आपको योग क्‍यों करना चाहिए, ये हैं 5 बड़े कारण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 02, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • भारत ही नहीं, विश्व भर में है योग की ख्याति।
  • योग बनाता है शरीर को सुन्दर और चुस्त-दुरुस्त।  
  • योग मन को शांत और रक्त संचार को ठीक करता है। 

योग महज अपने शरीर को तोड़ने-मरोड़ने का दूसरा नाम नहीं है। सदियों पुराने योग के अदभुद फायदों का लोहा न सिर्फ भारत बल्कि पूरे विश्व के लोगों ने माना है। योग के जरिए मस्तिष्क और शरीर का मिलन होता है।

तनाव कम करने से लेकर ब्लड प्रेशर कंट्रोल, कॉलस्ट्रॉल कंट्रोल, वजन घटाने और कई गंभीर बीमारियों को दूर करने की क्षमता होती है योग में। चलिए इस लेख के माध्यम से हम आपको बताते हैं योगाभ्यास के कमाल के फायदों के बारे में।

कुछ लोग सोचते हैं कि योग अपने शरीर को तोड़ने-मरोड़ने का दूसरा नाम है, लेकिन अनका सोचना गलत हैं। योग के माध्यम से मस्तिष्क और शरीर का संगम होता है। योग के माध्यम से उच्च रक्तचाप का सामान्य होता है, तनाव कम होता है, मोटापे और कोलेस्ट्राल जैसी समस्याओं से निजात मिलती है, और योग के इन विस्तृत सकारात्मक प्रभावों के कारण ही योग व्यायाम का वैश्विक स्वरूप बन चुका है। नियमित योग करने से वजन तो कम होता है, साथ ही इससे शरीर सुन्दर और चुस्त-दुरुस्त बनता है।

योग से मन को अदभुद शांति प्राप्त होती है। योगासनों का सबसे बड़ा गुण है कि वे सहज साध्य और सर्वसुलभ होते हैं। योगासन एक ऐसी वेज्ञानिक एवं प्रामाणिक व्यायाम पद्धति है जिसमें न तो कुछ विशेष खर्च होता है और न इतनी साधन-सामग्री की आवश्यकता होती है। अमीर-गरीब, बूढ़े-जवान, सबल-निर्बल सभी स्त्री-पुरुष कोई भी योग कर इससे लाभान्वित हो सकता है। जानें योग के ऐसे ही कुछ अन्य फायदे 

गर्भावस्‍था में योग के लाभ

गर्भावस्‍था में यदि आप नियमित रूप से योग करें तो आप स्वस्थ बनी रह सकती हैं। इस दौरान योग करने से आप में मजबूती आयेगी। नियमित योग से थकान और तनाव दूर होता है और मसल्स भी फ्लेक्सिबल बनती हैं। साछ ही रक्त संचार, पाचन, श्वसन और स्नायु तन्त्र पर नियन्त्रण जैसे आन्तरिक लाभ भी होते हैं। प्रेगनेंसी में योग करने से नींद न आना, पीठ का दर्द, पैरों में खिचाव और अपच जैसी गर्भावस्था में होने वाली समस्याओं से भी मुक्ति मिलती है। लेकिन योगआसनों का चुनाव करने से पहले एक बार अपने चिकित्सक से सलाह जरूर लें, कि कौन से महिने में आप कौन सा योग कर सकती हैं। 

मन को करे शांत

योग आसनों और नियमित ध्यान से मस्तिष्क शांत होता है और शरीर संतुलित होता है। योग करने से मस्तिष्क के दोनों भाग काम करते हैं जिससे आन्तरिक संचार अच्छा होता है। नियमित योग करने से आप सोचने की क्षमता और सृजनात्मकता वाले हिस्सों में सन्तुलन स्थापित होता हैं। 

रक्त संचार को करे ठीक

विभिन्न योग मुद्राओं और श्वास क्रियाओं करने से शरीर का रक्त प्रवाह बेहतर होता है। बेहतर रक्त संचार होने से शरीर में ऑक्सीजन और पोषक तत्वों को संवहन भी अच्छा होता है। जिससे त्वचा और आन्तरिक अंग स्वस्थ बनते हैं।

इसे भी पढ़ें: इन 5 योग से कंधे और गर्दन के दर्द से हमेशा के लिए पाएं छुटकारा

हृदय को बनाए स्वस्थ

ऐसे विभिन्न आसन, जिनमें आप  योग से बेहतर रक्त संचार होता है जिससे रक्त का ठहराव नहीं होता और हृदय स्वस्थ होता है। योगा करने से दिल स्वस्थ रहता है। आसन जिनमें थोड़े समय के लिये सांस रोक कर रखी जाती है, वे आपके हृदय और धमनियों को स्वस्थ रखते हैं। ऐसे आसन आपके दिल को फिट रखते हैं। 

इसे भी पढ़ें: रोजाना सुबह करेंगे ये 3 योगासन, तो कभी नहीं होंगे रोग के शिकार

पीड़ा करे दूर और बनाए पतला  

योग से शरीर में लचीचापन आता है और शरीर की शक्ति भी बढ़ती है। इससे पीठ का दर्द और जोड़ों का दर्द जैसी समस्यायें दूर होती हैं। इसके साथ ही योग आपकी संरचना को सुधारता है जिससे खराब मुद्रा के कारण होने वाले दर्द से बचा जा सकता है। नियमित योग करने से आप मोटापे को भी दूर भगा सकते हैं। 

तनाव को भगाए दूर

योग से तनाव कम होता है। नियमित योग कर आप धीरे-धीरे तनाव खत्म होते हुए महसूस कर सकते हैं। यही नहीं नियमित योग कर रोजमर्रा में होने वाली तमाम स्वास्थ्य समस्याओं और तनाव आदि से बचा जा सकता है। योग आपको स्वस्थ और सुंदर बनाता है। सभी को अच्छे स्वास्थ्य के लिए नियमित योग करना चाहिए।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Article on Yoga in Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES50 Votes 8762 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर