ऑनलाइन डेटिंग के विभिन्‍न पहलु

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 11, 2013

इश्‍क किसी सीमा को नहीं मानता। हर सरहद बेमानी है उसके लिए। यह अगर यह अपने पैर पसारे तो सारी कायनात छोटी पड़ जाए इसके लिए। इंटरनेट भी कुछ ऐसा ही है। यहां होती है एक आभासी (वर्चुअल) दुनिया। एक ऐसी दुनिया जिसमें आप निर्बाध एक जगह से दूसरी जगह जा सकते हैं। एक मुल्‍क से दूसरे मुल्‍क में जा सकते हैं। सच, प्‍यार और इंटरनेट की प्रवृति में कितनी समानताएं हैं, सब बंधनों से आजाद, जिसमें समाहित है सारी कायनात...



internet datingक्‍या प्रेम को भौगोलिक सीमाओं में बांधा जा सकता है? प्रेम तो कभी भी, कहीं भी और किसी से भी हो सकता है। अब यह अपने ही शहर में हो और ऐसे ही किसी से हो जिससे आप रू-ब-रू होते हों, यह जरूरी तो नहीं। और इंटरनेट के आने के बाद तो लोगों को दुनिया जहान से जुड़ने का जो मौका मिला है। दुनिया के किसी भी कोने में रहने वाला व्‍यक्ति, किसी दूसरे कोने में रहने वाले व्‍‍यक्ति के साथ वैचारिक आदान-प्रदान कर सकता है। फेसबुक, ट्विटर और तमाम डेटिंग साइट्स ने इसे और अधिक व्‍यापक बना दिया है।

[इसे भी पढ़े : साइबर संबंध क्या है]



कहते हैं जोडि़यां स्‍वर्ग में बनती हैं। लेकिन, इंटरनेट की भूमिका भी इसमें लगातार बढ़ती जा रही है। आज दो अनजानों को हमसफर बनाने में इंटरनेट महती भूमिका अदा कर रहा है।

वक्त के साथ कई चीजों में बदलाव आया है, लोगों की सोच में भी। अब प्‍यार पड़ोस में रहने वाले किसी लड़के/लड़की या कॉलेज, ऑफिस में सहयोगी से आगे निकल चुका है। जमाना ऑनलाइन डेटिंग का है-

पहरा नहीं

ऑनलाइन डेटिंग पर किसी का पहरा नहीं होता। ना यहां किसी अपने के देख लेने का डर होता है और समाज का खौफ। बस आप और आपका साथी प्‍यार की बातें करते हुए होते हैं। और अच्छे साथी की तलाश हर किसी को होती है। इसलिए अन्य कई विकल्पों के अलावा अब युवा ऑनलाइन डेटिंग की भी मदद ले रहे हैं।

[इसे भी पढ़े: ऑनलाइन फ्लर्ट करने के टिप्‍स]


नेट पर ऐसे हमसफर की तलाश होती है जो एक दूसरे के अनुकूल हों। ऑनलाइन ही वह एक दूसरे को जानते और समझते हैं। फिर फैसला होता है जिंदगी साथ बिताने का। आजकल कई ऐसे डॉट-कॉम है जिस पर आप अपना साथी ढूंढ सकते हैं। बस जरूरत है आपके अपना प्रोफाइल और एक प्यारी सी फोटो डालने की। फिर देखिए ढेरों जबाव मिलेंगे। तय आपको करना है कि आप किसे चुनते हैं।


पहली बार में ही किसी से मिलने की बजाय इंटरनेट डेटिंग में ऑनलाइन चैटिंग और मेलिंग का आदान-प्रदान करते हुए किसी के विषय में जानकारी की जाती है। मित्रता या डेटिंग के इच्छुक लोग विभिन्न नेटवर्किंग वेबसाइटों पर अपने प्रोफाइल बना कर अपना निजी व व्यावसायिक ब्यौरा दर्शाते हैं। कोई व्यक्ति अपनी पसंद के साथी की तलाश के लिए अपना विस्तृत ब्यौरा देकर समान रूचियों वाले व्यक्ति से सम्पर्क करने के लिए इंतजार कर सकता है। अपनी प्रोफाइल में फोटोग्राफ अपलोड करना या न करना आपकी इच्छा पर निर्भर है लेकिन अध्ययन बताते हैं कि फोटो वाले प्रोफाइल पर अधिक लोग प्रतिक्रिया देते हैं। इंटरनेट डेटिंग व्यस्त‍ जीवन जीने वाले और रिजर्व नेचर के लोगों के लिए मददगार हो सकती है। लेकिन इस ऑनलाइन लव के अपने नुकसान भी हैं। आइए जानें इसके नुकसान के बारें में

  • ऑनलाइन डेटिंग से दोनों पक्षों के बीच एक दूसरे के लिए महत्त्वाकांक्षाएं काफी बढ़ जाती हैं और दोनों अव्‍यावहारिक उम्मीदें पाल बैठते हैं।
  • इंटरनेट डेटिंग में नकली (अभिनयात्मक) या जालसाजी वाले प्रोफाईल बनाने वालों से विशेष सतर्क रहने की जरूरत होती है क्योंकि यहां कुछ लोग खुद को जैसा प्रदर्शित करते हैं वे वास्तविक जीवन में वैसे नहीं होते।
  • अपने सम्पर्क पते और फोन नम्बर आदि की जानकारी इंटरनेट पर न दें क्योंकि इन जानकारियों का दुरूपयोग कर लोगों को परेशान करने के अनेक मामले देखने में आते हैं।

[इसे भी पढ़ें- गर्लफ्रेंड को कैसे मनाएं]

  • अपने फोटोग्राफ को लेकर भी सतर्क रहें क्योंकि कुछ लोग इनका भी दुरूपयोग कर सकते हैं।
  • अपने "ऑनलाइन मित्र" से किसी एकांत स्थल पर या अपने घर आदि में कभी न मिलें। यदि मिलना हो तो हमेशा किसी सार्वजनिक स्थान का ही चयन करें।
  • अक्सर लोग झूठ बोलकर रोमांस करते हैं और फिर यह बात शादी के बाद पता चलती है तो नतीजा तलाक के रूप में सामने आता है।
  • कई लोग एक साथ कई लोगों से रोमांस करते हैं। कई युवतियां या युवक भावनाओं में बहकर अपने बारे में सब कुछ बता देते हैं। नतीजा उनके साथ धोखा होता है।
  • जब लोग ऑनलाइन रोमांस करते हैं तो वे अपने शादीशुदा होने की बात छुपाते हैं।
  • कुछ लोग ऑनलाइन डेटिंग को इस लिए भी गलत मानते है, क्योंकि उनके अनुसार आपकी सारी गुप्त जानकारी भी दूसरों को पता चल जाती है। जिससे आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

[इसे भी पढ़े: ऑनलाइन डेटिंग से बनते बिगड़ते रिश्‍ते]


जब भी आप ऑनलाइन या ई-मेल से रोमांस करें इतना जरूर ध्यान में रखे कि पहली बार में ही अपने बारे में पूरी जानकारी न दें। भावनओं में बह कर अपने बारे में सब कुछ न बताएं। अगर ऑनलाइन डेटिंग करनी है तो सोच-समझ कर करें।


डेटिंग वेबसाइट मैचडॉटकॉम और रिसर्च फर्म चेडविक मार्टिन बैली के एक सर्वे के मुताबिक 2009 में करीब 17 फीसदी शादियां (हर छह में से एक) उन लोगों के बीच हुयी थी, जिनकी मुलाकात ऑनलाइन डेटिंग वेबसाइट्स पर हुयी थी। इस सर्वे में करीब 11 हजार लोगों को शामिल किया गया था। यह संख्‍या बार, क्‍लब और अन्‍य सामाजिक आयोजनों में मिलने वालों से कही ज्‍यादा थी।

 

 

Read More Article on Dating in hindi.

Loading...
Is it Helpful Article?YES2 Votes 42942 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
I have read the Privacy Policy and the Terms and Conditions. I provide my consent for my data to be processed for the purposes as described and receive communications for service related information.
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK