दवाओं के बिना कैसे पाएं फोड़े-फुंसियों से छुटकारा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 12, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • किसी भी मौसम में हो सकते हैं फोड़े-फुंसियां।
  • फोड़े-फुंसियों में होता है दर्द, सूजन व जलन।
  • खून में खराबी, प्रदूषण या मच्छर का काटना कारण।
  • घरेलू उपचार के जरिये पा सकते हैं छुटकारा।

फोड़े-फुंसियां त्वचा की एक आम समस्या है। ये न केवल देखने में बुरे व भद्दे लगते हैं, बल्कि इनमें तकलीफ भी काफी होती है। शरीर में फोड़े फुंसी निकलने का कोई खास मौसम या समय नहीं होता है। साल के किसी भी समय, किसी भी कारण से आपको फोड़े फुंसियों की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। जब किसी को ये समस्या होती है तो वो चाहता है कि जल्द से जल्द इससे छुटकारा पाए। इसके लिए कई बार वो बहुत तरह की दवाओं का सेवन भी कर लेता है। लेकिन अगर आप इस समस्या के लिए डॉक्टर के पास न जाना चाहें, तो आपके पास घर में उपचार का एक अच्छा विकल्प बचता है। बहुत से लोग फोड़े-फुंसियों की समस्या से निपटने के लिए घरेलू उपचार के नुस्खे अपनाते हैं, जिनसे उन्हें फायदा पहुंचता है।

 

Boils and Carbuncles in Hindi

 

फोड़े-फुंसी निकलने के कारण


शरीर में फोड़े-फुंसी निकलने के बहुत अलग अलग कारण होते हैं। कई बार संक्रामक रोगों के कारण शरीर पर फोड़े-फुंसियां निकल आती हैं| प्रदूषित वातावरण अक्सर फोड़े-फुंसियां होने का कारण बनता है| इसके अलावा, खून में खराबी होना, मच्छर-कीड़े आदि का काटना, आम का बहुत अधिक सेवन, आम की चेंपी लगना आदि से भी शरीर में फोड़े-फुंसियां हो जाते हैं। कई बार ऐसा होता है कि जांघों में एक बाल के साथ दूसरा बाल निकलने की कोशिश करता है| तब बलतोड़ यानी फोड़ा बन जाता है| इसमें आम फोड़े-फुंसियों से ज्यादा तकलीफ महसूस होती है। अधिक मिर्च-मसाले खाने और तेल के अधिक सेवन के कारण भी फुंसियां निकल आती हैं| बरसात के गंदे पानी के शरीर से देर तक लगने की वजह से भी कभी-कभी फुंसियां उत्पन्न हो जाती हैं| फोड़े-फुंसियों के निकलने पर उनमें खुजली-जलन होती है। उनमें फिर दर्द होता है और वो पक जाती है। कुछ फुंसियां बिना पके ही अपने आप ठीक हो जाती है।

 

Home Remedies in Hindi

 

घरेलू उपचार

 

  • फोड़े-फुन्सी होने पर इमली का रस पीने से काफी फायदा पहुंचता है। इसके लिए तकरीबन 25 ग्राम इमली का गूदा पानी में भिगो दें। जब गूदा फुल जाए तो उसे
  • पानी में मथकर इस शरबत को छानकर पी जाएं। जरूरत पड़ने पर थोड़ी चीनी भी मिलाई जा सकती है।
  • अमरूद के चार-पांच पत्तों को पानी में उबालकर पीस लें| फिर इस लेप को फोड़े पर लगाएं। फोड़ा जल्दी फूट जाएगा और फिर आराम मिलेगा।
  • अरण्डी के बीजों की गिरी को पीसकर उसकी पुल्टिस बाँधने से अथवा आम की गुठली या नीम या अनार के पत्तों को पानी में पीसकर लगाने से फोड़े-फुन्सी में फायदा पहुंचता है।
  • हल्दी को पीसकर तवे पर जरा-सा तेल डालकर गरम करें। फिर उसे रूई की फाहों पर रखकर फुड़िया पर बांध दें।
  • गाजर को पीसकर तवे पर जरा-सा तेल डालकर गरम करें। फिर इसको फोड़े-फुंसियों पर लगा कर साफ कपड़े से बांध दें। ये फोड़े-फुंसियों पर जमे हुए खून को भी साफ कर देता है।
  • सरसों के तेल में थोड़ा-सा तारपीन का तेल मिलाकर फुंसियों पर लगाने से वो जल्द ठीक हो जाती हैं।
  • नीम की पत्तियों को पीसकर फोड़े-फुंसी पर लगाएं। इसके अलावा, नीम की 5-8 पकी निबौली को 2-3 बार पानी के साथ खाने से कुछ ही समय में फुंसियां ठीक हो जाती हैं।
  • करेले का रस पीने और फोड़े-फुंसियों पर लगाने से से इस समस्या से छुटकारा पाना आसान हो सकता है।
  • जामुन की गुठलियों को पीसकर फुंसी पर लगाने से ठंडक पहुंचती है, और वह जल्दी ठीक हो जाती है।
  • एक चौथाई कप अलसी को बीजों को बराबर मात्रा में सरसों के साथ पीसकर गर्म करके लेप तैयार कर लें। फोड़े पर दो से तीन बार ये लेप लगाने से वो बैठ जाता है या फिर पक कर फूट जाता है।

 

इस तरह से आप घर में घर व किचन की ही सामग्री से अपने फोड़े-फुंसी का इलाज कर सकते हैं। इससे आप डॉक्टरों के चक्कर लगाने और महंगी दवाईयों से बच सकते हैं। बस जरूरत है तो केवल थोड़ा ध्यान बरतने की। इन सभी उपचारों को अपनाते हुए अपनी समस्या को अच्छी तरह से जानना जरूरी है।   

Image Source - Getty Images

For More Articles On Other Disease in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES218 Votes 27083 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर