अब सिल्क माइक्रोचिप से होगा खून का परीक्षण

By  ,  दैनिक जागरण
Oct 04, 2010
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

दुनिया में करीब तीस लाख लोगों पर शोध से पता लगा है कि छोटे कद के लोगों को ऊंचे कद के लोगों के मुकाबले दिल की बीमारी का खतरा ज्यादा होता है। अध्ययन के अनुसार, पांच फीट दो इंच से कम कद वाले महिला-पुरुषों में दिल की बीमारियों का खतरा अधिक होता है। इनमें ऊंचे कद वालों की अपेक्षा दिल की बीमारियों की आशंका डेढ़ गुना अधिक होती है।


यूरोपीय हार्ट जर्नल की रिपोर्ट के अनुसार, फिनलैंड के शोधकर्ताओं ने दिल की बीमारियों से जुड़े 52 अध्ययनों के विश्लेषण और व्यवस्थित समीक्षा से यह निष्कर्ष निकाला है। उन्होंने तीस लाख लोगों को अध्ययन में शामिल किया।


प्रमुख शोधकर्ता, टैमपीयर विश्वविद्यालय के डा. टुला पाजानेन ने कहा, 'दिल के रोगों के जोखिम में कद को एक महत्वपूर्ण कारक माना जा सकता है। इच्छानुसार वजन तो घटाया जा सकता है, लेकिन लंबाई बढ़ाना वश में नहीं होता। धूम्रपान, शराब की लत और व्यायाम न करने की आदत भी दिल को नुकसान पहंुचाती है।'


यद्यपि यह पता नहीं लग सका है छोटे कद के लोगों में ऐसा क्यों होता है? लेकिन माना जा रहा है कि छोटे कद के लोगों में हृदय की धमनियां भी छोटी होती हैं। ये धमनियां कोलेस्ट्राल जमने के कारण जल्द ही जाम होने लगती हैं। छोटी धमनियों पर खून के प्रवाह और दबाव का भी अधिक असर पड़ता है। इससे दिल की बीमारियां होती हैं।

 

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES3 Votes 11697 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर