बंद  हो  जाता  है । इसलिए  लड़कों  से  दो  साल पहले हीं  अपनी 
  • व्यस्क  जैसी  ऊंचाई और  वजन  पा  लेते  हैं ।
  • किशोरावस्था  के  बाद  लड़कों  की  ऊंचाई और  वजन  लड़कियों  की तुलना  में  अधिक  होती  है ।
  • सेक्स (यौन ) के  मामले  में  लड़कियों  में  लड़कों  से  पहले  हीं परिपक्वता  आ  जाती  है ।
  • बचपन  से  हीं  लड़कियों  के  कुल्हे  लड़कों  से  ज्यादा  चौड़े  होते  हैं  जो  किशोरावस्था  में  और  ज्यादा  फ़ैल  जातें  हैं  और  लोगों  को  ये  फैलाव  नजर  आने  लगता  है ।
  • लड़कियों  की तुलना  में  लड़कों  की  भुजाएं  और  मजबूत  और  सख्त  हो  जाती  हैं  तथा  उनके  कंधे  और  सीना  चौड़े  हो  जाते       हैं ।
  • किशोरावस्था के  दौरान  और  उसके  बाद  लड़कों  की  ताकत  और  शक्ति  लड़कियों  की तुलना  में  ज्यादा  बढ़&nbs...
Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES58 Votes 25590 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर