चेहरे के लिए योग और व्यायाम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 27, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • योग से चेहरे के धब्बे, झाइयां, झुर्रियां को दूर किया जा सकता है।
  • उदान मुद्रा और कपोल शक्ति विकासक क्रिया से आती है चमक।
  • चेहरे की वसा घटाने के लिए ठोढ़ी को 20 बार अंदर-बाहर कीजिए।  
  • इसके अलावा अपने डायट चार्ट में पोषक तत्‍वों को शामिल कीजिए।

खूबसूरत चेहरे की चाहत सभी की होती है, इसके लिए लोग खासकर महिलायें बहुत जतन करती हैं। कुछ लोग तो इसके लिए बाजार में उपलब्‍ध कई प्रकार की फेयरनेस क्रीम का प्रयोग चेहरे की सुंदरता के लिए प्रयोग करते हैं, कुछ के लिए तो यह फायदेमंद होता है लेकिन कुछ पर साइड इफेक्‍ट भी करता है।

exercise for faceचेहरे पर निखार लाने के लिए प्राकृतिक तरीके जैसे - योग और व्‍यायाम सबसे फायदेमंद हैं। यदि आप चेहरे के लिए योग और व्‍यायाम करते हैं तो यह आपकी उम्र को भी छिपा सकता है। योग की कुछ क्रियाओं से चेहरे पर लालिमा आती है तथा धब्बे, झाइयां, झुर्रियां और कालापन दूर किया जा सकता है। योग और व्‍यायाम आपके चेहरे की सुंदरता तो निखारते हैं साथ ही यह आपके पूरे शरीर को फिट भी रखते हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि चेहरे के लिए कौन सा योग और व्‍यायाम करें।

चेहरे के लिए योग

  • कपोल शक्ति विकासक क्रिया चेहरे प‍र निखार लाने के लिए अच्‍छा योगासन है। इसके लिए सुखासन या फिर पद्मासन में बैठ जाएं। दोनों हाथों की आठों अंगुलियों के आगे के भाग को आपस में मिलाकर दोनों अंगूठे से दोनों नाकों के छिद्रों को बंद कर लें। फिर सांस अंदर खींचे। फिर दोनों अंगूठों से नाक के छिद्रों को बन्द कर लें और अपने गालों को गुब्बारे की तरह फुलाएं और अपनी क्षमता अनुसार सांस रोककर धीरे-धीरे सांसों को बाहर निकालें। यह अभ्यास कम से कम 20 बार करें।
  • पद्मासन में बैठकर, अपने मुंह को इस प्रकार चलाएं, जैसे कि गाय या भैंस चारा खाने के बाद जुगाली करती है। इस क्रिया को कम से कम 2 मिनट करें।
  • सुखासन में बैठकर दोनों हाथों की अंगुलियों से अपने गालों को लगातार थपथपाएं। इस क्रिया को उसी प्रकार कीजिए, जिस प्रकार हम दुलार से किसी को तमाचा मार रहे हैं। यह क्रिया रोज 5 मिनट करें।
  • अपनी गर्दन को पीछे की तरफ मोड़कर फिर अपने नीचे वाले होंठ से ऊपर वाले होंठ को छूने का प्रयास करें, कुछ देर इसी अवस्था में रुककर सामान्‍य स्थिति में आयें। यह इस क्रिया का एक चक्र हुआ। कम से कम 10 बार इसका अभ्यास करें।
  • उदान मुद्रा करने के लिए पद्मासन में बैठ जायें। फिर अपने दोनों हाथों की तीनों अंगुलियों (तजर्नी अंगुली को छोड़कर) बाकी अंगुलियों को अंगूठे के टिप से आपस में मिलाइये। इसका अभ्यास 5 मिनट रोज करें।
  • हाथों में दस्ताने पहनकर, दोनों अंगूठों को पूरी तरह मुंह के अंदर इस तरह डालें कि ऊपर के जबड़ों और ऊपरी होंठों से लगें। होंठों को फैलाएं, जिससे मांसपेशियों में खिंचाव महसूस हो, अब होंठों को बन्द करके दबाव दें। इस क्रिया का अभ्यास 5-6 बार करें।
  • वज्रासन में बैठकर घुटनों को थोड़ा खोलकर रखें। हाथों की अंगुलियों को शेर के पंजे के समान खोलकर दोनों घुटनों पर रखें। सांस खींचकर जीभ बाहर निकालें और फिर सांस छोड़ते हुए शेर जैसी गजर्ना करें। इस क्रिया में मुंह ज्यादा से ज्यादा खुला होना चाहिये। जीभ अधिक से अधिक बाहर निकली होनी चाहिये। गले की मांसपेशियों में तनाव लाएं। इस आसन का अभ्यास 3-4 बार कर सकते हैं।
  • जब समय मिले, खूब जोर से हंसिये, इसे हास्‍यासन कहते हैं। इतना हंसिये कि आंखों में आंसू आ जाए, क्योंकि हंसने के दौरान जिस्म की सभी 600 मांसपेशियों की कसरत एक साथ होती है। ठहाका लगाकर हंसने से फेफड़ों में ज्यादा ऑक्सीजन जाती है, रक्त शुद्ध होता है और चेहरा गुलाब की तरह खिल जाता है।

 

चेहरे के लिए व्‍यायाम

 

  • मुंह को जितना हो सके खोल लीजिए, जीभ को बाहर निकालकर कुछ सेकेंड तक इसी स्थिति में रहिए। इस व्‍ययाम को 10 बार कीजिए। इससे जबड़े मजबूत होते हैं और यह गले की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है।
  • मुंह को जितना चौड़ा हो सके उतना खोलिये, 10 सेकेंड तक इसी स्थिति में रहिए और कम से कम 10 बार इस क्रिया को दोहराइए। इस व्‍यायाम से चेहरे की रेखायें हटती हैं।
  • अपनी नाक और मुंह को सिकोड़कर लगभग 5 मिनट तक रखें। इस व्‍यायाम को 10 बार कीजिए। इससे चेहरे की झाइयां हटती हैं।
  • सिर को पीछे की तरफ झुकाकर दांतों को भींच लें और मुंह के कोनों को पीछे की ओर खींचकर 10 मिनट तक इसी स्थिति में रहें। इस क्रिया को 8-10 बार दोहरायें। इससे चेहरे पर पड़ने वाली झुर्रियां दूर होती हैं।
  • सिर को सीधा रखते हुए ठोढ़ी को बाहर निकालें, फिर ठोढ़ी को अंदर ले जाइए। इस क्रिया को 20 बार करें। यह व्‍यायाम ठोढ़ी के नीचे की फालतू की वसा को कम करता है।
  • चेहरे को खूबसूरत बनाने के लिए योग और व्‍यायाम के साथ-साथ पौष्टिक आहार और आराम भी जरूरी है। इसलिए खाने में ताजे फल, हरी सब्जियों, सूखे मेवे आदि को शामिल कीजिए।

 

आपका चेहरा आपके व्‍यक्तित्‍व का आईना होता है। और आप कुछ व्‍यायाम और योग के जरिये अपने चेहरे को सुंदर और सेहतमंद बनाकर रख सकते हैं। जरूरत इस बात की है आप इन व्‍यायाम और योगासनों को नियमित तौर पर करें। इससे आपके चेहरे के साथ-साथ आपका स्‍वास्‍थ्‍य भी अच्‍छा रहेगा।

 

Read More Articles on Sports and Fitness in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES51 Votes 9315 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर