नवरात्र व्रत के दौरान तले-भुने खाने से रखें परहेज

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 23, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • लोग व्रत में अन्‍न तो नहीं खाते, लेकिन चिप्‍स, पूड़ी और भी न जाने क्‍या-क्‍या खाते हैं।
  • वजन तो बढ़ता ही है साथ स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी कई परेशानियां भी उन्‍हें घेर लेती हैं।
  • नवरात्रों के दौरान व्रत में अधिक से अधिक तरल और पेय पदार्थों का सेवन करें।
  • आप नवरात्रों के व्रत के दौरान हर्बल चाय पी सकते हैं, नारियल पानी पी सकते हैं।

रीमा इस कशमकश में है कि इस बार नवरात्र में व्रत रखे या नहीं। पिछली बार उसके व्रत रखने का एक मकसद अपने अतिरिक्‍त वजन कम करना भी था। लेकिन, व्रत के बाद उसका वजन पहले के मुकाबले दो किलो और बढ़ गया था। इसलिए इस बार वह कुछ ज्‍यादा ही परेशान है। ऐसी परेशानी रीमा की नहीं, कई लोगों की होती है। वे नवरात्र के उपवास तो रख लेते हैं, लेकिन अपने आहार को लेकर संजीदा नहीं रहते। वे अन्‍न तो नहीं खाते, लेकिन चिप्‍स, पूड़ी और भी न जाने क्‍या-क्‍या खाते रहते हैं। इससे उनका वजन तो बढ़ता ही है साथ स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी कई परेशानियां भी उन्‍हें घेर लेती हैं। आइए जानें, ऐसे क्‍या कारण हैं जिनकी वजह से आपको नवरात्र के उपवास के दौरान तले-भुने भोजन से ज़रा दूरी ही बनाए रखनी चाहिए।

 

स्वस्थ रहने के लिए पौष्टिक आहार बहुत जरूरी है, लेकिन जब बात हो नवरात्र के व्रत में आहार की तब यह और भी जरूरी हो जाता है कि खान-पान का खास ख्याल रखा जाए। वैसे आमतौर पर तला-भुना खाया जाता है, लेकिन आपको नवरात्र व्रत के दौरान तले-भुने खाने से परहेज रखना चाहिए। अब आप सोच रहे होंगे कि तले भुने खाने से परहेज करने से क्या फायदा। नवरात्र व्रत में क्या खाएं, तैलीय भोजन के क्या नुकसान हैं। और भी कई तरह के सवाल आपके जहन में उठेंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं त्‍यौहारों यानी नवरात्र व्रत के दौरान आप जितना हल्का भोजन करेंगे आपके लिए उतना ही फायदा होगा। ना सिर्फ आप स्वस्थ रहेंगे बल्कि आपको नवरात्र के उपवास के दौरान कोई खास परेशानी भी नहीं होगी। तो आइए जानें और क्या कारण हैं जिससे नवरात्र व्रत के दौरान तले-भुने खाने से रखें परहेज।

 

 

 

  • कुछ लोग नवरात्रों के व्रत इसीलिए करते हैं क्योंकि उन्हें नवरात्रों के व्रत में तला-भुना खाने को मिले जबकि कुछ लोग इसीलिए व्रत करते हैं क्योंकि वे हेल्दी रहना चाहते हैं और कुछ दिन तले-भुने भोजन से दूर रहना चाहते हैं।
  • कुछ लोग विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने यानी टॉक्सिन को शरीर से बाहर करने के लिए व्रत करते हैं तो कुछ लोग इसीलिए व्रत करते हैं क्योंकि वे वजन कम करना चाहते हैं।
  • कारण कोई भी हो हर कोई नवरात्र के दौरान उपवास करने का कारण ढूंढ ही लेता है। लेकिन आपका नवरात्र में उपवास करने का फायदा तभी है जब आप नवरात्र व्रत में तले-भुने खाने से परहेज रखें।


नवरात्र व्रत के दौरान तले-भुने खाने से परहेज क्यों

 

  • नवरात्र का अर्थ भूखे रहना या फिर पोषक तत्वों से दूर रहना नहीं बल्कि तैलीय भोजन का नजरअंदाज करना है।
  • नवरात्रों के दौरान स्वस्थ रहने और बाद में इसके कोई अतिरिक्त प्रभाव ना पड़े इसके लिए आपको चाहिए कि आप अधिक से अधिक तरल और पेय पदार्थों का सेवन करें।
  • लंबे समय तक भूखे रहकर अचानक बहुत सा भोजन कर लेने से आप ना तो हेल्दी् रहेंगे और ना ही आपको उपवास का कोई फायदा होगा। ऐसे में आपको चाहिए कि आप कुछ समय के अंतराल में थोड़ा-थोड़ा खाते रहें जिससे आपको खाना जल्दी पच जाए।
  • आप नवरात्रों के व्रत के दौरान हर्बल चाय पी सकते हैं, नारियल पानी पी सकते हैं। कहने का अर्थ है आपको हल्का और सुपाच्य खाना लेना चाहिए। जो कि आसानी से पच जाए।
  • आपको तले-भुने खाने से इसीलिए परहेज करना चाहिए ताकि आपको उपवास के लाभ मिल सकें और आपके शरीर से अतिरिक्त वसा का उपयोग हो सकें।
  • नवरात्र के व्रत के दौरान आपको तले-भुने खाने के बजाय फलों का सेवन करना चाहिए और घर में निकले फलों और सब्जियों के जूस का सेवन करना चाहिए।
  • आप चाहे तो सूखे मेवे, सूप, छाछ और फ्रूट शेक का भी सेवन कर सकते हैं।

 

आप यदि नवरात्र के उपवास के दौरान कम से कम तला-भुना खाना खाएंगे तो आपका रक्तचाप नियंत्रि‍त रहेगा और आपको एसीडिटी जैसी समस्या से आराम मिलेगा।
यदि आपको पेट संबंधी समस्याएं होती है या फिर आपका शुगर लेवल अधिक है तो आपको नवरात्रों के उपवास में तला-भुना खाना नहीं खाना चाहिए।

 

Image Source - Getty

Read More Articles On Healthy Eating In Hindi.

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES5 Votes 13113 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर