एक्‍स-रे की क्‍वालिटी पर भी गर्मी का असर

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 24, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

x ray ki quality per bhi garmi ka asar

गर्मी के प्रकोप से लोग बेहाल है, इसका असर ना सिर्फ इंसानों और सभी जीवों पर बल्कि तकनीकी संसाधनों पर भी दिखाई देना शुरू हो गया है। जानकारों के मुताबिक बढ़ते तापमान से एक्स-रे की गुणवत्ता प्रभावित हो सकती है जिससे सही-सही एक्स-रे रिपोर्ट देख पाना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।

 

एक्स-रे के लिए कमरे का पूरी तरह एयर कंडीशंड होना जरूरी होता है। कमरे का तापमान, एसी का तापमान इन सबका एक प्रभाव होता है और यह सब कुछ कमरे में रखे एक्स-रे की मशीनों के लिए जरूरी होता है ताकि परिणाम बेहतर हासिल हो सके। यह भी जरूरी होता है कि अगर कोई मरीज अंदर जाए तो उसका तापमान गर्मी के थपेड़ों की वजह से इतना ज्यादा भी ना हो कि उससे एक्स-रे का परिणाम ही प्रभावित हो जाए।

 

जानकारों के मुताबिक बढ़ते तापमान की वजह से एक्स-रे रिपोर्ट की जो गुणवत्ता होनी चाहिए उसमें कमी नजर आ रही है। एक्स-रे फिल्म देखने के बाद इसका पता चलता है की गुणवत्ता में कितना फर्क आ रहा है। रेडियोग्राफर के मुताबिक अगर कमरे का तापमान 45-46 डिग्री तापमान चल रहा हो तो एक्स-रे की गुणवत्ता पर असर दिखाई पड़ना लाजिमी है।



Read More Articles on Health News in hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES1147 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर