शुगर का इच्‍छाशक्ति से क्‍या है संबंध

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 31, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • इच्‍छाशक्ति और शुगर के बीच में है गहरा संबंध।
  • शुगर हमारे दिमाग को अधिक सक्रिय बनाता है।
  • इसके लिए शुगर का अधिक सेवन करने से बचें।
  • स्‍वस्‍थ और पौष्टिक आहार से दिमाग करें सक्रिय।

इच्‍छाशक्ति के जरिये हम किसी भी काम को आसान बना सकते हैं। अगर हम किसी काम को करने में सफल रहते हैं तो उसके पीछे हमारी दृढ़ प्रतिज्ञा और मजबूत इच्‍छाशक्ति होती है। संकल्‍प की निर्बलता ही हमें असफल बनाती है। दृढ़ संकल्प में एक ऐसी शक्ति छिपी रहती है, जो प्रतिकूल स्थितियों को अनुकूल बना लेती है। संकल्प शक्ति ही मन को एकाग्र कर विचारों को मस्तिष्क की ओर प्रेषित करती है। विचारों यानी हमारी इच्‍छाशक्ति का असर शरीर के स्वास्थ्य पर भी पड़ता है।

इच्‍छाशक्ति और शुगर के बीच में भी संबंध हैं। कई शोधों में भी यह बात साबित हो चुकी है कि अगर आप बेहतर और सक्रिय दिमाग चाहते हैं तो शुगर का सेवन करना जरूरी है। वहीं दूसरी तरफ शुगर को शरीर के लिए नुकसानदेह भी माना गया है। शुगर के अधिक सेवन से कई प्रकार की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍यायें होने लगती हें। इस लेख में विस्‍तार से जानें कि शुगर और इच्‍छाशक्ति में क्‍या संबंध है।
Willpower in Hindi

शुगर और इच्‍छाशक्ति

शुगर और इच्‍छाशक्ति एक दूसरे से संबंधित हैं। कुछ शोध से पता चला है अपना खानपान ठीक रखने से इच्छाशक्ति और अधिक मजबूत होती है। अच्छी और संतुलित खुराक एकाग्रता मजबूत करने में भी मददगार होती है। मस्तिष्क को ऊर्जा देने और इसे अधिक सक्रिय बनाने के लिए शुगर की जरूरत पड़ती है। बिना शुगर के वह अधिक देर तक कार्य नहीं कर सकता, इसलिए बौद्धिक कार्य करने वालों को संतुलित मात्र में शुगर भी लेनी चाहिए।

हालांकि अगर आपके दिमाग में शुगर यानी ग्‍लूकोज की मात्रा कम भी हो जाये तो दिमाग काम करना बंद नहीं करता है। इच्‍छाशक्ति और आत्‍मनियंत्रण की भावना इन पर हावी नहीं होती है। अगर आप वजन कम करने के तरीकों को आजमा रहे हैं और इसके लिए आपने खानपान पर नियंत्रण भी पा लिया है तो इससे शुगर खाने की इच्‍छा कम होने की बजाय बढ़ती है।

शुगर भी है जरूरी

अगर आप अपनी इच्‍छाशक्ति को मजबूत करना चाहते हैं और दिमाग को अधिक सक्रिय करना चाहते हैं तो शुगर आपकी मदद कर सकता है। ''विलपॉवर-रीडिस्‍कवरिंग द ग्रेटेस्‍ट ह्यूमन स्‍ट्रेंथ'' नामक किताब में एक शोध प्रकाशित हुआ है। इस शोध में कुछ लोगों को खाने के अन्‍य सामान दिये गये और कुछ लोगों को शुगर दिया गया। दोनों ग्रुपों को एक पहेली सुलझाने के लिए दिया गया। जिन लोगों ने शुगर का सेवन किया था उन्‍होंने पहेली को तेजी से और आसानी से हल कर दिया।

अधिक शुगर से बचें

शुगर आपके दिमाग को अधिक सक्रिय बनाता है, इसका मतलब यह नहीं कि आप अधिक मात्रा में शुगर का सेवन करें। जबकि वास्‍तविकता यह है कि बिना शुगर या ग्‍लूकोज के भी हमारा दिमाग सक्रिय रहता है। इसलिए अधिक शुगर की बजाय पौष्टिक और स्‍वस्‍थ आहार के सेवन पर जोर दीजिए। स्‍वस्‍थ आहार के सेवन से ब्‍लड शुगर नियंत्रित रहता है और यह हमारे दिमाग को भी सक्रिय रखता है।
Sugar's Relation with Willpower in Hindi

कैसे बढ़ायें इच्‍छाशक्ति

यह भी देखा गया है कि अक्सर जिन कार्यो के लिए अधिक इच्छाशक्ति की जरूरत होती है, उनमें अपनी अधिक ऊर्जा खर्च करने पर अन्य कार्यों के लिए इच्छाशक्ति नहीं बचती। इसका एक कारण यह भी है कि लोग अक्सर उचित मात्र में खुराक नहीं लेते या भावनात्मक क्रियाओं को दबाने का प्रयास भी करते हैं। नैसर्गिक इच्छाओं के दमन, दूसरों को बेहतर कार्य कर के दिखाने की मंशा और दूसरों की परीक्षा लेना भी इच्छाशक्ति को कम करता है।

इसलिए अपनी इच्छाशक्ति में इजाफा करने की कोशिश कीजिए, छोटे-छोटे प्रयासों से इसकी शुरुआत करें, एक समय में एक ही प्रण को निभाने पर जोर दीजिए। छोटे-छोटे अभ्यासों से ही हम बड़े कार्यो में अपनी इच्छाशक्ति आजमाने लायक बन सकेंगे।

image source - getty images

 

Read More Articles on Diabetes in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES12 Votes 1661 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर