यौन अपमानजनक रिश्तों से कैसे उबरें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 18, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

yaun apmaanjanak rishto se kaise ubare

पति-पत्नी का रिश्ता प्यार व विश्वास से बना होता है। इसमें किसी तरह की जोर जबरदस्ती या मानसिक यातना की कोई जगह नहीं होती है। थोड़ी बहुत नोक झोंक तो पति पत्नी के बीच होती ही है और माना जाता है कि इससे आपका रिश्ता और मजबूत होता है। लेकिन कई बार महिलाएं अपने पार्टनर द्वारा यौन अपमानजनक यातनाओं का शिकार होती हैं। इसमें उनके पार्टनर शारीरिक व मानसिक रुप से उन्हें प्रताड़ित करते हैं और अपने ईशारों पर चलने को मजबूर कर देते हैं। शारीरिक प्रताड़ना के मुकाबले भावनात्मक प्रताड़ना से उबरना बहुत मुश्किल होता है। इसके भय से बाहर आने में लोगों को काफी समय लग जाता है, कभी कभी तो दिमाग पर भी इसका काफी असर होता है।

 

 

[इसे भी पढ़े: जब रिश्तों में ना रहे ताजगी ]

 

 

यौन अपमानजनक रिश्तों का शिकार

 

यौन अपमानजनक रिश्तों का शिकार विषमलैंगिंक व समलैंगिक जोड़े दोनों ही हो सकते हैं। यह सभी आयुवर्ग, जातीय पृष्ठभूमि, और आर्थिक स्तर में होता है। सामान्यत: महिलाएं ही इसका शिकार होती हैं, लेकिन पुरुष भी इससे अछूते नहीं रहे हैं। वे भी मौखिक व भावनात्मक रुप से इसका शिकार होते हैं कई बार तो यह अपमान शारीरिक भी हो जाता है।

 

 

[इसे भी पढ़े: संबंधों में तनाव कम करने के टिप्स]


 

डरे नहीं आवाज उठाएं

 

पुरुष हो या महिला अगर आप यौन अपमानजनक रिश्ते का शिकार हो रहें हैं, तो चुपचाप इसे सहकर और बढ़ावा नहीं दें। इसके खिलाफ आवाज उठाएं। कई बार हो सकता है कि आप अपने साथी को छोड़ने या ब्रेक अप के डर से कुछ नहीं बोल पाते हैं, लेकिन अगर आप यह सोच रहे हैं कि इससे आपकी जिंदगी सुधर सकती है तो यह आसान हो जाएगा। कोई भी रिश्ता अगर इस मोड़ पर पहुंच जाए तो उसे खत्म करना ही ठीक है। इस तरह डर कर अपमान सहने से आपका आत्मसम्मान कम होगा। शर्मिंदा महसूस करने की कोई जरूरत नहीं है। किसी और के हिंसात्मक व्यवहार के लिए आप जिम्मेदार नहीं हो सकते हैं। आपकी पहली जिम्मेदारी खुद को सुरक्षित करना है।

 

आईए जानें यौन अपमानजनक रिश्तों से कैसे बचें।

 

हेल्पलाइन की मदद लें

 

आजकल हमारे देश में यौन अपमानजनक रिश्तों का शिकार हो रहे लोगों के लिए कई सारी हेल्पलाइन हैं, जिनसे आप संपर्क कर सकते हैं, और अपनी परेशानी बता सकते हैं। ये हेल्पलाइन 24 घंटे खुली रहती हैं। आप अनुभवी सलाहकारों से भी बात कर सकते हैं।

 

 

[इसे भी पढ़े: यौन अपमानजनक रिश्तों के लक्षण]

 

 

अपने अंदर की आवाज सुनें

 

अगर आपको लग रहा है कि कुछ ठीक नहीं है तो ज्यादा देर तक चुप नहीं रहें अपने आसपास के लोगों से इस बारे में बात करें।

 

अपने घरवालों से बात करें

 

अपने माता-पिता, भाई-बहन, दोस्तों या अन्य कोई (जिस पर विश्वास करते हों) से जरुर इस बारे में बात करें। इनके अलावा अपने समुदाय में जैसे डॉक्टर, टीचर या स्थानीय धार्मिक नेता से भी बात कर सकते हैं।

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES56 Votes 58114 Views 3 Comments