खाने के बाद क्यों होता है आपके पेट में दर्द

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 10, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • खाने के बाद पेट में दर्द को अनदेखा नहीं करना चाहिए।
  • पेट फ्लू इसका सबसे सामान्‍य कारणों में से एक है।
  • लैक्टोज असहिष्णुता सूजन और पेट में दर्द पैदा कर सकता है।
  • एसिडिक खाद्य पदार्थ पेट अल्‍सर में जलन पैदा करके दर्द बढ़ते है।

क्‍या आपको खाने बाद बेचैनी, परिपूर्णता, पेट में दर्द, सूजन, डकार, गैस, एसिडिटी या कभी-कभी उल्‍टी का अनुभव होता है? इन सभी लक्षणों को आप एक लफ्ज में अपच के रूप में बयां कर सकते हैं। और वास्‍तव में खाने के बाद पेट में दर्द होने का यह सबसे अहम कारण है।

पेट गैस्ट्रोइन्टेस्टनल प्रणाली का अभिन्न हिस्सा है। यह भोजन को पचाने के लिए जिम्मेदार होता है। अगर भोजन के तुरंत बाद आपके पेट में दर्द होता है, तो जाहिराना बात है कि आपके पेट में कोई तकलीफ है। कई बार दर्द बेहद हल्का होता है। लेकिन, इस हल्‍के पेट दर्द को भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिये। इससे पहले कि हालत और ज्यादा दर्दनाक हो जाए इसका इलाज करवाना चाहिये। लेकिन, इसके लिए आपको इसके कारणों के बारे में सही-सही जानकारी होनी चाहिये। और इसी में हम आपकी मदद करने की कोश‍िश करेंगे।

stomach pain in hindi

पेट का फ्लू

चिकित्सकीय भाषा में इसे गैस्ट्रोएन्टेराइटिस या आंत्रशोथ के रूप में जाना जाता है। स्‍टमक फ्लू खाने के बाद पेट में दर्द के सबसे सामान्य कारणों में से एक है। यह तब होता है जब वायरस आपके गैस्ट्रोएन्टेराइटिस पथ पर हमला करता है। इससे दस्त, पेट दर्द, उल्टी और मतली जैसी समस्‍याएं हो सकती है। पेट फ्लू भोजन  के चार घंटे के भीतर ही आपके पेट में दर्द पैदा कर सकता है। हालांकि, वायरस से दूर रहकर इसे रोका जा सकता है। इसके लिए आपको स्‍वच्‍छता की आदतों को भी अपनाना होगा, जैसे खाने से पहले हाथ धोने की आदत और भोजन पकाने से पहले सब्जियों को अच्‍छे से धोना आदि।

लैक्टोज असहिष्णुता

डेयरी उत्‍पादों में लेक्टोज नाम की शर्करा पायी जाती है। कुछ लोगों को लैक्टोज से एलर्जी होती है। यानी उनके शरीर में एंजाइम लैक्टेज की कमी होती है। यह एंजाइम शर्करा की पाचन के लिए जिम्‍मेदार होता है। डेयरी से बने खाद्य उत्पादों का सेवन करने से ऐसे लोगों को पेट में सूजन, गैस, और गंभीर दर्द हो सकता है। अगर आप लैक्टोज असहिष्णु हैं, तो किसी भी डेयरी उत्पाद का सेवन करने से बचें। यह लैक्टोज युक्त खाद्य पदार्थ खाने के बाद होने वाले पेट दर्द से आपको बचा लेगा। इस बात की पुष्टि करने के लिए आप चिकित्सक से सहायता ले सकते हैं।

पेट का अल्‍सर

खाने के बाद दर्द की की सबसे बड़ी वजह अल्‍सर बतायी जाती है। पेट के अंदर या ऊपर आंतों में मौजूद नर्म अस्‍तर को अल्‍सर कहते हैं। एसिडिक भोजन या पेय लेने पेट में बनने वाला एसिड या भोजन अलसर को प्रभावित कर के पेट में दर्द पैदा कर सकता है। पेट के अल्सर के इलाज के लिए एंटीबायोटिक दवाओं के लिए अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

causes of stomach pain in hindi

सीलिएक रोग

ग्लूटेन का प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित करने पर आप सीलिएक रोग से पीड़ित होते हैं। ग्‍लूटेन एक प्रोटीन है जो जौ, राई, माल्ट, पराग, ग्राहम आटा, सूजी और गेहूं में मौजूद होता है। जब आप लस (ग्‍लूटेन) असहिष्णु होते हैं तब इस तरह के खाद्य पदार्थ प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को प्रभावित कर आपकी छोटी आंत की भीतरी सतह में सूजन का कारण बनता है। यह सब पेट दर्द और सूजन की ओर ले जाता है। इसलिए सीलिएक रोग से पी‍ड़‍ित लोगों को ग्‍लूटेन मुक्त आहार देना चाहिए। उन्‍हें पूरी तरह से ग्‍लूटेन युक्त सभी पेय और खाद्य पदार्थों जैसे ताजा मांस, फल, आलू, सब्जियां, और वाइन से बचना चाहिए।

फूड पॉइजनिंग

संक्रामक खाद्य या पेय के माध्यम से हानिकारक सूक्ष्मजीव हमारी पाचन क्रिया में शामिल हो जाते हैं। ये तत्त्व फूड पॉइजनिंग के कारण बन सकते हैं। इसके लक्षण पेय या भोजन लेने के बाद 2-4 घंटे में शुरू हो सकते हैं। लेकिन कुछ स्थितियों में लक्षण सामने आने में दो दिन लग सकते हैं। इन विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने के लिए आपको तरल पदार्थों का अध‍िक सेवन करना चाहिये। इसके साथ ही आराम भी करना चाहिये। इसके अलावा कच्चे या अधपके खाना खाने या गंदे स्थानों पर खाने से बचें।

कुछ अन्‍य हालात जैसे पित्त पथरी, बहुत तेज या बहुत ज्यादा खाना और हार्टबर्न खाना खाने के बाद पेट का कारण होते है।  अगर आपके पेट में इतना गंभीर दर्द है कि आपको बैठने में भी मुश्किल हो रही हैं तो आपको अपने डॉक्‍टर से मिलना चाहिए। और अगर खूनी मल, उल्टी, पीले रंग की त्वचा, गंभीर कोमलता और लगातार मल के साथ आता है, तो आपको तुरंत चिकित्सीय सहायता लेनी चाहिये।

 

Image courtesy : getty images


Read More Article on Stomach-Cancer in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES12 Votes 4406 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर