हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

खाली पेट पानी पीना क्यों जरूरी है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 17, 2014
4.8 / 5(4 Ratings)
Quick Bites

  • खाली पेट पानी पीने की आदत आपको स्वस्थ रखती है।
  • हर रोज सुबह चार गिलास पानी कई प्रकार के रोगों में फायदेमंद है।
  • दो गिलास पानी के बीच कुछ मिनट का अंतराल कर फिर दो गिलास पानी लें।
  • अगर एक साथ पानी पीने में समस्या है तो इसे धीरे-धीरे आदत में लाएं।

More
Related Articles
  • पानी के सेवन से जुड़े कुछ मिथ और तथ्‍यपानी के सेवन से जुड़े कुछ मिथ और तथ्‍य

    एक रिपोर्ट ने दिन भर में आठ से दस गिलास पानी पीने के मिथ को गलत साबित किया है लेकिन पानी को लेकर कुछ मिथ हमारे जहन में घूमते रहते हैं, आइए ऐसे ही कुछ मिथ और तथ्‍य के बारे में इस आर्टिकल के माध्‍यम से जानते हैं।

    read more
  • क्‍या वर्कआउट से पहले खाना है जरूरीक्‍या वर्कआउट से पहले खाना है जरूरी

    क्या आप खाली पेट वर्कआउट करने की गलती करते हैं? तो यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से सही नहीं है, वर्कआउट से पहले भी पौष्टिक और संतुलित आहार का सेवन है, इससे शरीर को ऊर्जा मिलती है।

    read more
4.8 / 5(4 Ratings)
Write a Review
प्रतिक्रिया दें
Disclaimer +
इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
टिप्पणियाँ
  • shahnawaz ahmad24 Jun 2015
    Nice informetion, aapne bahut achhi bat batai hai, khali pet pani pene se bahut fayede hain.
  • Dhiraj Kumar Dubey21 Apr 2015
    I like ur post too much. Thanks for nice information.
  • nepal singh03 Apr 2015
    Khali pet paani peene ke faydo se mai ab tak anjan tha, lekin aapne bahut acchhi jankari di ki khali pet pani peena kitana faydemand hota hai.