काम के बोझ से महिलाओं में बढ़ता है हृदय रोग का खतरा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 01, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ऑफिस का दबाव दे सकता है महिलाओं को हृदय रोग।
  • डेनमार्क में हुए एक शोध में आई है ये बात सामने।
  • ऐसी महिलाओं को हृदय रोग का खतरा 25 प्रतिशत अधिक।
  • कम आयुवर्ग की महिलाओं के लिए ये खतरा है ज्यादा।

तनाव सेहत का दुश्मन होता है। जब हम ऑफिस में काम करते हैं तो अक्सर लंबे वक्त तक तनाव व दबाव में काम करते हैं जो कि सेहत के लिए बहुत बुरा है। इस आर्टिकल में हम ऐसी स्थिति में काम करने वाली महिलाओं के बारे में बात कर रहे हैं। वे महिलाएं ऐसी जगहों पर काम करती हैं, जहां काम का दबाव या तनाव अधिक रहता है, उन्हें हृदय से संबंधित बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। यह दावा एक नए शोध में किया गया है।

woman in hindi

क्या है शोध में

डेनमार्क के शोधकर्ताओं ने काम के दबाव और हृदय पर पड़ने वाले प्रभाव का अध्ययन 12 हजार से अधिक नर्सो पर किया। नर्सो की उम्र 45 से 64 वर्ष की थी। उनसे उनके प्रतिदिन के कार्य के दबाव और उस पर उनका नियंत्रण संबंधित सवाल किए गए।

working woman in hindi

शोध के मुताबिक जिन नर्सो पर काम का दबाव ज्यादा था, उन्हें काम के दबाव को नियंत्रित कर लेने वालों के मुकाबले हृदय रोग होने का खतरा 25 प्रतिशत बढ़ जाता है। जबकि अत्यधिक दबाव महसूस करने वाली नर्सो को हृदय रोग होने का खतरा 35 प्रतिशत बढ़ जाता है। लेकिन उम्र के हिसाब से अध्ययन करने पर शोधकर्ताओं ने पाया कि 51 साल से कम आयुवर्ग की नर्सो को हृदय रोग होने की संभावना ज्यादा होती है।

यह शोध आक्यूपेशनल एंड इनवायर्मेटल मेडिसीन में प्रकाशित हुआ है।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2 Votes 11492 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर