एलजा़इमर बीमारी के लक्षण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 15, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

alzheimer bimari ke lakshan

अल्ज्हाईमर रोग की प्रारंभिक अवस्थाओं में नयी और हाल ही की स्मृतिओं को पुनः याद करना कठिन होता है। व्यक्ति के किसी नयी जानकारी को ग्रहण करना और याद रख पाना मुश्किल हो जाता है। अंततः पुरानी और बहुत दूरस्थ स्मृतियाँ धीरे-धीरे लुप्त हो जाती हैं। कुछ दूसरे लक्षण कभी उजागर हो सकते हैं, जिनमें मौखिक शब्दों में विचारों को व्यक्त कर पाने में कठिनाई होना, सरल निर्देशों का पालन करने में कठिनता और परिचित चेहरों या अन्य जानी पहचानी वस्तुओं की व्याख्या करना शामिल है।

[इसे भी पढ़े : एलजा़इमर बीमारी क्‍या है]


एक व्यक्ति जो कि अल्ज्हाईमर रोग की प्रारम्भिक अवस्था में है, अपने भोजन का ध्यान रखने, पैसा संभालने, दरवाजों को ताला लगाना या दवाई लेना याद रखने में असमर्थ हो सकता है। ऐसे स्त्री या पुरुष दिशा पहचान करने की क्षमता खो सकते हैं या गाड़ी चलाते या चलते समय, यहाँ तक कि परिचित पड़ोस में भी रास्ता भूल सकते हैं।

[इसे भी पढ़े : एलज़ाइमर डीज़ीज़]



अल्ज्हाईमर रोग की प्रारम्भिक अवस्था से गुजर रहे व्यक्ति आमतौर पर बिना सहायता के खा सकते हैं, नहा सकते हैं, कपडे पहन सकते हैं और तैयार हो सकते हैं। दो तिहाई लोगों में मनोवैज्ञानिक समस्याएं जैसे व्यक्तित्व में बदलाव होना, चिडचिडापन, तनाव और दबाब विकसित हो जाता है। जब निदान से पूर्व इस तरह के लक्षण प्रकट होते हैं तो परिवार के सदस्यों और दोस्तों के साथ सम्बन्ध तनावपूर्ण बन सकते हैं।


[इसे भी पढ़े : एलजा़इमर बीमारी से बचाव]

जैसे-जैसे अल्ज्हाईमर रोग अपनी मध्य और अंतिम अवस्थाओं की ओर बढता है तो पीड़ित व्यक्ति को दृष्टिभ्रम (मिथ्या भ्रम, जैसे उसका पीछा किया जा रहा है, या उसका सामान चोरी हो गया है ) और मतिभ्रम (जैसे कुछ देखना, सुनना, सूंघना, चखना या किसी चीज़ का स्पर्श होना जो वास्तव में वहाँ नहीं है) होने लगता है। व्यक्ति आक्रामक हो सकता है या अकेले छोड़ने पर घर से दूर भटक सकता है।

 

Read More Article on Mental Health in hindi.

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES6 Votes 15451 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर