युवावस्था का व्यायाम बुढ़ापे में देगा आराम

By  ,  दैनिक जागरण
Feb 13, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Man doing push ups in bedroom न्यूयार्क, भाषा : युवावस्था और बाल्यकाल में कसरत करने के दीर्घकालीन लाभ हैं। कसरत से हड्डियां काफी मजबूत हो जाती हैं। बड़ी उम्र में उनके टूटने या चटकने का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

 

साइंस डेली के मुताबिक अमेरिकी अनुसंधानकर्ताओं ने एक अध्ययन के बाद यह निष्कर्ष निकाला है। अग्रणी अनुसंधानकर्ता प्रोफेसर स्टुअर्ट जे वार्डन ने कहा कि हमारे अध्ययन से यह पता चलता है कि युवा यदि कसरत करें तो वे बड़ी उम्र में हड्डियों के चटकने या टूटने के खतरे को कम कर सकते हैं।

 

प्रोफेसर वार्डन और इंडियाना यूनिवर्सिटी स्कूल आफ हेल्थ एंड रीहैबिलिटेशन साइंसेस के उनके  सहयोगी अनुसंधानकर्ताओं ने पांच सप्ताह के मादा चूहे के अगले दाहिने पैर को एक सप्ताह में तीन बार कुछ मिनट के लिए कसरत कराई। यह सिलसिला सात सप्ताह तक जारी रखा। चूहे के बाएं पैर को कसरत नहीं कराई गई। अनुसंधानकर्ताओं ने कसरत से पहले और बाद में बाएं और दाहिने पैर की मजबूती तथा ढांचे का आकलन किया।

 

अनुसंधानकर्ताओं ने अगले 92 सप्ताह तक चूहे के पैर को कसरत नहीं कराई। इसके बाद उसकी हड्डियों की मजबूती  का आकलन किया गया। आकलन में पाया गया कि शेष जीवन में कसरत न कराए जाने के बावजूद युवावस्था में कराई गई कसरत का लाभ चूहे को मिलता रहा। उन्होंने पाया कि चूहे के अगले दाहिने पैर की हड्डी का आकार बढ़ गया जबकि बाएं पैर की हड्डी का आकार कभी नहीं बढ़ा। इतना ही नहीं कसरत वाले चूहे के पैर की हड्डी काफी मजबूत भी हो गई।

 

अध्ययन करने वाली टीम इस निष्कर्ष पर पहुंची कि युवा और बाल्यावस्था में की गई कसरत के दीर्घकालीन लाभ होते हैं। इससे बुढ़ापे या बड़ी उम्र में हड्डियों के टूटने का खतरा काफी कम हो जाता है।

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1 Vote 13331 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर