आखिर क्‍यों नहीं कर रहा आपका डाइट प्‍लान काम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 03, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • वजन घटाने की नाकामयाब होती कोशिश।  
  • मीठा खाने से खुद को न रोक पाना।
  • कैलोरी जलाने के लिए जरूरी होता है पानी।
  • डेयरी उत्‍पाद को अपनी डाइट में शामिल करें।

वजन कम करने के लिए आप क्‍या-क्‍या नहीं करते, जमकर एक्‍सरसाइज, मनपंसद खाने को देखकर मन का मारना और यहां तक तरह-तरह के नुस्‍खे अपनाने से भी बाज नहीं आते, लेकिन फिर भी वजन है कि घटने का नाम ही नहीं लेता। अक्‍सर वजन कम करने की चाह रखने वाले लोगों के साथ ये समस्‍याएं होती है। अगर आप भी फल-सब्जी युक्त पौष्टिक आहार लेने और नियमित रूप से एक्‍सरसाइज करने के बावजूद वजन घटाने की कोशिश में कामयाब नहीं हो पा रहे, तो हो सकता है कि ऐसा यहां दी ग‍लतियों के कारण हो रहा हो।

diet fail in hindi

भोजन से डर

वजन कम करने की कोशिश करने वाले ज्‍यादातर लोगों को अपने आहार से डर लगता है। ऐसे लोग खाने में तो बहुत कम खाते हैं और संतुलित आहार भी लेते हैं, लेकिन ब्रेकफास्ट और लंच के बीच स्नैक्स, शाम की चाय के साथ चटपटे पकवान और डिनर के बाद मीठा खाने से खुद को नहीं रोक पाते।

पानी का बहुत कम सेवन

वजन कम करने की चाह रखने वाले लोग अपने आहार पर तो ध्‍यान देते हैं लेकिन पानी के सेवन पर उनका ध्‍यान नहीं जाता। पानी पीने से बचने पर भी वजन कम करने में परेशानी होती है। क्‍योंकि कैलोरी जलाने के लिए पानी बहुत जरूरी होता है। शरीर में पानी की कमी से मेटॉबोलिज्‍म धीमा होने लगता है यानी वजन घटने की प्रक्रिया धीमी होना। कई शोधों से भी यह बात साबित हुई है कि जो लोग नियमित रूप से 8-10 गिलास पानी पीते हैं वे अन्‍य लोगों की तुलना में अधिक कैलोरी बर्न करते हैं।

low fat food in hindi

लो फैट का आंख मूंदकर सेवन

हालांकि लो फैट उत्‍पाद आपकी डाइट में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप इसकी मात्रा को बिल्‍कुल ही नजरअंदाज कर देगें। डाइट और लो फैट स्नैक्स में हो सकता है कैलोरी की मात्रा थोड़ी कम हो, लेकिन इनमें मौजूद सोडियम, शुगर आदि आपकी खाने की इच्छा और बढ़ाता है। जबकि फिटनेस की चाह रखने वाले लोगों की नजरें ऐसे ही उत्‍पाद को ढूढ़ती है, और वह लो फैट के भुलावे मे कई बार इतना ज्यादा खा लेते हैं कि अंजाने में वह सामान्य फूड से भी अधिक कैलोरी ले लेते हैं। इस गलती से बचें। उदाहरण के लिए अगर आप यह सोचकर डाइट कोल्ड ड्रिंक पीते हैं कि इसमें कैलोरी की मात्रा न होने के कारण इससे आपका वजन नहीं बढ़ेगा तो आप गलत हैं।

अधिक नमक का सेवन

वजन कम करने के लिए डाइटिंग के नाम पर कैलोरी अधिक होने के कारण आप मीठी चीजों से तो परहेज करते हैं लेकिन उसकी भरपाई बहुत अधिक नमकीन चीजों को खाकर कर लेते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि पॉपकॉर्न, चिप्स, नमकीन मूंगफली और स्नैक्स में मौजूद सोडियम आपकी भूख को शांत करने की बजाय खाने की इच्छा और अधिक बढ़ा देता है।

डेयरी उत्‍पाद से दूरी

वैसे तो वजन कम करने वाले लोगों के लिए फुल क्रीम दूध, चीज और आइसक्रीम जैसी चीजें किसी बुरे सपने की तरह होती हैं, लेकिन  डेयरी प्रॉडक्ट्स से पूरी तरह किनारा कर लेना उलटे परिणाम दे सकता है। क्‍योंकि इनसे मिलने वाला कैल्शियम से ज्यादा कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती है। इस बात को हमेशा ध्‍यान में रखना चाहिए कि कैल्शियम सप्लीमेंट उतने असरदार नहीं होते जितना कैल्शियम के प्राकृतिक स्रोत। ऐसे मे बिना फैट या कम फैट वाले डेयरी उत्‍पाद को अपनी डाइट में शामिल करें।

rich food in hindi

सप्‍ताहांत में भरपूर खाना

हफ्ते के शुरुआती पांच दिन तो आप फैट रहित दूध-दही, जूस, फल, सलाद और उबली सब्जियों पर रहते हैं, लेकिन सप्ताहांत में डाइटिंग के नियम तोड़ते हुए आप फास्टफूड व आइस्क्रीम पर टूट पड़ते हैं। इससे भी आपका वजन कम करने का सपना टूट सकता है।

अगर आप भी अपने वजन कम करने के कार्यक्रम में ऐसी ही कुछ गलतियां कर रहे हैं तो इनमें सुधार लाकर आप स्‍वयं में बदलाव महसूस कर सकते हैं।

Image Courtesy : Getty Images

Read More Articles on Weight Management in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES6 Votes 1053 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर