शादी से पहले दूल्हा और दुल्हन को क्यों लगाई जाती है हल्दी? जानें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 02, 2016
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • हल्दी को आयुर्वेदिक औषधि माना गया है।
  • हल्दी त्वचा संबंधी सारे रोग कर देती है ठीक
  • शादी में पैदा होने वाली नरात्मकता ऊर्जा को करती है दूर

शादियों का मौसम शुरू हो गया है...
हल्दी लगाना, नजर उतारना सारी रस्में कई घरों में देखने को मिल जाएंगी। जिसमें मोहल्ले के सभी लोग मिलकर भागीदारी करते हैं।
ऐसा क्यों?
ये सवाल आपके भी मन में आया होगा। लेकिन आपने इस पर ध्यान नहीं दिया होगा। लेकिन ये ध्यान देने वाली चीज है इसलिए ऐसे नजरअंदाज ना करें क्योंकि ये सबसे जरूरी रस्म है तभी शादी से पहले हर दुल्हा-दुल्हन को हल्दी लगाई जाती है।

 

हल्दी की रस्म

शादी से पहले हर दुल्हा-दुल्हन को हल्दी लगाई जाती है। भारतीय परंपरा के अनुसार है हल्दी लगाना बहुत शुभ माना जाता है औऱ अधिकांश लोग इसे परंपरा मानते हुए लगाते हैं और कोई लोग सोचते हैं कि इससे रुप निखरता है इसलिए इस परंपरा का निर्वाह करते हैं। जबकि ये रस्म केवल रुप ही नहीं निखारता बल्कि स्वास्थ्य भी बेहतर बनाता है।

इसे भी पढ़ें- हल्दी के 10 बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ

ठीक करती है त्वचा संबंधी रोग

आयुर्वेद में हल्दी को औषधि का दर्जा दिया गया है। इस कारण हल्दी हमारी त्वचा के लिए एक तरह से प्राकृतिक का वरदान है। हल्दी के लगाने से त्वचा संबंधी अनेक बीमारियां ठीक हो जाती है। इस कारण शादी के वक्त हल्दी लगाई जाती है। क्योंकि शादी में कई सारे मेहमानों के आने से इंफेक्शन फैलने और हिंदु मान्यता के अनुसार नजर लगने स होने वाली त्वचा संबंधी समस्या होने का खतरा होता है। ऐसे में हल्दी त्वचा की खुश्की दूर करती है और त्वचा में चमक पैदा करती है।
नोट- हल्दी लगाने से त्वचा संबंधी कई सारे इंफेक्शन ठीक हो जाते हैं।


शुभ होती है हल्दी

पीली हल्दी को भारतीय संस्कृति के अनुसार काफी विशेष माना गया है। इस कारण फेरे लेते वक्त पीले रंग के ही कपड़े पहने जाते हैं।

 

शादी की नरात्मकता को दूर करे

दरअसल विवाह के समय बहुत से मेहमान घर में आते हैं जिससे की कई बार घर में निगेटिव ऊर्जा भी फैल जाती है। जिसका सबसे ज्यादा दुष्प्रभाव दुल्हा-दुल्हन पर पड़ता है। ऐसे में शुभ की निशानी मानी जाने वाली हल्दी इस नकरात्मक ऊर्जा को कम करने में मदद करती है।

इसे भी पढ़ें- हल्दी में डायबिटीज रोकने के गुण

चोट ठीक हो जाए

साथ ही अगर विवाह के दौरान दुल्हा-दुल्हन को कोई चोट लगी हो या चोट के निशान हों तो उसके लिए भी हल्दी लगाई जाती है। हल्दी लगाने का मतलब होता है कि दुल्हा-दुल्हन के शरीर पर कोई चोट और जलने का निशान हो तो वह ठीक हो जाए।

 

अन्य लाभ -

हल्दी घर और दुल्हा-दुल्हन के आसपास भटकने वाली नकारात्मक ऊर्जा को भी नष्ट कर देती है।
हल्दी का इस्तेमाल हवन में भी किया जाता है जिससे की वातावरण के सारे कीटाणु मर जाए।
हल्दी का इस्तेमाल कैंसर की औषधियां बनाने में भी किया जाता है।

 

Read more articles on Relationship in hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES8 Votes 5556 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर